पीथमपुर से गुणावद तक 20 किमी में पटरी के लिए बना बेस, टीही में बनी टनल...धार के लिए आगे नहीं बढ़ा काम

Dhar News - 27 साल पहले जब इंदौर-दाहोद वाया धार वैकल्पिक रेल लाइन स्वीकृत की गई थी तब पीथमपुर में अधिक बसाहट नहीं थी। रेल की पटरी...

Bhaskar News Network

Oct 13, 2019, 07:20 AM IST
Dhar News - mp news the base for the track in 20 km from pithampur to gunawad the tunnel built in tehi work has not progressed for dhar
27 साल पहले जब इंदौर-दाहोद वाया धार वैकल्पिक रेल लाइन स्वीकृत की गई थी तब पीथमपुर में अधिक बसाहट नहीं थी। रेल की पटरी बिछाने के साथ अन्य कामों में देरी होती गई। इस बीच पीथमपुर में घनी आबादी बस गई है। इस कारण पूर्व में सीधी निकलने वाली रेल लाइन की जगह पर अब उसे तीन किमी की टनल के माध्यम से निकाला जा रहा है, ताकि पीथमपुर के लोगों को किसी प्रकार की कोई परेशानी न हो। अभी तक पीथमपुर में चौपाटी से आधा किमी पहले बिचौली के पास धार तरफ का सिरा बन चुका है, पीथमपुर से टीही की ओर पानी आ जाने से काम बंद है। मोटरों से पानी निकालने का प्रयास चल रहा है।

जो सुरंग बनाई जा रही है वह पीथमपुर के नीचे से निकाली जाएगी। इसकी कुल लंबाई 3 किमी है। धार तरफ के छोर से पीथमपुर की ओर अभी तक 0.75 किमी (750 मीटर) का काम हो चुका है। इसके आगे का काम जारी है। कर्मचारियों की माने तो पहले कच्चा काम होता है। इसमें खुदाई के बाद लोहे की जाली बनाकर छत व बेस पक्का किया जाता है। फिर विशेषज्ञ इंजीनियर इसे चेक करते हैं। यदि काम में कमी रह जाती है तो उसे फिर से बनाया जाता है।

इंदौर, राऊ, टीही तक रेल की पटरी बिछ गई है। पीथमपुर से टीही रेलवे स्टेशन तक कंटेनर पहुंच रहे हैं। इससे सड़क पर भार कम हुआ है। इधर धार जिले में पीथमपुर, बिचौली, सुलावड, खेड़ा, बक्साना, घाटाबिल्लौद और इसके बाद गुणावद तक 20 किमी क्षेत्र में अर्थवर्क हो गया है। गुणावद में भेरू मंदिर तक अर्थवर्क किया गया है। इसके बाद सड़क क्रास कर धार की ओर बढ़ना है, लेकिन यह काम अभी शुरू नहीं किया गया है।


पीथमपुर से टीही की ओर पानी आ जाने से काम बंद पड़ा

1992 में वैकल्पिक रेल मार्ग की स्वीकृति मिली थी, 08 में शिलान्यास हुआ था... रेल लाओ महासमिति के पूर्व संयोजक डॉ. दीपक नाहर ने बताया कि 1992 में इंदौर-दाहोद 201 किमी की रेल लाइन को वैकल्पिक रेल परियोजना के रूप में स्वीकृति मिली थी। हालांकि उस समय जो सर्वे किया गया था उसकी रिपोर्ट में इससे किसी प्रकार कोई लाभ न मिलने की बात कही थी, लेकिन तत्कालीन रेल मंत्री माधवराव सिंधिया ने इसे वैकल्पिक लाइन के रूप में स्वीकृति दी थी। उस समय सिंधिया का मानना था कि 20 साल के बाद इंदौर-रतलाम और इंदौर-उज्जैन लाइन पर बहुत अधिक दबाव बढ़ेगा तब यह मार्ग कारगर साबित होगा। इस मार्ग से इंदौर से दाहोद तक पहुंचने में पांच घंटे का समय बचेगा।

14 किमी का अर्थवर्क नहीं हुआ, इसी में हो रही देरी

गुणावद से धार तक 14 किमी का अर्थवर्क अभी तक नहीं हुआ है। विधानसभा और लोकसभा चुनाव के कारण अचार संहिता लगी थी इसलिए इसका काम नहीं हो पाया। यह काम हो जाता है तो सिर्फ पटरियां ही बिछाने का काम शेष रहेगा।

क्या है अर्थवर्क...अर्थवर्क यानी मिट‌्टी डालकर जमीन को ऊंचा करना ताकि उस पर पटरी बिछाई जा सके। जमीन से छह फीट ऊंचा, 60 चौड़ा प्लेटफार्म बनाया जाता है।

पीथमपुर, बिचौली, सुलावड, खेड़ा, बक्साना, घाटा बिल्लौद और गुणावद तक अर्थवर्क पूरा हुआ

छोटा उदयपुर से आलीराजपुर तक 50 किमी का हुआ है काम...रेल महासमिति के केंद्रीय अध्यक्ष पवन जैन गंगवाल ने बताया कि गुजरात के छोटा उदयपुर से धार तक आने वाली 157 किमी की रेल लाइन में आलीराजपुर तक 50 किमी का काम पूरा हो गया है। आलीराजपुर तक रेल आ गई है। अब 107 किमी का काम धार तक और बचा है। सीएम कमलनाथ काे मेट्रो से पहले इस लाइन को पूरा करा कराना चाहिए।

इधर, गुणावद से तिरला तक कुल 20 किमी क्षेत्र में जमीन का अधिग्रहण हो चुका है। मुआवजा करीब 58 करोड़ रुपए के लगभग बांटा जा चुका है। नौगांव के राजेंद्र पिता हुकूमसिंह ठाकुर ने बताया कि हमारे क्षेत्र में किसानों को मुआवजा के चेक मिल चुके हैं। कुछ लोगों के आने बाकी हैं।

58 करोड़ रुपए का मुआवजा बांटा जा चुका है अब तक

गुणावद से धार तक अर्थवर्क भी अधूरा है

ऐसा है रेल का रूट, जानें कहां से कहां तक हो चुका है काम

रेल लाइन की जानकारी

इंदौर-दाहोद (वाया धार-झाबुआ)

लंबाई-
200.97 किमी

लागत- 678.56 (2008 में)

वर्तमान में - 1640 करोड़

महत्वपूर्ण पुल- 5

बड़े पुल- 29

छोटे पुल- 181

स्टेशनों की संख्या- 20

छोटा उदयपुर से धार तक रेल लाइन

लंबाई - 157 किमी

लागत- 608.25करोड़ (2008 में)

वर्तमान 1347 करोड़

सुरंग- 07

सुरंगों की लंबाई-9.85 किमी

बड़े पुल- 30

छोटे पुल- 85

स्टेशन- 14

इंदौर, राऊ, टीही तक रेल की पटरी बिछ गई

Dhar News - mp news the base for the track in 20 km from pithampur to gunawad the tunnel built in tehi work has not progressed for dhar
Dhar News - mp news the base for the track in 20 km from pithampur to gunawad the tunnel built in tehi work has not progressed for dhar
X
Dhar News - mp news the base for the track in 20 km from pithampur to gunawad the tunnel built in tehi work has not progressed for dhar
Dhar News - mp news the base for the track in 20 km from pithampur to gunawad the tunnel built in tehi work has not progressed for dhar
Dhar News - mp news the base for the track in 20 km from pithampur to gunawad the tunnel built in tehi work has not progressed for dhar
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना