Hindi News »Madhya Pradesh »Garoth» बिजली कंपनी कर्मचारी को जान से मारने की धमकी देने का केस दर्ज

बिजली कंपनी कर्मचारी को जान से मारने की धमकी देने का केस दर्ज

गरोठ जनपद अध्यक्ष भगवानसिंह चंद्रावत के खिलाफ जिस बिजली कंपनी कर्मचारी ने शासकीय कार्य में बाधा व जान से मारने की...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 04, 2018, 05:20 AM IST

गरोठ जनपद अध्यक्ष भगवानसिंह चंद्रावत के खिलाफ जिस बिजली कंपनी कर्मचारी ने शासकीय कार्य में बाधा व जान से मारने की धमकी देने का केस दर्ज करवाया था। उसी धनीराम के खिलाफ पुलिस थाना गरोठ ने एरिया के किसान दिलीपसिंह की रिपोर्ट पर मारपीट आैर जान से मारने की धमकी देने का केस दर्ज किया हैं। शुक्रवार को ग्रामीणों ने एसडीएम को खिलाफ अवैध वसूली, अनियमितता सहित गंभीर आरोप लगाते हुए ज्ञापन सौंपा था।

बरखेड़ा गंगासा विद्युत वितरण केंद्र के एफओसी पर लाइन परिचायक (संविदा) धनीराम कुशरे अौर जनपद अध्यक्ष भगवानसिंह चंद्रावत के बीच विवाद ने नया माेड़ ले लिया है। 31 जनवरी को जनपद अध्यक्ष और बिजली कर्मचारी के बीच हुए विवाद का आॅडियो लीक होने और पुलिस में बिजली कर्मचारियों द्वारा जनपद अध्यक्ष के खिलाफ कायमी करने को लेकर आवेदन देने के बाद से ही दोनों पक्षों के बीच तनातनी बढ़ गई थी। 1 जनवरी को पुलिस थाना गरोठ ने जनपद अध्यक्ष चंद्रावत के खिलाफ रास्ता रोककर शासकीय कार्य में बांधा और जान से मारने की धमकी देने का प्रकरण दर्ज किया। उसके बाद से ही बरखेड़ा गंगासा सहित आस-पास के ग्रामीण और जिस किसान की विद्युत डीपी का कनेक्शन बंद करने को लेकर विवाद शुरू हुआ था। उक्त किसान सहित ग्रामीणों ने शुक्रवार को एसडीएम आरपी वर्मा और मप्रपक्षे विद्युत वितरण कंपनी लि के संभागीय यंत्री को विद्युत वितरण केंद्र बरखेड़ा गंगासा के कर्मचारियों के खिलाफ अनियमितता, लापरवाही, अवैध वसूली, विद्युत कर्मियों की मनमानी सहित अन्य आरोप लगाते हुए ज्ञापन सौंपा था। पुलिस थाना गरोठ ने शुक्रवार देर रात 11.27 बजे फरियादी किसान के आवेदन पर बिजली कर्मचारी के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया। फरियादी किसान दिलीपसिंह राजपूत(31) निवासी ग्राम एरिया ने रिपोर्ट दर्ज कराई कि गांव में नदी के पास विद्युत ट्रांसफार्मर लगा है, जिसे शासन की किसान अनुदान योजना अंतर्गत 10 हजार रुपए देकर लगवाने की बात आरोपी बरखेड़ा गंगासा विद्युत वितरण केंद्र पर पदस्थ लाइन परिचारक धनीराम पिता चैनसिंह से हुई थी। जिस पर मैंने धनीराम को 5 हजार रुपए दे दिए और राशि 5 हजार लेने के लिए धनीराम 30 जनवरी को मेरे खेत पर आया था। रुपए नहीं दे पाया तो उसने ट्रांसफाॅर्मर से मेरा कनेक्शन विच्छेद कर कुएं पर लगा स्टार्टर खोलकर ले जाने लगा और रोकने पर गालियां देने लगा और मारपीट करने लगा। जाते-जाते बोला कि 5 हजार रुपए ट्रांसफाॅर्मर के पहुंचा देना नहीं तो जान से खत्म कर दूंगा। पुलिस थाना गरोठ ने गाली-गलौज, मारपीट और जान से मारने की धमकी देने का प्रकरण दर्ज किया हैं। इस बारे में कर्मचारी धनीराम का कहना है गलत आरोप लगाकर प्रकरण दर्ज करवाया है।

विवेचना में लिया है

दिलीपसिंह राजपूत की रिपोर्ट पर धनीराम के खिलाफ धारा 294, 323, 506 आईपीसी के तहत प्रकरण दर्ज कर विवेचना में लिया है। प्रतीक राय, गरोठ पुलिस थाना प्रभारी

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Garoth

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×