गरोठ

  • Hindi News
  • Madhya Pradesh News
  • Garoth
  • पार्षदों ने 15 दिन का समय देकर 56 घंटे बाद एसडीएम के आश्वासन पर धरना किया समाप्त
--Advertisement--

पार्षदों ने 15 दिन का समय देकर 56 घंटे बाद एसडीएम के आश्वासन पर धरना किया समाप्त

भास्कर संवाददाता | शामगढ़/गरोठ स्वीकृत निर्माण के विकास सहित 7 सूत्रीय मांगों को लेकर 13 फरवरी से धरने पर बैठे...

Dainik Bhaskar

Feb 16, 2018, 04:55 AM IST
पार्षदों ने 15 दिन का समय देकर 56 घंटे बाद एसडीएम के आश्वासन पर धरना किया समाप्त
भास्कर संवाददाता | शामगढ़/गरोठ

स्वीकृत निर्माण के विकास सहित 7 सूत्रीय मांगों को लेकर 13 फरवरी से धरने पर बैठे भाजपा-कांग्रेस के 13 पार्षद 56 घंटे बाद 15 दिन का अल्टीमेटम देकर धरना समाप्त कर उठ गए। धरने पर बैठे पार्षदों से चर्चा करने के लिए एसडीएम आरपी वर्मा धरनास्थल पर शाम 6.40 बजे मिलने पहुंचे थे। पार्षदों और एसडीएम के बीच करीब एक घंटा चली चर्चा के बाद पार्षदों ने यह कहते हुए यदि निर्धारित अवधि में उनकी बात नहीं मानी गई तो वे फिर अांदोलन की राह पर चलेंगे।

नगर परिषद शामगढ़ के भाजपा व कांग्रेस 13 पार्षद 7 सूत्रीय मांगों को लेकर 13 फरवरी को सुबह 11 बजे से अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे थे। पार्षदों को मनाने के लिए नगर परिषद अध्यक्ष अर्जुन सोनी व सीएमओ सहित तहसीलदार प्रेमशंकर पटेल गए थे। पार्षद एसडीएम या कलेक्टर से चर्चा पर अड़े थे। गुरुवार देर शाम करीब 6.40 बजे एसडीएम आरपी वर्मा धरना स्थल पर पहुंचे। उनके साथ तहसीलदार प्रेमशंकर पटेल, सीएमओ गोविंद पोरवाल व नगर परिषद अध्यक्ष अर्जुन सोनी भी उपस्थित थे। कुछ देर बाद भाजपा जिला महामंत्री अजयसिंह चौहान भी पहुंच गए थे। करीब एक घंटा चली चर्चा के बाद सहमति बनी की नगर परिषद सभी पार्षदों से चर्चा कर स्वीकृत कार्यों की प्राथमिकता तय कर वर्क आॅर्डर जारी किए जाएंगे। इसके लिए 26 फरवरी को परिषद की बैठक आयोजित की कार्यों को स्वीकृति दी जाए। चर्चा में एसडीएम आरपी वर्मा ने कहा प्रोसिडिंग की काॅपी तत्काल दी जाएगी, यदि प्रोसिंडिंग में बदलाव किया जाता है तो पार्षद सबूतों के साथ एसडीएम को शिकायत करें। शिकायत पर जांच कर एसडीएम अधिकारों का उपयोग करते हुए धारा 467, 468 के तहत संबंधित के खिलाफ कार्रवाई करेंगे। सूचना के अधिकार के तहत जानकारी नहीं दी जाती है तो पार्षद सहित जानकारी मांगने वाला अपीलीय अधिकारी को अपील करें, ताकि कार्रवाई हो सके। यदि कोई धमकी देता है तो उसके खिलाफ पुलिस में प्रकरण दर्ज करवाए। पार्षदों ने धरना समाप्त करने के पहले एसडीएम वर्मा से यदि 15 दिन में उनकी मांगों पर अमल शुरू नहीं होता है, तो वे फिर आंदोलन शुरू करेंगे।

जो भी घटिया निर्माण हुए उनकी आरईएस के अधिकारी करेंगे जांच

धरने पर बैठे पार्षदों से चर्चा करते एसडीएम वर्मा, भाजपा जिला महामंत्री चौहान, तहसीलदार पटेल व अन्य।

यह पार्षद बैठे थे धरने पर

भाजपा पार्षद : नगर परिषद उपाध्यक्ष व वार्ड-2 के पार्षद दीपक जांगड़े, वार्ड-3 मंजुला-निर्मल पाटीदार, वार्ड-5 महेंद्र कालरा, वार्ड-6 हेमलता र|ावत, वार्ड-10 माया राठौर, वार्ड-12 अनिल खन्ना धरने पर बैठे हैं। जबकि वार्ड-8 की भाजपा पार्षद मंगला संघवी ने धरने से दूरी बना रखी हैं। वहीं वार्ड-1 की सीट भाजपा पार्षद गोपी मालवीय के निधन के कारण रिक्त हैं।

कांग्रेस पार्षद : वार्ड-4 गोपाल पटेल, वार्ड-7 साधना मेहता, वार्ड-9 नीलेश संघवी, वार्ड-11 दिलशाद मेव, वार्ड-13 रईस अब्बासी, वार्ड-14 सविता सत्संगी, वार्ड-15 निखत बी।

कार्य को प्राथमिकता से करने के निर्देश दिए


नगर परिषद द्वारा जो भी घटिया निर्माण कार्य करवाएं है, उनकी जांच आरईएस विभाग करेंगा। एसडीएम वर्मा ने पार्षदों से कहां कि वे जल्द ही आरईएस विभाग के अधिकारी और दो इंजीनियर जांच करेंगे। जांच टीम पार्षदों से संपर्क करेंगी।

X
पार्षदों ने 15 दिन का समय देकर 56 घंटे बाद एसडीएम के आश्वासन पर धरना किया समाप्त
Click to listen..