• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Ganjbasoda News
  • सामान्य से कम वजन के 4337 बच्चे मिले इनमें से 345 ऐसे हैं जिनकी हालत गंभीर
--Advertisement--

सामान्य से कम वजन के 4337 बच्चे मिले इनमें से 345 ऐसे हैं जिनकी हालत गंभीर

एक दिन में करीब 1 लाख 48 हजार 734 रुपए बच्चों के नाश्ते और भोजन पर हो रहा खर्च भास्कर संवाददाता | गंजबासौदा विकासखंड...

Danik Bhaskar | Jul 05, 2018, 02:45 AM IST
एक दिन में करीब 1 लाख 48 हजार 734 रुपए बच्चों के नाश्ते और भोजन पर हो रहा खर्च

भास्कर संवाददाता | गंजबासौदा

विकासखंड के 21268 बच्चों में से 4337 बच्चे थर्ड ग्रेट के कुपोषित पाए गए। इनमें से 345 ऐसे हैं इनकी हालत चिंताजनकक है। मई 2018 की महिला बाल विकास कि विभागीय रिपोर्ट से पता चला है कि 14 बच्चों न तो मरे हुए ही पैदा हुए हैं। 16 साल से विकासखंड में कुपोषण के खिलाफ चल रही सरकारी जंग भी हालातों पर काबू पाने में फिलहाल पूरी तरह सफल नहीं हो पाई है। महिला एवं बाल विकास परियोजना विभाग एक दिन में करीब 1 लाख 48 हजार 734 रुपए बच्चों के नाश्ते और भोजन पर प्रतिदिन खर्च कर रही है। इसके बावजूद भी कुपोषित बच्चों की संख्या घटने के स्थान पर बढ़ती जा रही है। सबसे ज्यादा चिंताजन बात यह है कि विभाग स्थिति को गंभीरता से नहीं ले रहा है। यदि साल भर की विभागीय रिपोर्ट पर गौर किया जाए तो कुपोषण की हालत का पता चल जाएगा। स्थिति सुधरने के स्थान पर जस की तस बनी हुई है। विभाग के अधिकारी अब इस हालत के लिए प्रभावित बच्चों के परिजनों को दोषी बता रहे हैं।

हम लगातार पूरी मेहनत कर रहे हैं


कुपोषित बच्चों की संख्या घटने के स्थान पर बढ़ती जा रही