• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Ganjbasoda
  • परिजन रोते बिलखते रहे, चकमा देकर पांच हजार रुपया ले गया ठग
--Advertisement--

परिजन रोते बिलखते रहे, चकमा देकर पांच हजार रुपया ले गया ठग

Ganjbasoda News - गंजबासौदा| गांव ठर्रका के प्रवीण तिवारी 22 वर्ष को रविवार को खेत में पानी देते समय करंट लग गया था। करंट लगने के बाद...

Dainik Bhaskar

Apr 02, 2018, 02:55 AM IST
परिजन रोते बिलखते रहे, चकमा देकर पांच हजार रुपया ले गया ठग
गंजबासौदा| गांव ठर्रका के प्रवीण तिवारी 22 वर्ष को रविवार को खेत में पानी देते समय करंट लग गया था। करंट लगने के बाद उसे शासकीय जन चिकित्सालय लाया गया। जांच के बाद डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पोस्टमार्टम के बाद जब उसे वापस घर ले जाने की तैयारी चल रही थी तभी वहां मौजूद एक व्यक्ति शव वाहन व सामग्री लाने के नाम पर चकमा देकर रुपए लेकर चंपत हो गया। एएसआई आरके विश्वकर्मा ने बताया कि युवक सुबह खेत में लगे बगीचे में पानी देने गया था। जब पानी दे रहा था तभी डीपी का करंट पानी में फैल गया। इससे युवक करंट की चपेट में आ गया। जब देर तक वह घर नहीं पहुंचा तो परिजनों ने बगीचे में आकर देखा तो वह जमीन पर पड़ा था। उसकी मृत्यु मौके पर ही हो गई थी। परिजनों ने उम्मीद नहीं छोड़ी। उसे बचाने और उपचार की उम्मीद में शासकीय जन चिकित्सालय लाए। उसकी जांच कर डाक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। इसी बीच जब उसके पोस्टमार्टम के बाद वापस गांव ले जाने की तैयारी चल रही थी तभी वहां मौजूद एक अधेड़ व्यक्ति ने शव वाहन और सामग्री लाने के लिए रुपए मांगे। परिजनों ने सोचा कोई रिश्तेदार या पहचान का होगा। उसे पांच हजार रुपए दे दिए। रुपए लेकर वह गया तो वापस नहीं लौटा। लोग उसे खोजते रहे। विष्णु शर्मा ने बताया कि ऐसे समय में लोग पीड़ित परिवार की मदद करते है लेकिन कई लोग ऐसे समय पर भी चकमा देने की फिराक में रहते हैं।

X
परिजन रोते बिलखते रहे, चकमा देकर पांच हजार रुपया ले गया ठग
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..