• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Garoth
  • उधार दिए रुपए वापस मांगने पर ही अर्जुन ने जिंदा जलाया था हरिशंकर को
--Advertisement--

उधार दिए रुपए वापस मांगने पर ही अर्जुन ने जिंदा जलाया था हरिशंकर को

Dainik Bhaskar

Jan 08, 2018, 02:30 AM IST

Garoth News - भास्कर संवाददाता | गरोठ/शामगढ़ शामगढ़ थानार्तंगत खजूरीपंथ में सत्यनारायण धाकड़ के खेत की मेढ़ पर 16 अक्टूबर 2017 को...

उधार दिए रुपए वापस मांगने पर ही अर्जुन ने जिंदा जलाया था हरिशंकर को
भास्कर संवाददाता | गरोठ/शामगढ़

शामगढ़ थानार्तंगत खजूरीपंथ में सत्यनारायण धाकड़ के खेत की मेढ़ पर 16 अक्टूबर 2017 को अज्ञात व्यक्ति की बुरी तरह जली लाश मिली थी। उसके एक दिन पहले रात से ही गांव का हरिशंकर धाड़क भी लापता था और उसकी गुमशुदगी परिजन ने 16 अक्टूबर को ही दर्ज करवाई थी। पुलिस ने दोनों कड़ियों को जोड़कर जांच शुरू की और लाश के डीएनए से जांच करवाई। इसमें डीएनए परिजन से मैच हो गया, इस बीच अारोपी अर्जुन धाकड़ व हरिशंकर के बीच 20 हजार रुपए उधारी को लेकर विवाद की बात भी सामने आ गई। आरोपी अर्जुन ने जुर्म कबूल करते हुए बताया कि उसने हरिशंकर के साथ मारपीट कर बेहोशी की हालात में उसे जिंदा जला दिया।

शामगढ़ टीआई किशोर पाटनवाला ने बताया थाना शामगढ़ पुलिस को सूचना मिली कि गांव के सत्यनारायण धाकड़ के खेत की मेढ़ पर एक अधजला शव पड़ा है। मृतक के विषय में आसपास काफी पता किया गया। उसी समय खजूरी पंथ के कैलाश पिता हीरालाल धाकड ने बताया कि 15 अक्टूबर 2017 की रात घर से गया उसका भाई हरिशंकर अभी तक घर नहीं आया है। 16 अक्टूबर 2017 को हरिशंकर पिता हीरालाल धाकड़ निवासी खजूरी पंथ की थाना शामगढ़ में गुमशुदगी भी दर्ज करवाई है। मंदसौर पुलिस अधीक्षक मनोजकुमार सिंह ने मामले की जांचकर जल्द खुलासे के निर्देश दिए। गुत्थी को सुलझाने में शामगढ़ थाना प्रभारी किशोर पाटनवाला के साथ उनि वरसिंह कटारा, उनि नितिन कुमावत, सउनि हेमंत शर्मा, प्रआर अनिल जाट, आरक्षक कौशल, मनीश लबाना, राजेश, देवेंद्र, राहुल एवं सायबर सेल मंदसौर के आरक्षक राजेश शर्मा का योगदान रहा है।

20 हजार रुपए नहीं चुका पाने के लिए की थी हत्या

जांच में यह बात आई की हरिशंकर ने गांव के ही अर्जुन धाकड़ को 20 हजार रुपए दिए थे। रुपए नहीं चुकाने के कारण हरिशंकर आए दिन अर्जुन से रुपए वापस देने की मांग करता था। पूछताछ में आरोपी अर्जुन ने बताया बार-बार रुपयों के लिए तकादा करने के कारण वह परेशान हो गय था। 15 अक्टूबर 2017 को अर्जुन ने हरिशंकर को फोन करके रुपए देने के लिए बुलवाया। हरिशंकर के आते ही उसे अपनी मोटरसाइकिल पर बैठाकर शिवनारायण धाकड़ के खेत पर ले जाकर नशे में धुत हरिशंकर के साथ मारपीट की। ज्यादा मारपीट के कारण हरिशंकर बेहोश हो गया तो उसे पल्ली में बांधकर मोटरसाइकिल से खींचकर पास ही सत्यनाराण धाकड़ के खेत की मेढ़ पर ले गया। जहां बेहोश हरिशंकर को लेटा दिया और उस पर संतरे की लकड़ियां डालकर आग लगा दी। पुलिस ने अर्जुन को गिरफ्तार कर लिया है।

अाराेपी अर्जुन धाकड़।

माता एवं भाई के डीएनए से हुआ खुलासा

जांच में यह बात आ रही थी कि जो जला अज्ञात शव मिला है वह स्थान मुख्य मार्ग से काफी अंदर है तथा उस रात उस क्षेत्र में लाइट नहीं थी। यह बात स्थानीय व्यक्ति ही जान सकता था। वहीं गांव से भी एक युवक गायब था। अतः गायब युवक की माता एवं भाई के डीएनए से शव के डीएनए का परीक्षण करवाया तो पहचान हो सकी।

X
उधार दिए रुपए वापस मांगने पर ही अर्जुन ने जिंदा जलाया था हरिशंकर को
Astrology

Recommended

Click to listen..