पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Dhar News Mp News Pink Village Patel Changed The Picture Together With The Villagers Emphasis On Emptiness Cleanliness Greenery And Education Patriotism Message From Shahid Temple

पिंक विलेज : पटेल ने गांववालों से मिलकर बदल दी तस्वीर... शराबमुक्ति, सफाई, हरियाली और एजुकेशन पर जोर, शहीद मंदिर से देशभक्ति का संदेश

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
गांवों के विकास के लिए सांसदों को कई गांव गोद दिए गए थे, नतीजा- वो सिर्फ गोद में ही रह गए। न गांव का विकास हुआ और न तस्वीर बदली। इससे बिलकुल अलग है धार जिले की कुक्षी तहसील का नवादपुरा। भास्कर टीम जब कुक्षी से नवादपुरा की ओर मुड़ी तो बीच में आए कोम्दा गांव की गंदगी से पटी सड़क, अस्तव्यस्त और बदबू मारती नालियां, लेकिन जैसे ही हम नवादपुरा पहुंचे तस्वीर कुछ और ही थी। साफ सड़क, दोनों ओर हरियाली। सरकारी स्कूल बिलकुल निजी जैसा। साफ-सुधरा। यूनिफॉर्म पहने पांचवीं क्लास के बच्चे अंंग्रेजी में पोयम सुना रहे थे। शिक्षिकाएं भी ड्रेसकोड में थीं। परिसर में गार्डन और शहीद मंदिर था, जिसमें देश के महापुरुषों की तस्वीरें थीं। पिछले हिस्से में खेल का मैदान भी था। थोड़ी दूर और बढ़े तो आंगनवाड़ी थी। किसी प्ले स्कूल सा नजारा था। पैवर ब्लॉक से पक्का परिसर, स्विमिंग पूल। कक्षों में प्रोजेक्टर से पढ़ाई और बच्चों को गर्मी से बचाने के लिए एसी। गांव के कमल पटेल ने बताया ये सारी व्यवस्थाएं गांव वालों के साथ मिलकर की गई हैं।

सबकुछ व्यवस्थित देख हम आगे बढ़े तो गार्डन, वाटर एटीएम जिससे गांव वालों को मात्र दो रुपए लीटर में आरओ का पानी उपलब्ध करवाया जाता है। इसके लिए स्पेशल कार्ड भी बनवाए गए हैं। आईएसओ 9001 : 2015 सर्टिफाइड इस ग्राम पंचायत में रेमाभाई को सरपंच भी लोगों ने मर्जी से ही चुना है। यहां चुनाव नहीं हुए। इसके लिए सरकार की ओर से इस गांव को अवॉर्ड भी दिया गया था। गांव की तस्वीर पटेल और गांववालों ने मिलकर पूरी तरह बदल दी है।

डेढ़ साल पहले हुई शुरुआत

गांव के पटेल ने बताया बदलाव की शुरुआत डेढ़ साल पहले भागवत कथा से हुई थी। हमारा गांव शराब बनाने और बेचने के मामले में काफी बदनाम था। भागवत कथा के वक्त मैंने गांववालों को इकट्‌ठा किया और कहा कि भागवत कथा जब तक चलेगी, कोई शराब न बनाएगा और न पिएगा-बेचेगा। सब मान गए। भागवत कथा के दौरान जब गांव में शांति नजर आई, तो हमने इस अवधि को 1 महीना और बढ़ाया। फिर 6 महीना और अब पूर्ण शराबबंदी। 6 लोगों ने शुरुआत में चोरी-छिपे शराब लाकर बेचने की कोशिश की, तो पुलिस में शिकायत कर उन्हें थाने पहुंचा दिया था। इसके बाद किसी ने हिम्मत नहीं की। कभी कोई बाहर से पीकर आता भी है, तो चुपचाप घर चला जाता है। गांव में नहीं घूमता।

एक घर एक पौधा : गांव में पौधारोपण और हरियाली को बढ़ावा देने के लिए एक घर एक पौधा की योजना अपनाई गई। इसमें करीब आठ हजार पौधे लगाए गए। पौधों को जीवित रखने की जिम्मेदारी घर के व्यक्ति को सौंपी गई। सभी पौधे जीवित हैं और चारों ओर हरियाली नजर आती है।

नवादपुरा स्कूल स्थित स्विमिंग पूल।

शहीद व भारत माता मंदिर : गांव में शहीद व भारत माता मंदिर भी बनाया है। शहीद मंदिर में देशभर के शहीदों के 30 से अधिक फोटो लगाए गए हैं। सभी का रिकॉर्ड बनाया गया है। इन शहीदों का फोटो गांव में हर घर की दीवार पर बनाया गया है। उसी पर जन्म दिनांक और पुण्यतिथि भी अंकित है।

हर घर एक रंग से एकता का संदेश

ऊंच-नीच और अमीर-गरीब का भेद मिटाने के लिए पूरे गांव को एक ही रंग में रंगा जाता है। बाउंड्रीवॉल से लेकर हर घर अब यहां गुलाबी रंग का है। कुछ लोग हैं, जो राजी नहीं हुए। फिर भी 90 फीसदी मकान इसी रंग के हैं। हर साल जनवरी में भागवत कथा का आयोजन होता है। इसी की तैयारी के वक्त हम घरों को एक ही रंग में रंगते हैं। गांव के सारे युवा मिलकर ही पुताई करते हैं।

अब ऐसा नजर आता है गांव

अंडर ग्राउंड नालियां। कोई घर के बाहर कचरा नहीं फेंकता। इसके लिए हर घर के बाहर एक ड्रम रखा गया है, जिसे वक्त-वक्त पर खाली किया जाता है।

पौधों की देख-रेख की जिम्मेदारी हर परिवार को दी गई है।

स्वच्छ पानी के लिए वाटर एटीएम लगा है। सभी को कार्ड उपलब्ध हैं, जिससे पेट संबंधी कोई बीमारी न हो।

बच्चों की शिक्षा पर जोर। सरकारी स्कूल का कायाकल्प। खिलौने, स्विमिंग पूल, ड्रेस तक गांववालों ने मिलकर जुटाई। अब सरकारी स्कूल और आंगनवाड़ी के लिए वाहन की व्यवस्था की जाएगी, ताकि ज्यादा बच्चे स्कूल पहुंचे।

मंदिर के चढ़ावे की राशि स्कूल पर खर्च की जाती है।

शराब मुक्त रहे गांव, इसके लिए समय-समय पर लोग आपस में चर्चा करते हैं।

गंधवानी के दोस्त के साथ मिलकर इंदौर का बदमाश चुराता था बाइक

क्राइम ब्रांच की टीम ने पकड़ा

धार | गंधवानी के दोस्त के साथ मिलकर बाइक चुराने वाले इंदौर के बदमाश को रविवार को क्राइम ब्रांच ने गिरफ्तार किया। बदमाश के कब्जे से चुराई गई बाइक जब्त की है। क्राइम ब्रांच प्रभारी संतोष पांडे ने बताया कि 3 जून को फरियादी सुजीत पिता सुरेश पाटीदार निवासी अहमद सरदारपुर ने नौगांव थाने में रिपोर्ट कराई कि 26 मई को अपनी बाइक से रिश्तेदार के यहां तोरनोद आया था। रात में गाड़ी रिश्तेदार के घर के बाहर खड़ी की थी। सुबह देखा तो बाइक नहीं थी। कोई अज्ञात बदमाश चुराकर ले गया। फरियादी की रिपोर्ट से अज्ञात बदमाश के खिलाफ धारा 239/19, 379 भादवि का अपराध दर्ज किया था। मुखबिर से सूचना मिली कि ग्राम सगडोंद थाना बेटमा इंदौर का बाइक चोर रवि भोई धार में घूम रहा है। सुनारखेड़ी फाटे के पास टीम को लगाया। बताए गए हुलिए को देखकर संदिग्ध व्यक्ति को पकड़ा। नाम पूछने पर उसने रवि पिता भारत (18) बताया। बदमाश ने उक्त बाइक चुराना कबूल किया। उसने बताया कि बाइक मैंने अपने गंधवानी निवासी साथी के साथ मिलकर तोरनोद से चुराई थी। जिसे जैतपुरा टेकरी निर्माणाधीन भवन के पास छुपा रखी है। निशानदेही पर बाइक उक्त स्थान से जब्त की। बाइक की कीमत 1 लाख 75 हजार रुपए बताई जा रही है। आरोपी रवि के साथी की तलाश शुरू कर दी है। जिससे कई और बाइक मिलने की संभावना है।

आंगनवाड़ी में प्रोजेक्टर से पढ़ाई, बच्चों को लुभाने के लिए बनाया स्विमिंग पूल, मंदिर के चढ़ावे से बच्चों को मिलती है हर साल नई यूनिफॉर्म

खबरें और भी हैं...