• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Ganjbasoda
  • Ganjbasoda - 3 वर्षों से टपरों में कर रहे निवास मुख्य सड़क पहुंच मार्ग भी कच्चा
--Advertisement--

3 वर्षों से टपरों में कर रहे निवास मुख्य सड़क पहुंच मार्ग भी कच्चा

गांव कानीखेड़ी टपरा से आए दर्जनों ग्रामीणों ने मंगलवार दोपहर मूलभूत सुविधाएं न मिलने के कारण तहसील स्थित लाल...

Dainik Bhaskar

Sep 12, 2018, 02:56 AM IST
Ganjbasoda - 3 वर्षों से टपरों में कर रहे निवास मुख्य सड़क पहुंच मार्ग भी कच्चा
गांव कानीखेड़ी टपरा से आए दर्जनों ग्रामीणों ने मंगलवार दोपहर मूलभूत सुविधाएं न मिलने के कारण तहसील स्थित लाल परेड ग्राउंड में जमकर प्रदर्शन किया। ग्रामीणों का कहना है कि वह पिछले तीस सालों से टपरों पर निवास कर रहे हैं लेकिन उन्हें केन्द्र व प्रदेश सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं का लाभ नहीं मिल पा रहा हैं। हालत यह है कि गांव को मुख्य सड़क से जोड़ने वाला तीन किलोमीटर लंबा रास्ता कच्चा है। बारिश के चलते आवागमन बंद हो जाता है इससे ग्रामीणों को समय पर उपचार न मिलने के कारण काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

ग्रामीण बच्चे सड़क के अभाव में बारिश के महीने में स्कूल नहीं पहुंच पाते। अंतिम संस्कार के लिए श्मशान घाट की भूमि न होने से खेतों में तिरपाल लगाकर अंतिम संस्कार करने को मजबूर है। इसी के साथ ही गांव में न तो पेयजल व्यवस्था है और न शौचालयों का निर्माण कराया जा रहा है। स्वच्छ भारत अभियान के तहत गांव में शौचालय बनाए जाने का कार्य शुरू किया गया था लेकिन कार्य आधा अधूरा है। ग्रामीण महिलाओं को मजबूरन खुले में शौच के लिए जाना पड़ता है। योजनाओं का लाभ न मिलने की शिकायत दर्जनों बार गांव के सरपंच के साथ ही जनप्रतिनिधियों से की जा चुकी है इसके बाद भी हालत जस के तस बने हुए हैं। चुनाव के समय जनप्रतिनिधि आते हैं दर्जनों योजनाएं बताकर चले जाते है लेकिन उसके बाद पात्र लोगों को योजना का लाभ नहीं मिल पाता। बस्ती हरिजन बाहुल्य है।

ग्रामीण दैनिक मजदूरी कर परिवार का भरण पोषण कर रहे हैं लेकिन सुविधाएं न मिलने से मानसिक रूप से परेशान होना पड़ रहा है। तहसीलदार सरोज परिहार ने ग्रामीणों की शिकायत सुन जल्द से जल्द निराकरण करने की बात कही।

गांव में मूलभूत सुविधाए न होने से परेशान ग्रामीणों की समस्या को दैनिक भास्कर ने प्रमुखता से प्रकाशित किया था। ग्रामीण तिरपाल लगाकर अंतिम संस्कार करने को मजबूर है। ग्रामीण प्रीतम, नेत राम, रामकरण, कैलाश, रमेश, रूपसिंह, लखन , मनोहर ने बताया कि यदि जल्द से जल्द गांव में सुविधाए उपलब्ध नहीं कराई तो वह उग्र आंदोलन करेंगे।

X
Ganjbasoda - 3 वर्षों से टपरों में कर रहे निवास मुख्य सड़क पहुंच मार्ग भी कच्चा
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..