• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Garoth
  • नए सत्र में एप से लगेगी 1500 स्कूलों के शिक्षकों और विद्यार्थियों की हाजिरी
--Advertisement--

नए सत्र में एप से लगेगी 1500 स्कूलों के शिक्षकों और विद्यार्थियों की हाजिरी

जिले के 1500 प्राथमिक, माध्यमिक स्तर के शासकीय स्कूलों में नए शैक्षणिक सत्र 2018-19 में शिक्षकों और छात्रों की उपस्थिति...

Danik Bhaskar | Feb 04, 2018, 05:20 AM IST
जिले के 1500 प्राथमिक, माध्यमिक स्तर के शासकीय स्कूलों में नए शैक्षणिक सत्र 2018-19 में शिक्षकों और छात्रों की उपस्थिति विभाग के नए एप के जरिए लगेगी। एप के फीचर्स में वेतन पर्ची, छुट्‌टी आवेदन, शिकायत से लेकर पुस्तक, गणवेश तक का डिटेल शामिल रहेगा।

एप के अपडेट वर्जन से न सिर्फ शिक्षकों की निगरानी होगी बल्कि विद्यार्थियों की उपस्थिति से लेकर आरटीई, छात्रवृत्ति योजना आदि शामिल रहेगा। खासकर स्कूल समय पर ना पहुंचने, जल्द चले जाने, अनुपस्थिति जैसे मामले ट्रेस करने में मदद मिलेगी। लाेक शिक्षण संचालनालय 1 अप्रैल से राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र (एनआईसी) भाेपाल की ओर से तैयार किए एम शिक्षा मित्र मोबाइल एप के जरिए कर्मचारियों व शिक्षकों के साथ ही बच्चों की उपस्थिति ऑनलाइन दर्ज करेगा। प्रभारी डीईओ आरएल कारपेंटर का कहना है शासन के आदेश मुताबिक नए सत्र से एप डाउनलोड करना होगा। इससे विभाग की सभी जानकारियां ऑनलाइन मिल जाएंगी।

नया नियम

एप के फीचर्स में वेतन पर्ची, छुट्‌टी आवेदन, पुस्तक-गणवेश शामिल रहेंगे

पायलेट प्रोजेक्ट के रूप में लागू किया था

दरअसल शासन ने एम शिक्षा मित्र पायलेट प्रोजेक्ट के रूप में 2015 में लागू किया था। शिक्षक संगठनों ने उस वक्त जीपीएस व लोकेशन नेटवर्क परेशानी को लेकर विरोध किया था। कई खामियों के कारण इसे बंद करना पड़ा था। इस दौरान मांग भी उठी थी कि शिक्षकों को इंटरनेट व मोबाइल खर्च दिया जाए। वर्तमान में जिले में सूचनाएं भेजने के लिए संकुल स्तर से स्कूलों तक पत्राचार करना पड़ता है। मंदसौर ब्लाॅक हो या फिर मल्हारगढ़, सीतामऊ, गरोठ या भानपुरा। सभी में पत्राचार के कारण व्यवस्था पालन में विलंब लगता है। तुलनात्मक एप के जरिए कामों में सुविधा रहेगी। सूचनाओं का आदान-प्रदान आसानी से हो जाएगा और जिला मुख्यालय तक की दूरी भी बाधा नहीं बनेगी।

नए फीचर्स में ये खास