Hindi News »Madhya Pradesh »Garoth» सालों से बंद पड़े हैं मॉडल क्लस्टर भवन, आसपास लोगों ने कर लिया अतिक्रमण

सालों से बंद पड़े हैं मॉडल क्लस्टर भवन, आसपास लोगों ने कर लिया अतिक्रमण

माध्यमिक स्कूल की छात्राओं को शैक्षणिक गतिविधियों के अलावा कढ़ाई, बुनाई, सिलाई, कम्प्यूटर आदि के प्रशिक्षण देने...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jan 25, 2018, 03:20 AM IST

माध्यमिक स्कूल की छात्राओं को शैक्षणिक गतिविधियों के अलावा कढ़ाई, बुनाई, सिलाई, कम्प्यूटर आदि के प्रशिक्षण देने के उद्देश्य से मॉडल क्लस्टर योजना लागू की गई थी। इसके लिए 10 से 12 साल पहले गरोठ-शामगढ़, भानपुरा ब्लॉक में 26 मॉडल क्लस्टर भवन बनाए गए। यहां गतिविधि के नाम पर कुछ नहीं हुआ। मुश्किल से कोई भवन चालू होगा। समीपस्थ साठखेड़ा स्थित मॉडल क्लस्टर भवन के 11 साल से ताले नहीं खुले आैर चारों तरफ अतिक्रमण हो चुका है।

शिक्षा विभाग द्वारा शामगढ़ में 1, गरोठ में 13 और भानपुरा में 12 भवन बनवाए गए थे। अब विभाग मानता है कि तकनीक के अनुरुप वे काम के नहीं है। योजना के तहत गरोठ ब्लॉक में नगर से 10 किमी दूर साठखेड़ा में मावि-प्रावि स्कूल भवन से कुछ दूरी पर मॉडल क्लस्टर भवन का निर्माण किया गया था। सितंबर 2007 में शुभारंभ हुआ और कुछ समय भवन में योजना के अनुरुप गतिविधियां संचालित हुई। प्रशिक्षित शिक्षक नहीं होने से कढ़ाई, बुनाई, सिलाई से लेकर कम्प्यूटर प्रशिक्षण बंद हो गया। यह हालात केवल साठखेड़ा का ही नहीं हैं। गरोठ, शामगढ़ व भानपुरा के लगभग सभी मॉडल क्लस्टर भवनों का हैं।

अतिक्रमण की चपेट : साठखेड़ा स्थित मॉडल क्लस्टर भवन को लेकर ग्रामीण बताते है कि कुछ महीनों बाद ही यह बंद हो गया था। भवन की तारफेंसिंग हटने के बाद लोगों ने पहले कचरा फिर गोबर डालकर रोड़ियां बनाना शुरू कर दी। भवन के हर तरफ अतिक्रमण हो चुका हैं। अधिकतर भवनों के आस-पास अतिक्रमण हैं। बीआरसी प्रवीण व्यास का कहना है कि शिक्षकों को 2-3 दिन का कम्प्यूटर प्रशिक्षण दिया गया। अब 2-3 दिन में शिक्षक स्वयं कैसे कम्प्यूटर चलाना सिखेगा और विद्यार्थियों को कैसे प्रशिक्षण देगा, यही स्थिति अन्य प्रशिक्षण केंद्र की है। इसी तरह कम्प्यूटर आउट आॅफ डेट होने के साथ अन्य सामग्री खराब हो चुकी है, या गायब हो चुकी हैं।

साठखेड़ा में बंद मॉडल क्लस्टर भवन के आस-पास ग्रामीणों ने अतिक्रमण कर लिया है।

अधिकतर बंद पड़े, शुरू करने के लिए पत्र लिखते हैं

सामग्री व प्रशिक्षित शिक्षक नहीं होने से अधिकांश मॉडल क्लस्टर भवन बंद पड़े हैं। कुछ जगह अतिक्रमण होने की शिकायत मिली हैं। सभी बातों से समय-समय पर वरिष्ठ कार्यालय को अवगत करवाते हैं। अतिक्रमण हटाने के लिए भी तहसीलदार को पत्र लिखा हैं। प्रवीण व्यास, बीआरसी गरोठ-भानपुरा ब्लॉक

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Garoth

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×