• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Garoth
  • 487 हितग्राही पहली और वहीं 210 लोग तीसरी किस्त के लिए तीन महीने से परेशान
--Advertisement--

487 हितग्राही पहली और वहीं 210 लोग तीसरी किस्त के लिए तीन महीने से परेशान

प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत तीसरी किस्त नहीं मिलने से करीब 210 हितग्राही तीन महीने से नगर परिषद कार्यालय के...

Danik Bhaskar | Apr 17, 2018, 02:45 AM IST
प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत तीसरी किस्त नहीं मिलने से करीब 210 हितग्राही तीन महीने से नगर परिषद कार्यालय के चक्कर काट रहे हैं। नया घर बनाने के लिए अपने आशियाने को तोड़कर 6 महीने से कोई किराये के मकान में रह रहा हैं तो कोई झोपड़ी और पतरे की छत व कपड़ों के परदे लगाकर रहने को मजबूर है। हालात यह हैं कि हितग्राहियों ने दो किस्त और कुछ राशि अपने पास से मिलाकर नींव सहित चारों दीवारें तो खड़ी कर लीं। अब तीन महीने से छत डालने के लिए राशि का इंतजार कर रहे हैं। इधर, 487 हितग्राही ऐसे हैं जिन्हें पहली किस्त का इंतजार है। कई ने तो कच्चा घर जमींदोज कर नींव तक खोदकर रखी है। अब रुपए मिलने का इंतजार कर रहे हैं।

नगर परिषद द्वारा प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत प्रथम चरण में 210 हितग्राहियों का चयन कर 6 महीने पहले किस्त दी। इसके साथ ही हितग्राहियों ने आवास निर्माण शुरू कर दिया। दूसरी किस्त देरी से मिलने के बावजूद अधिकतर ने जमापूंजी तो किसी ने उधार लेकर नींव के बाद दीवारें खड़ी कर दीं। जगदीश खटीक, कचरूलाल प्रजापति, प्रकाश बागरी सहित अन्य हितग्राहियों ने कहा कि सोचा था अप्रैल तक काम पूर्ण कर नए घर में रहना शुरू कर देंगे इसीलिए जनवरी के पहले ही काम पूर्ण कर लिया और छत का काम बाकी था। इसके लिए नगर परिषद के इंजीनियर व अन्य अधिकारी निरीक्षण करके भी चले गए। बावजूद तीन महीने से तीसरी किस्त का इंतजार है। छत भरवाने के लिए कम से कम 50 हजार रुपए की आवश्यकता है।

दूसरे चरण के हितग्राहियों को एक रुपया भी नहीं मिला

सीएमओ से पीएम आवास की तीसरी किस्त की मांग करते हितग्राही।

खुले में ही रह रहे

खटीक मोहल्ला निवासी राजूबाई ने बताया किराये से कमरा लेने के लिए रुपए नहीं थे। घर के पास ही खाली जगह पर पतरे लगा आस-पास पुरानी चादर व कपड़ों से आड़ कर रहने लगे। वहीं रसोईघर बना रखा है। 6 महीने से परेशान हो रहे हैं, अब तक छत डालने के लिए राशि नहीं मिली।

किराया बकाया हो गया

हाट मैदान निवासी बालू ओढ, बोलिया रोड निवासी प्रकाश बागरी, कैलाश सोलंकी ने बताया वे किराये से परिवार के साथ रह रहे हैं। किस्तें नहीं मिल रहींं। हम में से कुछ का तो 2 से 3 महीने का किराया बकाया चल रहा है।

हितग्राहियों की किस्त स्वीकृति के लिए सूची भेज दी


नप ने तीन महीने पहले दूसरे चरण के लिए 487 हितग्राहियों का चयन किया था। इन्हें नींव खोदने के साथ ही पहली किस्त मिलना थी लेकिन अब तक एक भी रुपया उनके खातों में नहीं आया। हालात यह हैं कि बारिश के पहले पक्का मकान बनाने के लिए कई हितग्राही परिवारों ने पुराना कच्चा आशियाना तोड़ दिया और नए के लिए नींव तक खोदवा ली। मौका स्थल निरीक्षण हाेने के बाद भी इन परिवारों को पहली किश्त नहीं मिल पाई हैं। यह भी नगर परिषद के चक्कर काट रहे हैं।

हितग्राहियों ने बताई समस्या

तीसरी किस्त नहीं मिलने से नाराज हितग्राही व परिवार के सदस्य नगर परिषद नया बस स्टैंड व टंकी स्थित मुख्य कार्यालय पहुंचे। जहां सीएमओ बनेसिंह सोलंकी को किस्त न मिलने की शिकायत करने के साथ समस्या बताई।