Hindi News »Madhya Pradesh »Garoth» स्वास्थ्यकर्मी हड़ताल पर, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता संभालेंगी पोलियाे अभियान

स्वास्थ्यकर्मी हड़ताल पर, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता संभालेंगी पोलियाे अभियान

वेतन विसंगति सहित अन्य मांगों को लेकर एएनएम, सीएसवी, एमपीडब्ल्यू सहित एनआरएचएम के 50 से ज्यादा कर्मचारी दूसरे दिन...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 10, 2018, 02:45 AM IST

वेतन विसंगति सहित अन्य मांगों को लेकर एएनएम, सीएसवी, एमपीडब्ल्यू सहित एनआरएचएम के 50 से ज्यादा कर्मचारी दूसरे दिन भी हड़ताल पर रहे। ऐसे में टीकाकरण पूर्ण रूप से प्रभावित रहा जिससे टीका लगवाने बच्चों को लेकर आई महिलाएं परेशान होती रहीं। अन्य स्वास्थ्य सेवाओं पर भी असर पड़ा। 11 मार्च से शुरू हो रहे तीन दिनी पल्स पाेलियो अभियान पर असर न पड़े, इसके लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं की सेवा ली जाएगी। इसके लिए कार्यकर्ताओं को डाॅक्टरों ने प्रशिक्षण भी दिया।

स्वास्थ्य विभाग से जुड़ कर्मचारियों की अनिश्चितकालीन हड़ताल दूसरे दिन शुक्रवार को भी जारी रही। पहले दिन तो खास असर नहीं पड़ा लेकिन शुक्रवार को टीकाकरण दिवस होने से ज्यादा परेशानी रही। गरोठ सहित कहीं पर भी टीकाकरण नहीं हो पाया। सुबह से ही महिलाएं बच्चों को लेकर अस्पताल पहुंचीं लेकिन उन्हें बिना टीका लगवाए लौटना पड़ा। केंद्र बंद होने के कारण महिलाएं व परिजन बच्चों को लेकर अस्पताल में पूछताछ करते नजर आएं। अन्य स्वास्थ्य सेवाएं भी प्रभावित रही लेकिन अस्पताल प्रबंधन ने आने वाले मरीजों को ज्यादा परेशानी न आए। इसके लिए नियमित स्वास्थ्यकर्मियों सहित रोगी कल्याण समिति के कर्मचारियों की ड्यूटी अवधि बढ़ाकर उनसे काम लिया गया। इसके बावजूद पर्ची व दवाई वितरण काउंटर पर मरीजों की भीड़ देखी गई। घायलों को ड्रेसिंग करने से लेकर मरीजों को इंजेक्शन, बाेतल आदि लगाने का कार्य दो कम्पाउंडर व अन्य कर्मचारियों के भरोसे रहा।

ओपीडी की पर्ची व दवाई वितरण केंद्र पर राेकस के कर्मचारी संभालते।

रिटायर्ड होने वाली हूं, मैं तो सेवा करूंगी

साठखेड़ा उप स्वास्थ्य केंद्र में कार्यरत स्वास्थ्यकर्मी मांगीबाई जांगड़े हड़ताल से अलग होकर शुक्रवार को काम पर लौट आईं। उनका कहना है कि साल बाद मैं सेवानिवृत्त होने वाली हूं, ऐसे में हड़ताल के कारण गुरुवार को मरीजों को परेशान होता देखा मन नहीं माना। काम पर लौट आई। अब मैं हड़ताल पर नहीं जाऊंगी। इसी प्रकार सिविल अस्पताल में कार्यरत घनश्याम जांगड़े भी हड़ताल में शामिल नहीं हुए और काम कर रहे हैं।

50 से ज्यादा आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को पहले चरण का प्रशिक्षण दिया

राष्ट्रीय प्रोग्राम के तहत 11 मार्च से तीन दिनों तक पल्स पोलियो अभियान को सफल बनाने के लिए आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं की मदद ली जाएगी। इसके लिए शुक्रवार को दोपहर में प्रशिक्षण कार्यक्रम रखा गया। सिविल अस्पताल गरोठ के प्रभारी डॉ. केएस परिहार व डॉ. सपना पाटीदार ने 50 से ज्यादा आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को पहले चरण का प्रशिक्षण दिया। डॉ. परिहार ने बताया पोलियोरोधी दवा को किस प्रकार रखना अौर पिलाने सहित अन्य जानकारियों के बारे में प्रशिक्षण दिया जा रहा हैं। अभियान के तहत पहले दिन तो केंद्रों व निर्धारित स्थानों पर दवाई पिलाई जाएगी। उसके बाद दो दिनों तक घर-घर जाकर बचे बच्चों को दवा पिलाई जाएगी।

इमरजेंसी वअन्य व्यवस्थाओं को सुचारू रखा

इतने कर्मचारियों के हड़ताल पर रहने के कारण कार्य तो प्रभावित होता है। फिर भी हमने इमरजेंसी सहित अन्य व्यवस्थाओं को सुचारु बनाए रखा। टीकाकरण कार्य पूर्ण स्प से प्रभावित रहा। डॉ. के.एस. परिहार, प्रभारी शासकीय सिविल अस्पताल गरोठ

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Garoth

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×