दिल से कार्य करने वाली महिलाओं का घर स्वर्ग बन जाता है

Dhar News - फूल खिलता है तो वह मधुमक्खियों को निमंत्रण नहीं देता है। वह तो उसकी सुगंध से ही चली आती है। इसी तरह हमारे मन में भी...

Dec 04, 2019, 09:36 AM IST
Manawar News - mp news the house of women working with heart becomes paradise
फूल खिलता है तो वह मधुमक्खियों को निमंत्रण नहीं देता है। वह तो उसकी सुगंध से ही चली आती है। इसी तरह हमारे मन में भी प्रेम है तो ईश्वर प्राप्ति का मार्ग स्वयं ही हमें मिल जाता है। क्योंकि प्यार ऊपर की वस्तु है और श्रद्धा नीचे की। अगर हमने प्यार से ईश्वर प्राप्ति के लिए भक्ति की तो ईश्वर प्राप्ति का मार्ग निश्चित मिलेगा। अगर प्यार के बदले प्यार मिले तो वह सच्चा प्यार है और प्यार के बदले प्यार ना मिले तो वह निष्काम प्रेम है। यह बात गीता ज्ञान प्रचारक समिति द्वारा आयोजित भक्तमाल कथा में मंगलवार को कथा सार सुनाते हुए स्वामी करुणदास ने कही। उन्होंने कहा हम माला धारण करते हैं, पूजन करते हैं, दान करते हैं। मगर परिवार में हमारी हमेशा उपेक्षा होती है लोग हमें पसंद नहीं करते हैं। इससे प्रतीत होता है कि परिवार के लोगों के लिए हमारे द्वारा किया जाने वाला व्यवहार अच्छा नहीं है।

स्वर्ग चाहिए तो घर को स्वर्ग बनाएं : स्वामीजी ने कहा कि प|ी यह ना सोचे कि पति सिर्फ उसी का है। वह उसी की बात मानेगा। क्योंकि वह किसी मां का बेटा है, किसी बहन का भाई भी है। घर को स्वर्ग बनाना है तो मां और बहन से भी कभी-कभी खाना मांग लेना चाहिए। अगर घर में क्लेश रहेगा तो मरने के बाद हमें नर्क की प्राप्ति होगी। स्वर्ग प्राप्ति के लिए घर को स्वर्ग बनाएं। पुरुषों का दिमाग दिल पर हावी रहता है और महिलाओं का दिल दिमाग पर हावी रहता है। अगर महिलाएं घर में दिल से कार्य करती है तो वह घर स्वर्ग बन जाता है और दिमाग लगाती है तो वह घर बिखर जाता है। आजकल लोग घर में दिमाग लगाते है और दिल बाहर लगा लेते है। भागवत पूजन अमित शर्मा , प्रकाश सेफ्टा, गोविंद मुकाती, रूपचंद पाटीदार, नरेंद्र कामदार ने किया। संचालन रमेश कुशवाह ने किया।

X
Manawar News - mp news the house of women working with heart becomes paradise
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना