Hindi News »Madhya Pradesh »Garoth» खड़ावदा व बोलिया रोड अतिक्रमण की चपेट में, बेतरतीब पार्किंग से भी परेशानी

खड़ावदा व बोलिया रोड अतिक्रमण की चपेट में, बेतरतीब पार्किंग से भी परेशानी

नगर को ग्रामीण व अन्य क्षेत्र से जोड़ने वाले प्रमुख मार्गों में खड़ावदा अौर बोलिया रोड हैं। दोनों ही 60 से 70 फीट चौड़े...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 28, 2018, 05:20 AM IST

नगर को ग्रामीण व अन्य क्षेत्र से जोड़ने वाले प्रमुख मार्गों में खड़ावदा अौर बोलिया रोड हैं। दोनों ही 60 से 70 फीट चौड़े हैं लेकिन सिंगल लेन होने से अतिक्रमण बढ़ता जा रहा है। किसी ने दुकानें लगा रखी हैं तो कहीं लकड़ियां और अन्य सामान रख मार्ग को घेर रखा है। बाकी जगह पर लोडिंग वाहनों की पार्किंग के कारण निकलना मुश्किल हो जाता है। इन मार्गों पर यात्री बसों से लेकर हर प्रकार के भारी और हल्के वाहनों का आवागमन रह समय रहता है। बावजूद नगर परिषद अौर पुलिस अतिक्रमण गंभीर नहीं है।

गरोठ-खड़ावदा महत्वपूर्ण रोड है। इसी मार्ग पर कृषि उपज मंडी से लेकर कॉलोनियां व रहवासी बस्तियां हैं। खड़ावदा व बरखेड़ा गंगासा, पठारी सहित 25 से ज्यादा छोटे-बड़े गांव होने से यातायात का दबाव रहता हैं। सिविल अस्पताल व पुलिस थाने के पास ही दुकानों व गुमटियों का अतिक्रमण शुरू होता है जो आगे करीब 200 मीटर तक है। हालात यह हैं कि करीब 60 फीट चौड़ा मार्ग होने के बावजूद वाहन चालकों को कई बार परेशानी होती है। सिंगल लेन सड़क होने के कारण दोनों तरफ लोगों व दुकानदारों ने अतिक्रमण कर रखा। कुछ जगह पर लकड़ियां बेचने वालों ने सड़क किनारे तक लकड़ियां रखी हैं। खाली जगह पर लोडिंग सहित अन्य वाहन खड़े हो जाते हैं। रहवासी मुन्नालाल पटेल, राजेंद्रसिंह ने बताया अतिक्रमण व बेतरतीब तरीके से खड़े होने वाले वाहनों को हटाने के लिए पुलिस व नगर परिषद के अधिकारियों को कह चुके हैं, कोई ध्यान नहीं देता है। क्षेत्र में कुछ जगह को छोड़कर सफाई पर ध्यान नहीं दिया जाता, नालियां तक समय पर साफ नहीं होती हैं। कई जगह तो सड़क पर गंदा पानी बहता रहता है।

रोड पर इस तरह आमने-सामने आ जाते हैं वाहन

खड़ावदा रोड पर सड़क के दाेनों तरफ अतिक्रमण कई बार जाम की स्थिति बनती है।

बोलिया रोड-रहवासी बस्ती क्षेत्र में बेतरतीब खड़े रहते वाहन

बोलिया रोड भी काफी व्यस्त मार्ग है। शामगढ़ नाका से अंजनी नदी तक को रहवासी बस्ती अौर व्यापारिक क्षेत्र है। उसके बाद औद्योगिक क्षेत्र, मॉडल स्कूल, रेलवे स्टेशन के साथ ही पावटी व बाेलिया जैसे बड़े ग्रामीण क्षेत्र होने के साथ 20 से ज्यादा ग्रामीण क्षेत्र जुड़े हैं। बोलिया राजस्थान की सीमा से जुड़ा क्षेत्र होने के कारण भी यह मार्ग यातायात की दृष्टि से व्यस्ततम मार्ग है। करीब 70 फीट चौड़ा मार्ग होने के साथ कही सिंगल तो कही डबल लेन सड़क है। बावजूद अतिक्रमण पसरा है। दिन और शाम होते ही शामगढ़ नाका से अंजनी नदी के बीच मार्ग में कई जगह भीड़ लगी रहती है। अतिक्रमण होनेे से वाहन सड़कों पर खड़े हो जाते हैं। कई बार तो दोपहिया वाहन निकालने में भी विवाद की स्थिति बन जाती हैं। दो महीने पहले इसी मार्ग पर हाथ ठेला चालक मजदूर की मौत वाहन की टक्कर से हो गई थी। रहवासी अंबालाल माली, रघुनाथसिंह ने बताया संवेदनशील क्षेत्र होेने के बाद भी प्रशासन द्वारा ध्यान नहीं दिया जाता हैं।

अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई करेंगे

नगर में अतिक्रमण हटाने के लिए समय-समय पर कार्रवाई करते हैं। कई बार सामान भी जब्त करते हैं, लेकिन लोग फिर से अतिक्रमण कर लेते हैं। जल्द ही पुलिस के साथ चर्चा कर संयुक्त अभियान चलाएंगे। बनेसिंह सोलंकी, सीएमओ नगर परिषद गरोठ

पहले तो समझाएंगे फिर चालान बनेंगे

शामगढ़-भानपुरा मार्ग पर पार्किंग करने वाले वाहन चालकों को समझाइश देकर हटवाया जा रहा हैं। खड़ावदा व बोलिया रोड पर भी इसी प्रकार की स्थिति है तो कार्रवाई करेंगे। पहले समझाएंगे नहीं माने तो चालानी कार्रवाई करेंगे। बीएस सिसौदिया, एसडीओपी गरोठ

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Garoth

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×