• Hindi News
  • Mp
  • Dhar
  • Dhamnod News mp news mandi tax levying 120 percent more in madhya pradesh than other states

अन्य राज्यों के मुकाबले मध्यप्रदेश में 1.20 प्रतिशत ज्यादा ले रहे मंडी टैक्स

Dhar News - मध्यांचल कॉटन जीनर्स एंड ट्रेडर्स एसोसिएशन के नेतृत्व में काॅटन व्यापारी एवं जीनर्स एसोसिएशन द्वारा मंडी टैक्स...

Oct 13, 2019, 07:15 AM IST
मध्यांचल कॉटन जीनर्स एंड ट्रेडर्स एसोसिएशन के नेतृत्व में काॅटन व्यापारी एवं जीनर्स एसोसिएशन द्वारा मंडी टैक्स कम करने की गुहार सरकार से लगातार की जा रही थी। इसे सरकार ने नजरअंदाज कर टैक्स कम नहीं किया। इसको लेकर व्यापारी एवं जीनर्स मंडी नीलामी में कपास की खरीदी नहीं करने का मन बना चुके हैं। जिसके लिए प्रदेश में मंडी क्षेत्र के व्यापारी एसोसिएशन टैक्स कम की मांग को लेकर ज्ञापन दे रहे हैं। धामनोद में भी इसी मांग को लेकर एसोसिएशन की बैठक के निर्णयानुसार सरकार 17 तक मंडी टैक्स कम नहीं करती है तो समस्त कपास मंडियों में व्यापारी 18 अक्टूबर से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले जाएंगे।

कॉटन ट्रेडर्स एंड जीनर्स एसो. धामनोद के अध्यक्ष प्रेमकुमार मंगल के नेतृत्व में शनिवार को एसोसिएशन के सदस्यों ने भारसाधक अधिकारी एसडीएम एसएन दर्रों के नाम एक ज्ञापन मंडी सचिव लक्ष्मणलाल सुखवानी को दिया। एसोसिएशन के धामनोद सचिव विजय मंगल ने बताया मध्यांचल कॉटन जीनर्स एंड ट्रेडर्स एसोसिएशन की बैठक में मप्र सरकार से मंडी टैक्स कम करने के बारे में मांग करने का निर्णय लिया गया। एक राष्ट्र एक समान कर की अवधारणा पर अमल ना करते हुए मप्र में अन्य राज्यों की तुलना में मंडी टैक्स को लेकर बहुत बड़ा फर्क है। मंडी टैक्स मप्र में 1.70 प्रति सैकड़ा है जबकि अन्य राज्यों में 0.50 प्रति सैकड़ा है। जाे 1.20 प्रतिशत अधिक होने से कपास उत्पादक किसान और संबंधित व्यापारियों को कठिनाई का सामना करना पड़ रहा है। अधिक मंडी टैक्स होने से यहां का कपास गुजरात व महाराष्ट्र जा रहा है। जिससे यहां के जीनिंग प्रेसिंग उद्योग बंद होने की कगार पर आ चुके हैं। मध्यप्रदेश सरकार में अपने घोषणा पत्र में वचन दिया था कि मंडी टैक्स 1 प्रतिशत किया जाएगा। साथ ही निराश्रित शुल्क को भी समाप्त किए जाने की मांग की। व्यापारियों ने स्पष्ट कहा कि यदि सरकार कोई निर्णय नहीं ले पाई तो 18 अक्टूबर से हम मप्र के संघ के साथ होंगे और कपास मंडियों में अनिश्चितकालीन हड़ताल की जाएगी। व्यापारी शिवशंकर पाटीदार, श्यामलाल सिंघल, गुरदीप छाबड़ा, स्वरूपचंद्र गर्ग, नरेंद्र जैन, रामेश्वर यादव, उमेश पाटीदार आदि मौजूद थे।

धामनोद. कॉटन ट्रेडर्स एंड जीनर्स एसोसिएशन ने मंडी सचिव को दिया ज्ञापन।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना