• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Garoth
  • तीर्थ स्थलों को पर्यटन स्थल बना दिया, अब वहां के होटलों में मांस मंदिरा परोसी जा रही है : सोमगिरी
--Advertisement--

तीर्थ स्थलों को पर्यटन स्थल बना दिया, अब वहां के होटलों में मांस-मंदिरा परोसी जा रही है : सोमगिरी

Dainik Bhaskar

Jan 16, 2018, 04:35 AM IST

Garoth News - आदिगुरु शंकराचार्य की धातु प्रतिमा निर्माण के लिए धातु संग्रहण एवं जनजागरण के उद्देश्य से जिले में भ्रमण कर रही...

तीर्थ स्थलों को पर्यटन स्थल बना दिया, अब वहां के होटलों में मांस-मंदिरा परोसी जा रही है : सोमगिरी
आदिगुरु शंकराचार्य की धातु प्रतिमा निर्माण के लिए धातु संग्रहण एवं जनजागरण के उद्देश्य से जिले में भ्रमण कर रही एकात्म यात्रा गरोठ में शहीद चौक पर धर्मसभा में शामिल होने आसपास के गांवों से भी हजारों लोग पहुंचे। फोटो भास्कर

भास्कर संवाददाता | गरोठ

आदिगुरु शंकराचार्य की धातु प्रतिमा निर्माण के लिए धातु संग्रहण एवं जनजागरण के उद्देश्य से शुरू हुई एकात्म यात्रा सोमवार को एसडीएम कार्यालय से नगर प्रवेश हुआ। शहरी व ग्रामीण क्षेत्र से आई दो हजार से ज्यादा महिलाएं व युवतियां कलश सिर पर लिए चल रही थीं। दो किमी का सफर तयकर यात्रा पुराने बस स्टैंड स्थित शहीद चौक पहुंचकर धर्मसभा के रूप में परिवर्तित हुई। 150 से ज्यादा स्थानों पर पुष्पवर्षा की गई।

भानपुरा से गरोठ पहुंचीं यात्रा का रास्ते में ग्रामीण क्षेत्रों में स्वागत किया। नगर प्रवेश के पहले भानपुरा रोड़ स्थित सरस्वती शिशु मंदिर पर यात्रा का स्वागत किया। संतों ने स्कूल में आयोजित कार्यक्रम में बच्चों को संबोधित किया। पूर्व नपाध्यक्ष व संस्था के राजेश चौधरी, राजेश सेठिया सहित विद्यार्थियों ने स्वागत किया। यात्रा एसडीएम कार्यालय चौराहा पहुंची जहां से बैंडबाजों और ठोल-ढमाकों के साथ कलश यात्रा के रूप में शुरू हुई। यात्रा में सरस्वती शिशु मंदिर का घोष बैंड चल रहा था। पीछे लाल-पीली साडियां पहन महिलाएं व युवतियां कलश लिए कतार बंद चल रही थीं। कई महिलाएं व युवतियां घर से कलश सजाकर लाई थीं। संत रथ पर सवार थे, जबकि बड़े खुले रथ में कलश व आदि शंकराचार्य जी चरण पादुका रखी थी। उनका जगह-जगह महिलाओं ने परिवार सहित पूजन किया। रथ पर सांसद सुधीर गुप्ता, विधायक चंदरसिंह सिसौदिया, जिला पंचायत अध्यक्ष प्रियंका गोस्वामी, भाजपा जिलाध्यक्ष देवीलाल धाकड़, यात्रा प्रभारी मदनलाल राठौर, तहसील यात्रा प्रभारी राजेंद्र जैन, भाजपा नगर मंडल अध्यक्ष राजेश सेठिया, महेंद्र चौधरी, किसान मोर्चा जिला महामंत्री दिनेश पाटीदार, चंद्रप्रकाश पंडा आदि सवार थे। यात्रा दो किमी लंबा सफर तय कर पुराना बस स्टैंड शहीद चौक पर धर्मसभा के रुप में परिवर्तित हुई। धर्मसभा स्वामी सोमगिरीजी, स्वामी भूमानंदजी सहित जनप्रतिनिधि और गणमान्यजन मंचासीन थे। मंच पर कन्या पूजन किया।

गरोठ में शहीद चौक पर धर्मसभा में उपस्थित महिलाएं जयकारे लगाते हुए।

एकात्म यात्रा में राष्ट्र निर्माण की शपथ दिलाई

स्वामी सोमगिरी ने कहा तीर्थ स्थलों को पर्यटन स्थल बना दिया और वहां होटलों में मांस-मंदिरा परोसी जा रही हैं। देश को पर्यटन मंत्रालय नहीं तीर्थाटन मंत्रालय की जरूरत है। स्वागत भाषण विधायक चंदरसिंह सिसौदिया ने दिया। सांसद गुप्ता ने उपस्थितजन को एकात्मभाव से राष्ट्रनिर्माण की शपथ दिलवाई। आभार यात्रा प्रभारी मदनलाल राठौर ने व्यक्त किया। संचालन इतिहासविद् डॉ. पीके भट्ट व जिला योजना अधिकारी जेके जैन ने किया। जिला पंचायत सदस्य रचना-चंद्रप्रकाश पंडा, जनअभियान परिषद प्रदेश अध्यक्ष प्रदीप पांडे, नपाध्यक्ष अनोख पाटीदार, भानपुरा नपाध्यक्ष रेखा मांदलिया, युवा मोर्चा मंडल अध्यक्ष विनोद ग्वाला मौजूद थे। एसडीएम आरपी वर्मा, एडिशनल एसपी डॉ. इंद्रजीत बाकलीवाल, एसडीओपी बीएस सिसौदिया, टीआई प्रतिक राय, नपा सीएमओ बनेसिंह सोलंकी सहित प्रशासनीक अधिकारी उपस्थित थे।

एकात्म यात्रा के दौरान शामगढ़ में आयोजित धर्मसभा के दौरान एकात्मभाव से राष्ट्रनिर्माण की शपथ लेते व दिलवाते जनप्रतिनिधि व अतिथि। मंच पर कांग्रेस विधायक हरदीपसिंह डंग भी शपथ लेते हुए।

शामगढ़ में विधायक डंग ने यात्रा का किया स्वागत

शामगढ़/सुवासरा | एकात्म यात्रा के नगर पहुंचने पर डिंपल चौराहे पर नगर परिषद और कांग्रेस विधायक हरदीपसिंह डंग द्वारा यात्रा की अगवानी करते हुए स्वागत किया। यात्रा प्रमुख मार्गों से होते हुए शिव मंदिर चौराहा पहुंची। यहां सुवासरा रोड़ स्थित श्रीराम मंदिर पर धर्मसभा के रुप में परिवर्तित हुई। धर्मसभा को स्वामी सोमगिरी ने संबोधित किया। विधायक हरदीपसिंह डंग, पूर्व विधायक राधेश्याम पाटीदार, यात्रा जिलाप्रभारी मदनलाल राठौर, शामगढ़ यात्रा प्रभारी बलवंतसिंह पंवार, भाजपा मंडल अध्यक्ष सतीश खुराना, महिला मंडल अध्यक्ष शांता वेद, विहिप नगर अध्यक्ष गोपाल राठौर सहित जनप्रतिनिधी व भाजपाई उपस्थित थे। संचालन रतनलाल राठौर ने किया। धर्मसभा के बाद देरशाम यात्रा सुवासरा के लिए रवाना हुई, यात्रा सुवासरा होते हुए सीतामऊ पहुंची, जहां रात्रि विश्राम होगा।

X
तीर्थ स्थलों को पर्यटन स्थल बना दिया, अब वहां के होटलों में मांस-मंदिरा परोसी जा रही है : सोमगिरी
Astrology

Recommended

Click to listen..