• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Dhar News
  • Dhar - ‘पति की हत्या कैसे करें’ विषय पर पहले लिखा उपन्यास; फिर की हत्या, अब फेसबुक पोस्ट के आधार पर पुलिस ने किया गिरफ्तार
--Advertisement--

‘पति की हत्या कैसे करें’ विषय पर पहले लिखा उपन्यास; फिर की हत्या, अब फेसबुक पोस्ट के आधार पर पुलिस ने किया गिरफ्तार

Danik Bhaskar | Sep 13, 2018, 02:36 AM IST

एजेंसी | ओरेगॉन

‘पति की हत्या कैसे करें’ इस पर उपन्यास लिखने वाली लेखिका नैन्सी क्रॉम्पटन ब्रॉफी को अमेरिकी पुलिस ने बुधवार को गिरफ्तार कर लिया। उसकी गिरफ्तारी पति की हत्या के आरोप में ही की गई है। दरअसल, 68 वर्षीय नैन्सी के पति डेनियल ब्रॉफी की 2 जून 2018 को हत्या कर दी गई थी। इसके बाद नैन्सी ने अपने पति को याद करते हुए फेसबुक पर एक शोक संदेश भी लिखा था। इसमें उसने लोगों की सांत्वना बटोरी। लोगों ने भी उसे सपोर्ट किया था। बाद में पुलिस डेनियल की हत्या के सबूतों को तलाशने के दौरान नैन्सी का फेसबुक अकाउंट चेक किया। इसके बाद संदेह की सुई नैन्सी पर गई।

नैन्सी एक रोमांटिक उपन्यास लेखिका है, जिसने रोमांस और सस्पेंस पर कई किताबें लिखी हैं। उसकी कुछ किताबें अमेजन की सेल में भी सेलेक्ट हुई। 2011 में उसने ‘पति की हत्या कैसे करें’ विषय पर 700 शब्दों का निबंध लिखा था। बाद में उसने इस पर उपन्यास भी लिखा। उपन्यास में उसने लिखा था, ‘रोमांटिक सस्पेंस राइटर के तौर पर मैंने हत्या और उसके बाद होने वाली पुलिस की प्रक्रिया को लेकर कई घंटे तक सोचा। इससे बचने के उपाय भी लिखे।’ यही नहीं, अपने निबंध में उसने हत्या के मुकाबले तलाक को ज्यादा खर्चीला तक करार दिया था। पुलिस ने अपनी जांच में यहीं से क्लू निकाला। पुलिस का कहना है कि अब हमें सबूतों की जरूरत नहीं, क्योंकि हमारे पास पर्याप्त सबूत हैं। सिर्फ कड़ी मिलानी है और पूछताछ में ही नैन्सी सच कबूल कर लेगी। उसकी सबसे बड़ी भूल यह थी कि उसने हत्या के कई छोटे बिंदुओं को नजरअंदाज कर दिया था।

अमेरिका के ओरेगॉन में रहने वाली रोमांटिक उपन्यासकार नैन्सी क्रॉम्पटन ने की थी पति की हत्या

लिखा था- हत्या के मुकाबले पति से तलाक लेना ज्यादा महंगा

नैन्सी के पति डेनियल की पोर्टलैंड के रसोईघर में हत्या कर दी गई थी। ‘पति की हत्या कैसे करें' उपन्यास में नैन्सी ने हत्या करने के कई तरीके बताए थे। लेकिन पुलिस अधिकारी क्रिस्टोफर जॉन के मुताबिक फेसबुक संदेश में कई बारीकियों में नैन्सी चूक गई। उसने सोचा कि पुलिस एक हद से ज्यादा आगे नहीं सोच सकती, जो धारणा गलत साबित हुईं। जॉन ने कहा कि कई बार छोटी सी चूक बड़ी बन जाती है। ऐसा ही नैन्सी के साथ हुआ। नैन्सी ने खुद एक-दो नहीं बल्कि इतने सबूत हमें दिलवा दिए कि अब उसका जेल जाना तय है।