• Hindi News
  • Madhya Pradesh News
  • Garoth
  • 9 महीने बाद शुरू शामगढ़ रेलवे क्राॅसिंग थ्री-वे आेवरब्रिज का काम फिर धीमा, राहगीर परेशान
--Advertisement--

9 महीने बाद शुरू शामगढ़ रेलवे क्राॅसिंग थ्री-वे आेवरब्रिज का काम फिर धीमा, राहगीर परेशान

हादसे होने का रहता डर शामगढ़ रेलवे क्राॅसिंग गेट नंबर-46 पर शामगढ़-सुवासरा अौर परासली दीवान रोड को जोड़ते हुए थ्री-वे...

Dainik Bhaskar

Jan 05, 2018, 03:35 AM IST
हादसे होने का रहता डर

शामगढ़ रेलवे क्राॅसिंग गेट नंबर-46 पर शामगढ़-सुवासरा अौर परासली दीवान रोड को जोड़ते हुए थ्री-वे ओवर ब्रिज निर्माणाधीन है। जमीन अधिग्रहण सहित अन्य कारणों से करीब एक वर्ष कार्य रुकने के बाद नंवबर 2017 में फिर से निर्माण शुरू हुआ था। करीब दो महीने बाद फिर कार्य की रफ्तार धीमी पड़ गई है। रफ्तार धीमी होने और डायवर्ट मार्ग पर सामान बिखरा होनेे से यातायात में परेशानी हो रही है। दिनभर धूल उड़ती है जिससे वाहन चालकों सहित राहगीरों को सांस लेने में तकलीफ होती है।

वाहनों के आवागमन और लोगों को राहत देने के लिए के लिए सरकार द्वारा शामगढ़ रेलवे क्राॅसिंग गेट नंबर-46 पर थ्री-वे ओवरब्रिज का निर्माण करवाया जा रहा है। यह शामगढ़-सुवासरा अौर परासली दीवान रोड़ को जोड़ते हुए करीब 28 करोड़ की लागत निर्माणाधीन हैं। ब्रिज निर्माण अक्टूबर 2016 में शुरू होने के बाद भू-अर्जन की अड़चनों के कारण कुछ महीने काम चलने के बाद रुक गया था। नवंबर 2017 में एक बार फिर निर्माण शुरू हुआ। इसमें तो कार्य तेजी से चला और परासली रोड साइड पर ब्रिज के 12 स्लैब (पिलर) में से अधूरे पड़े 7 स्लैब का कार्य होने के बाद 8वें स्लैब का कार्य महीने भर से धीमा है। इसी प्रकार शामगढ़-सुवासरा रोड है कि, मुख्य रोड को अाधे से ज्यादा खोदकर कार्य किया जा रहा है। ऐसे में रोड के शेष 25 फीसदी हिस्से के साथ कच्चे रास्ते में से यातायात डायवर्ट किया है। कच्चा रास्ता होने के साथ साइड में निर्माण कार्य मटेरियल बिखरा पड़ा होने से यातायात के दौरान आवागमन में परेशानी हो रही है।

लोगों द्वारा कई बार शिकायत के बावजूद ठेकेदार द्वारा डायवर्ट मार्ग को सही नहीं किया जा रहा है। मुख्य मार्ग होने से 24घंटे यातायात रहता है। कार्य स्थल पर सड़क की दूसरी ओर जहां से मार्ग डायवर्ट किया है। पास में ही तहसील कार्यालय होने के साथ बीएसएनएल व बिजली कंपनी का कार्यालय भी है। साथ ही श्मशान भी कुछ ही दूरी पर है। ऐसे में ब्रिज निर्माण कार्य की धीमी गति और डायवर्ट रोड पर बिखरे सामान के कारण वाहन चालकों के साथ आम लोग भी परेशान हैं।


निर्माण सामग्री की कमी के कारण कार्य धीमा हुआ


राह होगी आसान

शामगढ़, सुवासरा और परासली दीवान से जुड़े करीब 42 गांवों की राह आसान हाेगी। इससे राजस्थान के डग, बड़ोद होकर मप्र के आगर से इंदौर, उज्जैन, भोपाल की राह आसान होगी। इस तरफ जाने वाले को शामगढ़ से मंदसौर, जावरा और रतलाम नहीं जाना पड़ेगा और सीधे थ्री-वे ब्रिज पार कर निकल जाएंगे। बोलिया, सिलेगढ़ होकर कोटा तरफ की राह भी आसान होगी।

शामगढ़-सुवासरा रोड पर ब्रिज निर्माण में स्लैब की नींव भराई नहीं हुई।

एक नजर में

लागत :
28 करोड़ रुपए

कुल लंबाई : डेढ़ किमी

चौड़ाई : 12 मीटर

पाथवे चौड़ाई : 3-3मीटर

डिवाईडर चौड़ाई : डेढ़ फीट

शिकायत के बाद भी डायवर्ट रोड पर ध्यान नहीं दिया


X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..