--Advertisement--

6.63 करोड़ की लागत से पीजी कॉलेज के पीछे बनाएंगे अत्याधुनिक जी-1 बिल्डिंग

शहर के पीछे कॉलेज के पीछे खाली पड़े ग्राउंड पर पीआईयू विभाग द्वारा 6 करोड़ 63 लाख रुपए की लागत से अत्याधुनिक जी-1...

Dainik Bhaskar

Nov 11, 2018, 05:15 AM IST
Dhar - the state of the art g 1 building will build behind pg college at a cost of 663 crore
शहर के पीछे कॉलेज के पीछे खाली पड़े ग्राउंड पर पीआईयू विभाग द्वारा 6 करोड़ 63 लाख रुपए की लागत से अत्याधुनिक जी-1 बिल्डिंग बनाकर 12 कक्षाें का निर्माण किया जा रहा है। इससे विद्यार्थियों को सुविधा में होगी। साथ ही इन कक्षों में विद्यार्थियों के लिए नए वोकेशनल कोर्सेस भी शुरू किए जाएंगे। इन कक्षों के लिए कॉलेज प्रबंधन ने राज्य शासन को करीब 8 माह पूर्व प्रस्ताव बनाकर भेजा था। प्रपोजल में बताया गया था कि कॉलेज में विद्यार्थियों की संख्या 5 हजार से अधिक हो चुकी है। प्रस्ताव पर शासन ने बीते 24 अप्रैल को मंजूरी दी। निर्माण का ठेका पीआईयू विभाग को दिया गया है। विभाग ने कक्षों के लिए नींव डालकर कॉलम खड़े कर दिए हैं। कॉलेज के प्रोफेसर डॉ. नागेश डगांवकर ने बताया कक्षों का निर्माण शुरू कर दिया गया है। 16 माह में यह बनकर तैयार हो जाएंगे। यह कक्ष निजी कॉलेजों के कक्षों की तरह अत्याधुनिक तकनीकों से लैस होंगे। इनमें विद्यार्थियों के लिए वोकेशनल कोर्सेस भी शुरू किए जाएंगे। शासन ने इसके लिए 6.63 करोड़ रुपए का बजट मंजूर किया है। कक्षों का निर्माण होने से एनएएसी (नेशनल असेसमेंट एक्रीडिटेशन काउंसिल) द्वारा विद्यार्थियों की सुविधाओं के लिए अच्छी ग्रेडिंग के अनुसार बेहतर अनुदान मिलेगा।

धार। कॉलेज के पीछे ग्राउंड पर जी-1 बिल्डिंग का निर्माण शुरु हो चुका है।

अभी ऐसी है कॉलेज की स्थिति





दो मंजिला बिल्डिंग में कुल 26 कक्ष है।

इनके अलावा अब ऐसा होगा






प्रोजेक्टर लगाए जाएंगे





यह होगा लाभ

प्रोफेसर डॉ. डगांवकर ने बताया नेक द्वारा हर तीन साल में कॉलेज की ग्रेडिंग की जाती है। नेक के अफसर अपनी गाइड लाइन के अनुसार कॉलेजों में सारी व्यवस्थाएं देखते हैं। इस आधार पर ए, बी, सी तीन प्रकार के ग्रेड दिए जाते हैं। 2016 में नेक द्वारा पीजी कॉलेज का निरीक्षण किया गया था। जिसमें अफसरों को कमियां मिली थी। विद्यार्थियों की संख्या के अनुपात में कॉलेज में कक्ष कम बताए गए। अब यह नए 12 कक्ष बनने से पीजी कॉलेज नेक से अच्छी ग्रेडिंग प्राप्त करेगा। जिससे विद्यार्थियों की सुविधा के लिए अच्छा अनुदान मिलेगा।

प्रदेश के 40 से ज्यादा जिलों में बन रहे भवन

प्रो. डगांवकर ने बताया राज्य शासन ने प्रदेशभर के कॉलेजों से अध्ययनरत विद्यार्थियों की जानकारी मांगी थी। प्रपोजल के बाद 40 से ज्यादा जिले धार, सागर, गुना, इंदाैर, बैतूल, ग्वालियर, महू, शहडोल, झाबुआ, होशंगाबाद, अशोकनगर, नीमच, विदिशा, अालीराजपुर, विदिशा, रीवा रतलाम सहित अन्य जिलों में यह भवन बनाए जा रहे हैं।

लॉ कॉलेज भी शुरू हो सकता है

प्रो. डगांवकर ने बताया करीब 4 साल पहले लॉ कॉलेज के लिए बार कांउसिल ने निरीक्षण किया था। लेकिन कॉलेज में पर्याप्त स्थान नहीं होने से वह मामला अब तक अधर में है। कॉलेज के पास अब पर्याप्त स्थान होने से हम बार काउंसिल से दोबारा पत्र व्यवहार शुरु करेंगे। मंजूरी मिलती है तो यहां जल्द ही लॉ कॉलेज भी शुरू होगा।

काम शुरू किया है, 16 माह में पूर्ण करेंगे


X
Dhar - the state of the art g 1 building will build behind pg college at a cost of 663 crore
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..