--Advertisement--

437 बच्चों ने दी रंगारंग प्रस्तुति, अभिभावक बने साक्षी

वार्षिक उत्सव की थीम ‘एक आशा’ को 437 विद्यार्थियों ने सरस्वती वंदना, मस्ती की पाठशाला, आइज डोनेट, अपनों को समझो, निरजा...

Dainik Bhaskar

Apr 04, 2018, 02:30 AM IST
437 बच्चों ने दी रंगारंग प्रस्तुति, अभिभावक बने साक्षी
वार्षिक उत्सव की थीम ‘एक आशा’ को 437 विद्यार्थियों ने सरस्वती वंदना, मस्ती की पाठशाला, आइज डोनेट, अपनों को समझो, निरजा और श्रीकृष्ण जैसी नृत्य नाटिकाओं के माध्यम से साकार किया। इन नृत्य नाटिकाओं में बेटी बचाओं का संदेश निहित होने के साथ सकारात्मक सौच को छात्र-छात्राओं ने प्रस्तुत किया।

नगर के संस्कार वैली स्कूल में बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ और सकारात्मक सोच को लेकर आगे बढ़ने के विचार को केंद्रित करते हुए वार्षिक उत्सव ‘एक आशा’ थीम पर रंगारंग कार्यक्रम आयोजित किया। आयोजन का मुख्य आकर्षण श्रीकृष्ण पर आधारित नृत्य नाटिका ‘एक आशा की किरण’ को सभी ने सराहा। नृत्य नाटिका में कृष्ण की लीलाओं का मंचन करते के साथ छात्र-छात्राओं ने कई संदेश दिए। श्रीकृष्ण के विष्णु अवतार पर पुष्पवर्षा की और जयकारे लगाए। कार्यक्रम का शुभारंभ श्रीगणेशजी व सरस्वती वंदना के साथ हुआ। कार्यक्रम बीईओ बीएस चौहान के मुख्य आतिथ्य और समाजसेवी डॉ. एसके पंजाबी की अध्यक्षता और समाजसेवी अशोक पहलवान, तुलसीराम पाटीदार के विशिष्ठ आतिथ्य में संपन्न हुआ। प्रारंभ में प्राइमरी कक्षा की छात्रा अनन्या, खुशी, निकिता, हिमांशी, दिशा के अतिथियों को चंदन तिलक लगाकर स्वागत किया गया। पश्चात रंगारंग मंचीय रंगारंग कार्यक्रम प्रारंभ हुए, जिसमें नृत्य नाटिका मस्ती की पाठशाला थीम में बच्चों की मस्ती का विवरण बताकर उनके जीवन का अनुभव व्यक्त किया गया।

वार्षिकोत्सव

सरस्वती वंदना, मस्ती की पाठशाला, आइज डोनेट, अपनों को समझो, निरजा और श्रीकृष्ण जैसी नृत्य नाटिकाओं के माध्यम से मोहा मन

समूह नृत्य के माध्यम से सरस्वती वंदना की प्रस्तुति देती छात्राएं। इनसेट- नृत्य करती छात्राएं।

पुरस्कृत किया

इस मौके पर स्वागत भाषण प्राचार्य राजेश पाटीदार ने दिया। पश्चात अतिथियों ने विद्यालय के विशेष बच्चे जिन्होंने शिक्षा, संगीत, नृत्य, खेल आदि में अपनी विशेष पहचान बनाई उनको और जिन्होंने वार्षिक परीक्षा परिणाम में प्रथम व द्वितीय स्थान प्राप्त किया उन्हें पुरस्कृत किया। संचालन विद्यालय के नन्हें बच्चे अदिति लोहार, भाविका सोनारिया, महिमा लोहार, माधवी जादौन, सलोनी पाटीदार, वैदिक वेद ने किया।

X
437 बच्चों ने दी रंगारंग प्रस्तुति, अभिभावक बने साक्षी
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..