--Advertisement--

भास्कर संवाददाता | गरोठ/शामगढ़

भास्कर संवाददाता | गरोठ/शामगढ़ प्राचीनमहिषासुर मर्दिनी मंदिर के विकास को लेकर मां सेवा धार्मिक युवक मंडल मौन...

Dainik Bhaskar

Jan 06, 2018, 02:25 AM IST
भास्कर संवाददाता | गरोठ/शामगढ़

प्राचीनमहिषासुर मर्दिनी मंदिर के विकास को लेकर मां सेवा धार्मिक युवक मंडल मौन आंदोलन कर रहा है। इसने अब जनआंदोलन का रूप ले लिया हैं। तीन दिन से जारी आंदाेलन में राजनीतिक दल, व्यापारी अामजन जुड़ने लगे हैं। आंदोलन उग्र हो इसलिए प्रशासन पहले ही दिन से आंदोलन खत्म करवाने के लिए प्रयासरत है। उसने मंदिर विकास के लिए आर्किटेक्ट को बुलाकर प्लान बनाने की कवायद शुरू कर दी है। हालांकि शुक्रवार देरशाम समिति सदस्यों ने यह कहते हुए धरना खत्म करने से मनाकर दिया कि कलेक्टर खुद धरनास्थल पर आएं अौर योजना के बारे में लिखकर दें। उसके बाद ही कोई निर्णय होगा।

शामगढ़ में होल्करकालीन अतिप्राचीन मां महिषासुर मर्दिनी मंदिर है। यह कई जगह से जर्जर है। मंदिर विकास नवनिर्माण को लेकर वर्षों से लोग मांग और आंदोलन करते रहे हैं। मंदिर प्रशासन के अधीन होने के कारण आमजन विकास कार्य नहीं करवा सकता है। इससे उन्होंने बार-बार ज्ञापन दिए। हर बार प्रशासन से सिर्फ आश्वासन ही मिला। इससे नगर के युवाओं ने मां सेवा धार्मिक युवक मंडल का रजिस्ट्रेशन करवाकर आंदोलन शुरू किया। दो माह से समिति लगातार प्रयास कर रही है लेकिन कुछ नहीं हुआ। इससे समिति ने 1 जनवरी तक का अल्टीमेटम दिया था। बावजूद कुछ नहीं हुआ। इससे समिति ने 2 जनवरी को मौन रैली निकालकर मंदिर चौराहे में मौन धरना शुरू कर दिया था। यह अब जनआंदोलन में तब्दील हो गया है। भाजपा, कांग्रेस, करणी सेना, पूर्व वर्तमान जनप्रतिनिधि, व्यापारी, गणमान्यजन सहित सभी इसमें जुड़ गए हैं।

मंदिर विकास की मांग को लेकर चल रहे अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे समिति पदाधिकारी अन्य।

{ महिषासुर मर्दिनी, बावन भैरव चौंसठ जोगणियां मंदिर का मास्टर प्लान तैयार कर नवनिर्माण किया जाए। {शामगढ़ को पवित्र नगर घोषित किया जाए। {मंदिर को पर्यटन विकास निगम के अधीन किया जाए। {सब्जी मंडी स्थित चौराहे पर महिषासुर मर्दिनी माता मंदिर प्रवेश द्वार बनवाया जाए। मुख्य मार्ग का चौड़ीकरण हो। { मंदिर के पास स्थित कांजी हाउस की जमीन मंदिर प्रशासन को दी जाए।

लिखकर दें कब काम शुरू होगा

^प्रशासनवर्षों से केवल आश्वासन दे रहा है। जब तक कलेक्टर यहां अाकर योजना नहीं बताते और लिखित में नहीं देते कि निर्माण होगा और कब शुरू होगा तब तक आंदोलन खत्म नहीं होगा। ईश्वरपाटीदार, सदस्य- मां सेवा धार्मिक युवक मंडल शामगढ़

दो-तीन दिन में मंदसौर जाएंगे आर्किटेक्ट और इंजीनियर

शामगढ़तहसीलदार प्रेमशंकर पटेल ने बताया मंदिर आस्था का केंद्र है। नगरवासियों की भावना के अनुरूप निर्माण होगा। मैं स्वयं एसडीएम आरपी वर्मा मौके पर जाकर लोगों से मिले हैं। कलेक्टर काे अवगत करवाया है। मंदिर विकास की योजना बनाने के लिए मंदसौर से आर्किटेक्ट इंजीनियर की टीम अगले दो-तीन दिन में जाएगी। इस दौरान नवनिर्माण, लागत सहित अन्य पहलुओं पर निर्णय लिया जाएगा। इस दौरान समिति सदस्य गणमान्यजन भी मौजूद रहेंगे।

मंदिर विकास की मांग को लेकर मौन धरने में लोग बारी-बारी से बैठ रहे हैं। सुबह, शाम रात के लिए अलग-अलग टीमें धरना दे रही हैं। रात को 8 से 10 लोग धरना स्थल पर रहते हैं जबकि दिन में आंकड़ा 100 से 125 तक रहता है। इसी क्रम में शुक्रवार को करणी सेना सहित विभिन्न संगठनों समाजों ने मानव शृंखला बनाई।

बारी-बारी से बैठ रहे धरने पर

ये हैं समिति की मांगें

महिषासुर मर्दिनी मंदिर | व्यापारी संघ ने मानव शृंखला बनाकर दिया समर्थन, तहसीलदार ने कहा इसी सप्ताह आर्किटेक्ट इंजीनियर करेंगे निरीक्षण

प्रशासन मंदिर बनाने के लिए तैयार, समिति सदस्यों ने कहा- कलेक्टर आएं, लिख के दें

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..