--Advertisement--

खून से लिखा ‘हम मर जाएंगे तब नियमित करोगे’

Dainik Bhaskar

Mar 04, 2018, 02:05 AM IST

Garoth News - सरकार की नीतियों के विरोध में शनिवार को भी कर्मचारी संगठनों का अनिश्चितकालीन आंदोलन जारी रहा।...

खून से लिखा ‘हम मर जाएंगे तब नियमित करोगे’
सरकार की नीतियों के विरोध में शनिवार को भी कर्मचारी संगठनों का अनिश्चितकालीन आंदोलन जारी रहा। स्वास्थ्यकर्मियों ने खून से लिखा ‘हमको नियमित कब करोगे-मर जाएंगे तब करोगे’ तो इधर, सोसायटीकर्मियों ने सहकारी बैंक कार्यालय के बाहर धरना देते हुए एक-दूसरे को काला तिलक लगाया, मांगों को लेकर डटे रहने का संकल्प लिया। दोनों संगठनों के आंदोलन के कारण लाेगों को परेशानी हो रही है। सबसे ज्यादा किसान परेशान हैं। सोसायटी कर्मियों के हड़ताल पर होने से संस्थाओं में तारीख बढ़ने के बाद भी किसानों को पंजीयन नहीं हुआ है।

विरोध

सरकार की नीतियों के विरोध में स्वास्थ्यकर्मियों व सोसायटीकर्मियों का आंदोलन, विराेध के लिए रोज नए तरीके अपना रहे संगठन

नियमितिकरण और सेवाओं से हटाए कर्मचारियों की वापसी की मांग को लेकर संविदा स्वास्थ्यकर्मियों ने शनिवार को गांधी चाैराहे पर धरना दिया। नर्सिंग, लैब टेक्नीशियन व अन्य स्टाफ ने सीरींज की मदद से हाथों से खून निकाला और उससे सीएम को पत्र लिखा। ‘हमको नियमित कब करोगे, मर जाएंगे तब करोगे’, ‘नियमित करो मामा’ जैसे नारे लिखे। इससे पहले शुक्रवार को होली के दिन कर्मचारियों ने रंगहीन होली मनाई और सरकार की नीतियों का विरोध जताया। जिलाध्यक्ष विपिन सक्सेना ने बताया अभी तक शासन की ओर से सकारात्मक जवाब नहीं मिला है, आंदोलन जारी रखेंगे।

संविदा स्वास्थ्यकर्मी

सहकारी संस्थाएं कर्मचारी महासंघ के आंदोलन में जिला सहकारी केंद्रीय बैंक के बाहर धरनास्थल पर कर्मचारियों ने एक-दूसरे को काला तिलक लगाया। सरकार की नीतियों का विरोध जताया। जिलाध्यक्ष नंदकिशोर धाकड़ ने बताया शासन ने अब तक कर्मचारियों की मांगों को लेकर सकारात्मक रुख नहीं अपनाया। यही कारण है कि मंदसाैर, सीतामऊ, मल्हारगढ़, गरोठ, भानपुरा क्षेत्र की कुल 104 सोसायटियों के कर्मचारी काम से दूर हैं। हड़ताल अवधि के बीच ही शासन द्वारा निर्धारित अंतिम अवधि 28 फरवरी भी गुजर गई। इस बीच गेहूं उपार्जन व्यवस्था को लेकर किसानों के रजिस्ट्रेशन नहीं हुए।

सहकारी संस्था सोसायटीकर्मी

X
खून से लिखा ‘हम मर जाएंगे तब नियमित करोगे’
Astrology

Recommended

Click to listen..