• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Garoth
  • ठेकेदार बिजली पोल लाया, सुपरवाइजर ने लगाने से मना किया
--Advertisement--

ठेकेदार बिजली पोल लाया, सुपरवाइजर ने लगाने से मना किया

Dainik Bhaskar

Apr 08, 2018, 04:10 AM IST

Garoth News - भास्कर संवाददाता | मंदसौर/धुंधड़का धुंधड़का ग्राम पंचायत के ग्राम कुम्माखेड़ी में सामने आया है। ठेकेदार ने बिजली...

ठेकेदार बिजली पोल लाया, सुपरवाइजर ने लगाने से मना किया
भास्कर संवाददाता | मंदसौर/धुंधड़का

धुंधड़का ग्राम पंचायत के ग्राम कुम्माखेड़ी में सामने आया है। ठेकेदार ने बिजली कनेक्शन देने के लिए बिजली पोल लाकर रख दिए, इसके बाद भी सुपरवाइजर ने पोल लगाने से इनकार कर दिया है। इन हालातों में ग्रामीणों के घरों में अब भी बिजली पहुंचने का रास्ता साफ नहीं हो सका है। जबकि सौभाग्य योजना में बिजली कंपनी के अधिकारी कागजों में जिले को 100 फीसदी बिजली से रोशन क्षेत्र घोषित कर चुके हैं।

मंदसौर जिले के पांचों ब्लाॅकों में मंदसौर, गरोठ, सीतामऊ, गरोठ व भानपुरा क्षेत्र में बिजली कंपनी ने शासन को 100 फीसदी घरों तक बिजली पहुंचने का दावा रख अवाॅर्ड भी पाया था। हकीकत अब तक कोसाें दूर ही है। इस योजना में करीब 2 माह पहले धुंधड़का के कुम्माखेड़ी में ग्रामीणों के घर पर मीटर लगाए जा चुके थे लेकिन पोल और कनेक्शन ना होने से बिजली नहीं मिली थी, इसके बाद भी मीटर में खपत दर्शाई जा रही थी और मासिक बिल आने लगे थे। मामला ‘भास्कर’ ने प्रमुखता से उठाया था। इसके बाद अधिकारियों ने सुधार पर काम कराने की बात कही थी। सुपरवाइजर लक्ष्मीकांत शर्मा ने मीटर हटवा लिए थे। मामले के बाद ठेकेदार महावीर व्यास ने गांव में पाेल लगाने को लेकर आवश्यक सामग्री जुटा ली और कुम्माखेड़ी क्षेत्र में रखवाया लेकिन धमनार ग्रिड के सुपरवाइजर शर्मा ने काम आगे नहीं बढ़ाया। इससे रहवासियों में आक्रोश है।

काम रुकने से इस तरह पड़े हैं बिजली पोल

कुम्माखेड़ी में ठेकेदार द्वारा रखे बिजली पोल। फोटो- भास्कर

घरेलू के बजाय कुएं के नाम पर कनेक्शन दिए जा रहे- रहवासी मांगीलाल राठौर ने बताया शुरू में हमें 24 घंटे बिजली का दावा कर कनेक्शन देने का बोला था और मीटर लगाए थे लेकिन बिजली नहीं मिली। कुएं के बिजली का कनेक्शन देने की बात कही जा रही जबकि 24 घंटे बिजली की जरूरत है। राधेश्याम माली ने कहा कुएं का कनेक्शन लेकर क्या करेंगे, इस कनेक्शन में शाम को लाइट नहीं आती। कंपनी ने फिर से लापरवाही की है।

पोल लगाने को तैयार हूं, सुपरवाइजर ने मना किया


‘कुएं के लिए कनेक्शन देंगे, आपत्ति दर्ज कराएं


X
ठेकेदार बिजली पोल लाया, सुपरवाइजर ने लगाने से मना किया
Astrology

Recommended

Click to listen..