• Hindi News
  • Rajya
  • Madhya Pradesh
  • Dhar
  • Dharmpuri News mp news in the wedding season the bridegroom is also troubled to reach the shitala mata temple sometimes we have to resort to a boat or sometimes from a distance

शादी के सीजन में दूल्हे भी परेशान... शीतला माता मंदिर तक पहुंचने के लिए कभी नाव सहारा तो कभी दूर से ही करना पड़ रही है पूजा

Dhar News - सरदार सरोवर परियोजना के चलते नर्मदा के एफआरएल 138.68 मीटर की जलभराव के कारण यहां बना घाट व तीन मंदिर जलमग्न हो गए हैंं।...

Nov 22, 2019, 07:00 AM IST
Dharmpuri News - mp news in the wedding season the bridegroom is also troubled to reach the shitala mata temple sometimes we have to resort to a boat or sometimes from a distance
सरदार सरोवर परियोजना के चलते नर्मदा के एफआरएल 138.68 मीटर की जलभराव के कारण यहां बना घाट व तीन मंदिर जलमग्न हो गए हैंं। तीन माह बाद भी एनवीडीए ने कोई वैकल्पिक व्यवस्था तक नहीं की गई। इसके चलते यहां नर्मदा स्नान व माता पूजन के लिए आने वाले श्रद्धालुओं को परेशानी का सामना करना पड़ रहा। जबकि यह व्यवस्था सरदार सरोवर बांध के पूर्ण होने के पूर्व कर लिया जाना था। अफसर प्रक्रिया में होने का दावा कर रहे हैं। जबकि तीज त्योहार पर भी घाट के अभाव में श्रद्धालुओं को जान जोखिम में डालकर स्नान करना पड़ता है।

खलघाट में नर्मदा किनारे तीन मंदिर व एक घाट बना हुआ था। इसमें शिव मंदिर, नर्मदा मंदिर व शीतला माता मंदिर पूरी तरह से डूब गए हैं। शादी होने से गुरुवार को शीतला माता पूजन के लिए पहुंचा दूल्हा राजा पंकज सोनी ने बताया माता मंदिर के डूब जाने से मंदिर के दूर से ही पूजन करना पड़ा। जबकि शादी से पहले शीतला माता का पूजन करते हैं। थोड़ी सी मायूसी है पर क्या कर सकते हैं। गृहणी संगीता मालवीय, अलका डोंगले ने बताया नर्मदा किनारे स्थित एकमात्र शीतला माता मंदिर डूब जाने से महिलाओं को शीतला सप्तमी व अन्य त्योहारों पर पूजन से वंचित होना पड़ रहा। डूब से पहले नर्मदा किनारे स्थित मंदिरों को कहीं और बनाना चाहिए था। नर्मदा किनारे कीचड़ फैल जाने से भी श्रद्धालुओं को स्नान करने में परेशानियों का सामना करना पड़ रहा। मंदिर और घाट का अब तक कोई भी स्थाई हल नहीं निकाला गया है। जबकि पहले शासन द्वारा बताया गया था कि मंदिर व घाट जलमग्न होने पर अन्य जगह पर निर्माण किया जाएगा। जबकि अब तक कोई स्थाई निराकरण नहीं निकाला गया। भाजपा नगर अध्यक्ष मनीष शर्मा ने बताया प्रशासन द्वारा नर्मदा घाट व मंदिर का निर्माण डूबने से पहले ही किया जाना था। अब तक इस ओर ध्यान नहीं दिया जा रहा।

धरमपुरी में भी यही स्थिति

घाटों को लेकर प्रशासन की अनदेखी जारी है। नगर व क्षेत्र के ग्रामीण नर्मदा स्नान करने परेशानियों के बाद यहां पहुंचते है। धरमपुरी में नर्मदा की छोटी धारा पर बने पेढ़ी घाट और शीतला माता घाट करीब 132.00 मीटर के लेवल पर बने हुए थे। जो वर्तमान में नर्मदा के पानी से जलमग्न हो चुके हैं। ऐसे में श्रद्धालुओं के लिए नर्मदा स्नान के लिए कोई घाट नहीं है।

घाट निर्माण की प्रक्रिया जारी है


अफसर नहीं दे रहे ध्यान... घाट पर सैकड़ों श्रद्धालु स्नान के लिए पहुंचते हैं, लेकिन उनकी जान को रहता है खतरा

खलघाट. नर्मदा किनारे बना घाट व मंदिर डूबने के बावजूद प्रशासन दूसरी व्यवस्था नहीं की। यहां श्रद्धालु रोज परेशान हो रहे हैं।

X
Dharmpuri News - mp news in the wedding season the bridegroom is also troubled to reach the shitala mata temple sometimes we have to resort to a boat or sometimes from a distance
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना