• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Dhar
  • Dhar News mp news finance minister farmers finance minister people players facilities areas country real estate houses government reserve bank npa recovery budget declarations step income plan effect increase way losses expansion auto auto priorities expenditure emphasis real estate economy sectors automobile banknote consumption section growth help some taxation schemes disinvestment collection infrastructure opportunities limitations income front income class demand injury confidence size benefits steps strength gst liquidity interest rates banking sector relaxation capital gains tax property focus efforts
विज्ञापन

वित्त मंत्री ने अपना काम कर दिया, अब रिजर्व बैंक की बारी

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2019, 02:31 AM IST

Dhar News - छोटा व अंतरिम बजट होने के बाद भी इसने निश्चित ही अपनी ठोस घोषणाओं से प्रभाव छोड़ा है। वित्त मंत्री की सराहना करना...

Dhar News - mp news finance minister farmers finance minister people players facilities areas country real estate houses government reserve bank npa recovery budget declarations step income plan effect increase way losses expansion auto auto priorities expenditure emphasis real estate economy sectors automobile banknote consumption section growth help some taxation schemes disinvestment collection infrastructure opportunities limitations income front income class demand injury confidence size benefits steps strength gst liquidity interest rates banking sector relaxation capital gains tax property focus efforts
  • comment

छोटा व अंतरिम बजट होने के बाद भी इसने निश्चित ही अपनी ठोस घोषणाओं से प्रभाव छोड़ा है। वित्त मंत्री की सराहना करना होगी कि उन्होंने वित्तीय घाटे को 3.4 फीसदी पर रोका है। लेकिन, उन्होंने जिस तरह अल्पावधि व दीर्घावधि प्राथमिकताओं को संतुलित किया उसने मुझे ज्यादा प्रभावित किया। सीमांत किसानों के लिए आय की योजना निश्चित ही व्यय का उल्लेखनीय पक्ष है। यह किसानों को आमदनी आधारित मदद देने की दिशा में महत्वपूर्ण कदम है। बजट में अर्थव्यवस्था को 5 लाख करोड़ डॉलर का आकार देने का लक्ष्य भी सामने रखा है। इसके लिए बुनियादी ढांचे, डिजिटल अवसर व सुविधाओं की वृद्धि पर जोर दिया है। हालांकि, आमदनी के मोर्चे पर मर्यादाओं के चलते खपत पर जरूरत से ज्यादा जोर कुछ लोगों को अखर सकता है पर मेरा मानना है कि कराधार का विस्तार व संग्रहण, जीएसटी की ऊंची वसूली, विनिवेश की योजनाएं आदि ने वित्तमंत्री को आत्मविश्वास दिया होगा। आटो व रियल एस्टेट को बल मिला है। आटो और मजबूत होगा तो रियल एस्टेट में वापसी से कई अन्य सेक्टरों को मदद मिलेगी। आटोमोबाइल में मध्य वर्ग और ग्रामीण क्षेत्रों से मांग बढ़ेगी। नोटबंदी की चोट खाया रियल एस्टेट लंबे समय से बिना मदद संघर्ष कर रहा था। धारा 54 के तहत कैपिटल गैन्स टैक्स में छूट अब 2 करोड़ रुपए तक और दो मकानों या संपत्ति तक बढ़ा दी गई है। यह महत्वपूर्ण कदम है। बैंकिंग सेक्टर पर सरकार का लगातार फोकस है। एनपीए साफ करने के प्रयासों से अर्थव्यवस्था को बल मिलेगा।

जुलाई में जब नई सरकार पूर्ण बजट की तैयारी कर रही होगी तो मुझे विश्वास है कि इस बजट के कुछ फायदे तो पहले ही नीचे पहुंच चुके होंगे। एक उदाहरण ग्रामीण आय में वृद्धि का होगा, जो खपत में वृद्धि देगा। अब रिजर्व बैंक जैसे अन्य खिलाड़ियों को तरलता बढ़ाने और ब्याज दरें कम करने के कदम उठाने चाहिए, ताकि देश को टिकाऊ ढंग से ऊंची वृद्धि की राह पर लाया जा सके।

X
Dhar News - mp news finance minister farmers finance minister people players facilities areas country real estate houses government reserve bank npa recovery budget declarations step income plan effect increase way losses expansion auto auto priorities expenditure emphasis real estate economy sectors automobile banknote consumption section growth help some taxation schemes disinvestment collection infrastructure opportunities limitations income front income class demand injury confidence size benefits steps strength gst liquidity interest rates banking sector relaxation capital gains tax property focus efforts
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन