Hindi News »Madhya Pradesh »Garoth» एसडीएम की गाड़ी के सामने लेटे सफाई कामगार, बोले- नियमितिकरण के 10-10 हजार रु. मांग रहे

एसडीएम की गाड़ी के सामने लेटे सफाई कामगार, बोले- नियमितिकरण के 10-10 हजार रु. मांग रहे

नगर परिषद के सफाई कामगार नियमितिकरण की मांग को लेकर एसडीएम की गाड़ी के सामने लेट गए। मंगलवार को जब कलेक्टर ओ.पी....

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 21, 2018, 04:05 AM IST

एसडीएम की गाड़ी के सामने लेटे सफाई कामगार, बोले- नियमितिकरण के 10-10 हजार रु. मांग रहे
नगर परिषद के सफाई कामगार नियमितिकरण की मांग को लेकर एसडीएम की गाड़ी के सामने लेट गए। मंगलवार को जब कलेक्टर ओ.पी. श्रीवास्तव गरोठ एसडीएम कार्यालय में जनसुनवाई के बाद जा रहे थे, तब कर्मचारियों ने मांग को लेकर यह कदम उठाया।

कलेक्टर की गाड़ी पीछे थी, ऐसे में आगे चल रही एसडीएम की गाड़ी के सामने कर्मचारी लेट गया और एक महिला सफाईकर्मी खड़ी हो गई। यह देख एसडीएम आरपी वर्मा ने कहा कि अापकी बात सुनने आ रहे हैं, फिर यह तरीका अच्छा नहीं। आप अपनी बात रखे। ऐसा करने से क्या होगा। तब कामगार कलेक्टर ओपी श्रीवास्तव के पास पहुंचे और मांग रखी। कामगारों का आरोप था कि उज्जैन से हमें नियमितिकरण के आदेश आ गए हैं लेकिन नगर परिषद अध्यक्ष अनोख पाटीदार व पीआईसी सदस्य पालन नहीं कर रहे। नप का दरोगा रामपाल नरवाल कहता है कि मेरी अध्यक्ष व पीआईसी सदस्यों से बात हो गई है। 10-10 हजार रुपए लेकर अा जाओ, सभी को नियमितिकरण का अादेश दिलवा दूंगा। कलेक्टर ने कहा ऐसा नहीं कर सकते, नियमितिकरण के आदेश के बारे में उज्जैन से पता करता हूं, साथ ही सीएमओ से जानकारी मंगवाता हूं। आपको किसी को भी रुपए देने की जरूरत नहीं है। इसके बाद सफाई कामगार माने।

एसडीएम कार्यालय में जनसुनवाई के बाद लौट रहे अधिकारियों के सामने लगाई गुहार

नगर परिषद गरोठ के सफाई कामगार सहित अन्य अस्थायी कर्मचारी नियमितिकरण की मांग लंबे समय से कर रहे हैं। मंगलवार को नप की पीआईसी (प्रेसिडेंट इन काउंसिल) व परिषद की बैठक में 22 सफाई कामगारों सहित अन्य कर्मचारियों को नियमितिकरण के प्रस्ताव को रखकर पास करने का मांग करने कार्यालय पहुंचे थे। जहां सफाई कामगार मनोहर घाटोड़, कालूरा अडोलिया, दौलतराम नरवाल, सुरेश पंवार सहित अन्य कामगारों ने अध्यक्ष अनाेख पाटीदार व अध्यक्ष पति दिनेश पाटीदार से प्रस्ताव रखकर पास करने की मांग की। अध्यक्ष ने सीएमओ से चर्चा कर आगामी बैठक में नियमानुसार प्रस्ताव रखने की बात कही। कुछ देर बहस के बाद सफाई कामगार कार्यालय के बाहर ही नाराजगी जाहिर करते रहे। परिसर में पत्रकारों से चर्चा करते हुए नियमितिकरण को लेकर अध्यक्ष व पीआईसी सदस्यों के नाम पर दरोगा रामपाल नरवाल द्वारा 10-10 हजार रुपए मांगने के आरोप लगाए। इस दौरान सफाई कामगारों और दरोगा रामपाल नरवाल के बीच आरोप-प्रत्यारोप को लेकर बहस भी हुई। इसके बाद सफाई कामगार कलेक्टर श्रीवास्तव को और नियमितिकरण की मांग और नप अध्यक्ष व पीआईसी सदस्यों द्वारा आदेश पर अमल नहीं करने और दरोगा द्वारा रुपए की मांग पर कार्रवाई को लेकर ज्ञापन देने पहुंचे। दोपहर करीब 2.30 बजे जब कलेक्टर श्रीवास्तव जनसुनवाई के बाद जाने लगे तो एसडीएम व कलेक्टर की गाड़ी के सामने लेट गए। इस दौरान सफाई कामगार दौलतराम, राजूलाल, इंदिराबाई, लीलाबाई, कौशल्याबाई, बबलीबाई सहित अन्य कामगार उपस्थित थे।

एसडीएम की गाड़ी के बाद सफाई कामगार कलेक्टर की गाड़ी के सामने बैठ गए।

मुझ पर जो आरोप लगाए जा रहे हैं, वे निराधार

मेरी जानकारी में नहीं है कौन मेरे नाम से रुपए मांग रहा है। यदि कोई ऐसा कर रहा है तो संबंधितों को मुझे बताने के साथ अारोप से संबंधित सबूत देना चाहिए। नियमितिकरण संबंधी प्रस्ताव के लिए सीएमओ को कहकर नियमानुसार कार्रवाई कर पीआईसी या परिषद की बैठक में रखना है। उसे रखने के लिए कहेंगे। मुझ पर या पीआईसी सदस्यों पर जो आरोप लगाए जा रहे हैं, वे निराधार हैं। अनोख दिनेश पाटीदार, अध्यक्ष नगर परिषद गरोठ

जानकारी निकलवाता हूं

नियमितिकरण के आदेश को लेकर जानकारी निकलवाता हूं। सीएमओ से समय सीमा में नियमितिकरण आदेश के संबंध में जानकारी देने ने निर्देश दिए हैं। अन्य आरोपों के बारे में भी जानकारी लेंगे। ओपी श्रीवास्तव, कलेक्टर मंदसौर

अधिकार नहीं तो कैसे करूंगा

सफाई कामगार निराधार आरोप लगा रहे हैं। मेरे अधिकार क्षेत्र में ही नहीं है तो मैं कैसे बात करूंगा। रामपाल नरवाले, दरोगा नगर परिषद गरोठ

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Garoth

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×