• Hindi News
  • Mp
  • Dhar
  • Dhar News mp news illegal parking in brts service road and mix lanes people said this is collusion with police

बीआरटीएस की सर्विस रोड और मिक्स लेन में अवैधपार्किंग, लोगों ने कहा- यह पुलिस की मिलीभगत है

Dhar News - अवैध कब्जों और संकरी सड़क के चलते बस रैपिड ट्रांजिट सिस्टम (बीआरटीएस) वाहन चालकों के लिए परेशानी का सबब बन गया है।...

Feb 23, 2020, 07:16 AM IST

अवैध कब्जों और संकरी सड़क के चलते बस रैपिड ट्रांजिट सिस्टम (बीआरटीएस) वाहन चालकों के लिए परेशानी का सबब बन गया है। डीबी स्टार को पाठकों ने विभिन्न माध्यमों से इस संबंध में लगातार कई शिकायतें भेजीं। आरोप है कि होटल, अस्पताल, मॉल्स, शोरूम, दुकानदार के साथ ही रहवासियों ने भी सड़क पर कब्जे कर रखे हैं। मनमाने तरीके से की जा रही पार्किंग के कारण सर्विस रोड पर चलने वाले वाहन चालक संकट में हैं। बेतरतीब ढंग से खड़े वाहनों के कारण रोज छोटे-बड़े हादसे और विवाद हो रहे हैं।

गत दिवस टीम डीबी स्टार ने मौका-मुआयना किया तो पाठकों की शिकायतें सही पाई गईं। वाहन चालक सबसे अधिक परेशान होटल श्रीमाया के सामने नजर आए। यहां आगंतुकों के चार पहिया वाहन बीआरटीएस की मिक्स लेन में पार्क किए गए थे। होटल के सामने की सर्विस रोड पर भी कारें खड़ी कर रास्ता रोक दिया गया था।

प्रेस कॉम्प्लेक्स की तरफ से एमआर-9 की तरफ जाने वाले चार पहिया वाहन चालकों को सर्विस रोड खाली नहीं मिली। मिक्स लेन में भी कारें कतारबद्ध खड़ी थीं। वाहन चालकों को मजबूरन बीच सड़क से रांग साइड गुजरना पड़ा। इनका सामना एमआर-9 की तरफ से तेज गति से आ रहे वाहनों से हुआ। नतीजतन, ये वाहन कई बार टकराते-टकराते बचे। जाम लग गया। शाम के समय यहां हालात बदतर देखे गए। वाहन चालकों का कहना था कि होटल प्रबंधन और ट्रैफिक पुलिस की मिलीभगत के चलते ये हालात बने हैं।

एमआर-9 चौराहे से विजय नगर जाने वाली सर्विस रोड पर ऑर्बिट, मेगा मल्हार और सी-121 मॉल्स के साथ ही मैरिज गार्डन, वाइन शॉप, अहाता और कई छोटी-बड़ी दुकानें हैं। यहां मिक्स लेन के साथ ही सर्विस रोड पर मनमाने तरीके से वाहन खड़े किए जाते हैं। ऑर्बिट मॉल के सामने तो मॉल के गार्ड ही सर्विस रोड पर दोपहिया वाहन पार्क कराते हैं। इसके बाद चार पहिया और तिपहिया वाहन मिक्स लेन में खड़े हो जाते हैं। अहाते से निकलने वाले वाहन चालक एमआर-9 की तरफ तेज रफ्तार से गाड़ी ले जाते हैं।

विजय नगर की तरफ जाने वाले वाहन चालकों को मजबूरी में मिक्स लेन में रांग साइड जाना पड़ता है। रोज शाम को यहां गाड़ियां टकराती हैं। नशेड़ी वाहन चालक गाली-गलौज के साथ ही मारपीट पर आमादा हो जाते हैं। यहां हालात इतने बदतर हैं कि फुटपाथ भी खाली नहीं रहता है। राहगीरों को मिक्स लेन में चलते ट्रैफिक के बीच से पैदल गुजरना पड़ता है। यहां कुछ मकानों में खाने-पीने की दुकानें संचालित हो रही हैं। इनके ग्राहक भी अपने वाहन सर्विस रोड और फुटपाथ पर खड़े करते हैं।

दिखावे के लिए होती
है कार्रवाई

वाहन चालकों का आरोप है कि श्रीमाया, अमर विलास होटल और मॉल्स के सामने पुलिस की मिलीभगत से अवैध पार्किंग की जाती है। पुलिस कभी-कभार दिखावटी कार्रवाई कर इतिश्री कर लेती है। जब तक सर्विस रोड और मिक्स लेन में अवैध पार्किंग खत्म नहीं होगी ऐसे हालात बनते रहेंगे। पुलिस अधिकारियों का दावा है कि नियमित कार्रवाई की जाती है, लेकिन तस्वीरें बता रही हैं कि पुलिस के दावे में कितना दम है। नियमित कार्रवाई होती तो यह नजारे देखने को नहीं मिलते।

हमारा फोकस इंफ्रास्ट्रक्चर पर


पीसी जैन, यातायात प्रभारी, नगर निगम

कार्रवाई कर समस्या का समाधान जरूर होगा


विवेक शर्मा, एडीजी और आईजी इंदौर रेंज

सुगम यातायात की प्लानिंग तैयार है, जल्द कार्रवाई होगी


महेंद्रकुमार जैन, एएसपी यातायात, इंदौर

ट्रैफिक पुलिस पर आरोपों की झड़ी

बीआरटीएस पर नियमित सर्विस रोड का उपयोग करने वाले वाहन चालकों ने ट्रैफिक पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए हैं। ऑटो रिक्शा चालक महासंघ के अध्यक्ष राजेश बिड़कर ने बताया कि पूरी सर्विस रोड निजी संस्थानों की पार्किंग बन गई है। ऑटो चालकों को आकस्मिक परिस्थिति में रोगियों को सर्विस रोड से अस्पताल ले जाने विलंब होता है, दुर्घटनाएं भी होती हैं। विवाद की स्थिति बन जाती है। पुलिस को कई बार लिखित और मौखिक रूप से शिकायत की, लेकिन साठगांठ के चलते वह कार्रवाई नहीं करती है। डीबी स्टार ने श्रीमाया होटल के गार्ड से पूछा तो उसने ना-नुकूर करते हुए स्वीकार किया कि मिक्स लेन और सर्विस रोड पर उन्हीं के गेस्ट के वाहन खड़े हैं।

एडीजी के निर्देश भी नहीं मानते

यातायात सुधार के लिए आईजी और एडीजी विवेक शर्मा ने पुलिस को लिखित निर्देश जारी किए हैं कि अवैध पार्किंग पर सख्ती से रोक लगाई जाए। कंपनियों, व्यवसायिक और कॉर्पोरेट संस्थानों से ट्रैफिक वार्डन की व्यवस्था लागू कराई जाए ताकि सड़क पर कोई वाहन खड़ा नहीं कर सके। यहां तो हालात यह है कि पुलिस के अघोषित संरक्षण में अवैध पार्किंग हो रही है।

पुलिस को मुफ्त का चाहिए

वाहन चालक अशोक पालीवाल ने बताया कि ट्रैफिक पुलिस बस चौराहों पर आम लोगों के चालान बनाती है। ऐसे 110 उदाहरण हैं जिन पर पुलिस के अधिकारियों से आमने-सामने बात कर सकता हूं। चिल्ड वाटर सप्लाय करने वाली गाड़ियां बीच सड़क पर खड़ी होती हैं, क्योंकि पुलिस वाले मुफ्त में पानी की केन लेते हैं। निलय पाराशर ने बताया कि रेडिसन से लेकर इंफोटेल और इनफिनिटी होटल की लाइन में सर्विस रोड पर हमेशा कारें खड़ी रहती हैं। यातायात पुलिस ने आज तक इन पर कोई कार्रवाई नहीं की? आदित्य गावड़े ने कहा कि निजी संस्थानों पर जब तक तगड़ी कार्रवाई नहीं होगी, स्थिति नहीं सुधरने वाली है। प्रमोद तिवारी और पूनमचंद बामोरा ने बताया पुलिस की सेवा के कारण ही निजी संस्थान कार्रवाई से बचे हुए हैं। रंजना राव और सुधीर शर्मा ने बताया कि पुलिस की अनदेखी से ही हालात बदतर हुए हैं। अवैध पार्किंग के कारण सड़कों पर हर तरफ खतरा है।

यातायात पुलिस की मिलीभगत के कारण शहर के कई इलाकों में अवैध पार्किंग हो रही है। कई मॉल व होटल वाले सरकारी सड़क का इस्तेमाल कर रहे हैं। बीआरटीएस की सर्विस रोड और मिक्स लेन में होटल श्रीमाया से ऑर्बिट मॉल तक आप वाहनों की भरमार देख सकते हैं। इस अवैध पार्किंग के कारण आए दिन हादसे हो रहे हैं। अफसरों का कहना है जल्द ही कार्रवाई करेंगे।

ट्रैफिक पुलिस की अनदेखी **

ऑर्बिट मॉल के सामने**

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना