Hindi News »Madhya Pradesh »Garoth» जिले की 400 बसों में लगेंगे सीसीटीवी कैमरे और जीपीएस

जिले की 400 बसों में लगेंगे सीसीटीवी कैमरे और जीपीएस

अब यात्री बसों में भी परिवहन विभाग ने स्पीड गवर्नर के बाद सीसीटीवी कैमरे और जीपीएस की अनिवार्यता के आदेश जारी कर...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 13, 2018, 02:30 AM IST

अब यात्री बसों में भी परिवहन विभाग ने स्पीड गवर्नर के बाद सीसीटीवी कैमरे और जीपीएस की अनिवार्यता के आदेश जारी कर दिए हैं। मकसद वाहनों को सुरक्षा मापदंडों से जोड़ना है। इससे पहले स्कूल वाहनों में यह प्रयाेग सफल रहा था। नए मापदंडों का पालन करने वाले वाहनों को ही परमिट, फिटनेस और रिन्यूअल में प्राथमिकता मिलेगी। बाकी को प्रक्रिया से दूर रखा जाएगा।

राज्य शासन मोटरयान नियम में संशोधन के साथ 15 साल पुराने वाहनों का चलन बंद करने का निर्णय भी लेने जा रहा है। इस संबंध में अधिसूचना नए वित्तीय वर्ष में जारी होने वाली है। इसके लिए 31 मार्च तक दावे-आपत्तियां मांगी हैं। उसका निराकरण कर मोटर-व्हीकल एक्ट में बदलाव किया जाएगा। जीपीएस और सीसीटीवी उपकरण लगाने पर ही यात्री बसों को विभिन्न रूट के परमिट दिए जाएंगे। सामान्य, एसी, डीलक्स और चार्टर्ड बसों के लिए भी यही नियम लागू रहेगा। बस संचालन के दाैरान यात्रियों से किसी भी तरह की बदसलूकी की शिकायत होने पर ना केवल कैमरे से घटनाक्रम की पुष्टि की जा सकेगी बल्कि जरूरत होने पर बस की लोकेशन भी ट्रेस की जा सकेगी।

नया नियम

परिवहन विभाग ने सुरक्षा मापदंड कड़े किए, प्रक्रिया पालन करने वाले वाहनों को ही मिलेंगे परमिट, फिटनेस व रिन्यूअल करेंगे, लोकेशन ट्रैस होगी

बसों में सीसीटीवी कैमरे, जीपीएस लगाने की तैयारी की जा रही है। इससे विवाद सुलझाने में मदद मिलेगी, लोकेशन भी ट्रैस हो सकेगी।

नीमच-रतलाम से लेकर देश की राजधानी तक के वाहन संचालित होते हैं मंदसौर से

जिला मुख्यालय के विभिन्न रूटों से रोज 400 यात्री बसों का संचालन होता है। इसमें नीमच, रतलाम, राजस्थान, गुजरात से लेकर देश की राजधानी दिल्ली तक के लिए बस सुविधा है। इसी तरह रीजनल के गरोठ, भानपुरा, सीतामऊ, नारायणगढ़, जावद, मनासा जैसे रूटों के लिए भी वाहन संचालित होते हैं। परिवहन विभाग नए नियम के तहत यात्री बसों में स्पीड गवर्नर के बाद अब सीसीटीवी और जीपीएस भी अनिवार्य करने जा रहा है। समाजसेवी देवेंद्र यादव ‘प्रतिभा’ ने बताया खासकर महिलाओं, बच्चों की सुरक्षा, सुविधा को लेकर देशभर में अनेक मामले सामने आए हैं, ऐसे में नया सिस्टम बेहद कारगर होगा। बस एसोसिएशन के वरिष्ठ अनिल कोठारी का कहना है विभाग स्तर पर जारी निर्देशों का पालन करने में किसी तरह की कठिनाई नहीं है। सभी सहयोग करेंगे।

‘नए मापदंडों से यात्री वाहनों को जोड़ा जाएगा’

यात्री बस संचालन में शामिल होने जा रहे नए मापदंडों से स्थानीय व्यवस्था को भी जोड़ा जाएगा। स्पीड गवर्नर पर तो पूर्व में काम हो चुका है। अब यात्री बसों को लेकर सीसीटीवी, जीपीएस के संबंध में जैसे ही अधिसूचना हमें प्राप्त होगी, बस संचालकों तक जानकारी पहुंचाएंगे। पालन होगा। यात्रियों के सुरक्षा मापदंडों पर विभाग प्राथमिकता से काम कर रहा है। रंजनासिंह कुशवाह, आरटीओ मंदसौर

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Garoth

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×