--Advertisement--

जिले में 105 एएनएम की कमी थी, 28 की पोस्टिंग

जिला अस्पताल को 28 नई एएनएम मिली हैं, इससे स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार होगा। खासकर इमरजेंसी केसेस में इनकी सेवा ली जा...

Danik Bhaskar | Mar 07, 2018, 02:30 AM IST
जिला अस्पताल को 28 नई एएनएम मिली हैं, इससे स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार होगा। खासकर इमरजेंसी केसेस में इनकी सेवा ली जा सकेगी। संचालनालय स्वास्थ्य सेवा ने एएनएम प्रशिक्षण केंद्र के अंतिम वर्ष की छात्राओं को यह जिम्मेदारी सौंपी है।

परिवार कल्याण विभाग संचालक डॉ. जे.एल. मिश्रा ने यह आदेश जारी किए। दरअसल मंदसौर सीएमएचओ डॉ. महेश मालवीय ने पिछले दिनों विभाग के समक्ष डिमांड भेजी थी। जिले में कुल 105 एएनएम की कमी थी, जिसके एवज में विभाग ने प्राथमिकता के साथ 28 की पोस्टिंग कर दी है। बाकी पदों को लेकर आगामी दिनों में प्रक्रिया होगी। वैसे विभाग स्तर पर जारी आदेश के तहत प्रावधान है कि सीएमएचओ अपने स्तर पर जिले के 41 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों और 7 सामुदायिक केंद्रों में जरूरत मुताबिक नर्सिंग स्टाफ की पदस्थापना के आदेश जारी कर सकते हैं। इसी व्यवस्था के तहत मंदसाैर, मल्हारगढ़, सीतामऊ, गरोठ व भानपुरा ब्लॉक में आने वाले केंद्रों की सुविधाओं में बढ़ोतरी हो सकेगी।

जिला अस्पताल

संचालनालय स्वास्थ्य सेवा ने जारी किए आदेश, एएनएम प्रशिक्षण केंद्र के अंतिम वर्ष की छात्राओं को सौंपी जिम्मेदारी

अस्पताल में यूनिटें बढ़ने से नर्सिंग स्टाफ की मांग बढ़ी

जिला अस्पताल जहां 28 पदों पर नर्सिंग स्टाफ बढ़ा।

अब प्रभावित नहीं होगा काम


दरअसल जिला अस्पताल में नई यूनिटें बढ़ने के साथ ही नर्सिंग स्टाफ की डिमांड भी बढ़ी है। अस्पताल पहले ही 500 बेड का है। मेटरनिटी विंग के अलावा डायलिसिस यूनिट, लैब, एसएनसीयू, शिशु वार्ड, टीकाकरण, शिशु अस्पताल, ऑपरेशन थिएटर, ओपीडी समेत प्राइवेट कक्षों तक में नर्सिंग स्टाफ की आवश्यकता है। यही कारण है कि प्रबंधन द्वारा समय-समय पर शासन को डिमांड भेजी जाती रही है।

नए जीएनएम ट्रेनिंग सेंटर से होगा सुविधाओं में विस्तार

रेवास-देवड़ा रोड पर नया जीएनएम ट्रेनिंग सेंटर भवन व छात्रावास तैयार है। इसका निर्माण 9 करोड़ 90 लाख रुपए से हुआ है। यहां 4 अगस्त 2015 को काम शुरू हुआ था, जो अब बनकर तैयार है। नए शिक्षण सत्र 2018-19 से यहां से ट्रेंड नर्सिंग स्टाफ को प्रैक्टिस के लिए मंदसौर जिला अस्पताल भेजा जाता रहेगा। इसके बाद शासन स्तर पर विभिन्न जिलों में नियुक्तियां भी होंगी।