Hindi News »Madhya Pradesh »Garoth» गरोठ को जिला बनाने चरणबद्ध अांदोलन चलाने का निर्णय

गरोठ को जिला बनाने चरणबद्ध अांदोलन चलाने का निर्णय

गरोठ को जिला बनाने के लिए फिर नगर में सक्रियता दिख रही है। एक महीने से नगर के युवा जिला बनाने की मांग को मूर्तरूप...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 27, 2018, 06:05 AM IST

गरोठ को जिला बनाने के लिए फिर नगर में सक्रियता दिख रही है। एक महीने से नगर के युवा जिला बनाने की मांग को मूर्तरूप देने के लिए अपने स्तर पर एकजुट होने लगे थे। रविवार रात प्रबुद्धजन व युवाओं की बैठक श्री सत्यनारायण मंदिर परिसर में हुई। इसमें सभी ने एक स्वर में विकास के क्षेत्र में लगातार पिछड़े रहे क्षेत्र के विकास के लिए गरोठ को जिला बनाने की बात कहते हुए चरणबद्ध आंदोलन शुरू करने का निर्णय लिया। तय किया कि आंदोलन शांतिपूर्ण और सभी को साथ में लेकर चलेगा। किसी भी प्रकार का राजनीतिक रंग नहीं दिया जाएगा आैर कोई भी श्रेय लेने के लिए एेसा प्रचार-प्रसार नहीं करेगा जिससे आंदोलन की राह में रुकावट आए।

प्रबुद्धजन व युवाओं की बैठक में हुई कई मुद्दों पर चर्चा, दिखाई एकजुटता, प्रति रविवार को समीक्षा बैठक, पहले चरण में जनप्रतिनिधियों को देंगे ज्ञापन

लोगों ने तय किया- आंदोलन को राजनीति से दूर रखकर बनाएंगे सफल

पुराना बस स्टैंड के समीप स्थित श्री सत्यनारायण मंदिर परिसर में रविवार 11 बजे तक चली बैठक में निर्णय लिया कि आंदोलन के तहत पहले स्थानीय जनप्रतिनिधियों को ज्ञापन के माध्यम से सूचना देकर मांग रखी जाएगी। उसके बाद आगामी रूपरेखा बनाई जाएगी। बैठक में उपस्थित नागरिकों द्वारा यह भी तय किया कि आंदोलन को विशेषकर राजनीति से दूर रखा जाकर सभी मिलकर सफल बनाएंगे। बैठक में जिला पंचायत सदस्य अंशुल बैरागी ने कहा कि गरोठ को जिला बनाने की मांग जायज व न्याय संगत है। जिला बनने पर ही इस क्षेत्र का विकास संभव है। जिला बनने पर यहां पर सभी विभागों के कार्यालय होंगे जिससे छोटे-छोटे कामों के लिए करीब 150 किलोमीटर का सफर क्षेत्रवासियों को नहीं करना पड़ेगा। जिला बनने से समय व धन की बचत होगी। गरोठ को जिला बनाने के लिए सभी राजनीति व जातिवाद से ऊपर उठकर काम करें ताकि क्षेत्र का पूर्ण विकास हो सके। वरिष्ठ अधिवक्ता डी.पी. मिश्रा ने कहा कि वर्ष 2003 में तत्कालीन प्रदेश सरकार ने गरोठ को जिला बना दिया था जिसकी सारी कार्रवाई पूर्ण हो चुकी है। केवल कार्यालय नहीं खुले हैं और स्टाफ नहीं आया है। सामाजिक कार्यकर्ता जगदीश अग्रवाल ने कहा कि गरोठ को जिला बनाने के लिए ज्यादा से ज्यादा जनता को सक्रियता से आगे आना होगा, तभी जिला बन पाएगा। जिला पंचायत सदस्य राकेश यादव, पूर्व नगर परिषद अध्यक्ष कचरूलाल मगर, मनोज पाटीदार, कुलदीप छाजेड़ ने भी संबोधित किया। संचालन सुनील मिश्रा ने किया।

श्री सत्यनारायण मंदिर परिसर में गरोठ को जिला बनाने के लिए चर्चा करते प्रबुद्धजन व युवा।

गतिविधियों की समीक्षा कर बनाएंगे आंदोलन की रूपरेखा

गरोठ को जिला बनाने के संबंध में अब प्रत्येक रविवार को रात 8 बजे सत्यनारायण मंदिर में बैठक होगी। इसमें सप्ताह भर की गतिविधियों की समीक्षा करने के साथ आगामी आंदोलन की रूपरेखा तय की जाएगी। साथ ही निर्णय लिया गया कि गरोठ को जिला बनाने के लिए आंदोलन के प्रारंभ में क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों को ज्ञापन के माध्यम से अवगत कराया जाएगा।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Garoth

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×