• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Ganjbasoda News
  • दुर्घटना हुई तो बैंक प्रबंधक के विरुद्ध होगा मामला दर्ज, यातायात पुलिस की चेतावनी
--Advertisement--

दुर्घटना हुई तो बैंक प्रबंधक के विरुद्ध होगा मामला दर्ज, यातायात पुलिस की चेतावनी

भास्कर संवाददाता| गंजबासौदा नगर की बिगड़ी ट्रैफिक व्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए यातायात पुलिस ने सभी बैंक...

Danik Bhaskar | Jul 04, 2018, 04:20 AM IST
भास्कर संवाददाता| गंजबासौदा

नगर की बिगड़ी ट्रैफिक व्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए यातायात पुलिस ने सभी बैंक प्रबंधकों से बैंकों के सामने मार्ग पर वाहन पार्किंग कराने से मना किया है। वाहनों को व्यवस्थित पार्किंग उपलब्ध कराने की सलाह दी। अव्यवस्थित वाहनों के कारण जाम के हालात बनने पर बैंक के अधिकारी पर मामला दर्ज करने की हिदायत दी। नगर में छोटी-बड़ी डेढ़ दर्जन से ज्यादा बैंक शाखाएं हैं लेकिन किसी भी बैंक में पार्किंग सुविधा नहीं है। इससे खातेदार वाहन सड़क पर पार्किंग करते हैं। इससे लगातार सड़क पर जाम के हालात बन रहे हैं। शहर में पटरियां गायब हैं। अब हालत यह है कि दुकानों के आगे वाहन पार्क हो रहे हैं। इससे दुकानदार और खातेदारों में आए दिन विवाद की स्थिति बन रही है। नगर में यातायात की स्थिति दिन व दिन खराब होती जा रही है।

बैंकों में पार्किंग सुविधा नहीं

जिला सहकारी बैंक परिसर में किसान दोपहिया वाहन आड़े-तिरछे खड़े करने के बाद बैँकिंग लेनदेन के लिए चले जाते हैं। इससे कर्मचारियों को आने जाने में समस्या आती थी। उसने परिसर के चारों तरफ बाउंड्रीवाल बना दी। बाउंड्रीवाल के अंदर बैंक कर्मचारियों के वाहन खड़े होते हैं।

बाहर सड़क पटरी पर चाय पान की गुमठियां लगी हैं। इससे किसान सड़क पर दोपहिया व चार पहिया वाहन खड़े कर देते हैं। इसी प्रकार स्टेट बैंक के आगे पेवर ब्लॉक लगाकर चबूतरा बना दिया। इससे बैंक आने जाने वाले ग्राहक वाहन सड़क तक पार्क कर रहे हैं। यही हालत विजया बैंक, बीओटी, सेंट्रल, आईसीआईसीआई, एचडीएफसी, पंजाब नेशनल, एक्सिस, आईडीबीआई, यूको, यूनियन, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक, आरबीएल, यूनियन बैंक आदि की है। इससे खातेदार मुख्य मार्ग पर वाहनों की पार्किंग कर रहे हैं। इस कारण मुख्य मार्ग प्रभावित होता है।

सड़क के अतिरिक्ति जगह नहीं : स्टेशन, बरेठ, त्योंदा रोड की चौड़ाई पर्याप्त है लेकिन रोड को छोड़कर साइडों में कहीं भी जगह नहीं है। मकान से लेकर सड़क तक अतिक्रमण है। पटरी पर गुमठियां, सब्जी बेचने वाले, हाथ ठेलों का स्थाई कब्जा है। बरेठ रोड, त्योंदा रोड, पुराना शहर में कहीं भी सड़क किनारे पटरियां दिखाई नहीं देती।