• Hindi News
  • Madhya Pradesh News
  • Garoth
  • समर्थन पर उपज बेच चुके 4000 किसानों को 12 हजार करोड़ रुपए मिलने का इंतजार
--Advertisement--

समर्थन पर उपज बेच चुके 4000 किसानों को 12 हजार करोड़ रुपए मिलने का इंतजार

नगरी के कचनारा सोसायटी में समर्थन मूल्य पर खरीदा जा रहा किसानों का गेहूं। इधर... समर्थन मूल्य पर सैंपल का ले रहे...

Dainik Bhaskar

Apr 27, 2018, 04:20 AM IST
समर्थन पर उपज बेच चुके 4000 किसानों को 12 हजार करोड़ रुपए मिलने का इंतजार
नगरी के कचनारा सोसायटी में समर्थन मूल्य पर खरीदा जा रहा किसानों का गेहूं।

इधर... समर्थन मूल्य पर सैंपल का ले रहे थे दो किलो,कांग्रेसजनों के हस्तक्षेप के बाद लेने लगे ढाई सौ ग्राम

नागरिक आपूर्ति निगम द्वारा जिले के 41 केंद्रों पर 15 मार्च से गुरुवार शाम तक की स्थिति में 7 लाख 97 हजार क्विंटल गेहूं खरीदा है। 15 हजार 512 किसानों ने उपज बेची। इस बार सरकारी मूल्य 1735 रुपए प्रति क्विंटल घोषित है। कुल रजिस्टर्ड किसानों की संख्या 31 हजार है। जिले के मंदसौर, गरोठ, सीतामऊ, मल्हारगढ़ और भानपुरा विकासखंड स्थित सभी 41 केंद्रों पर किसानों को जिला सहकारी बैंक से संबद्ध सोसायटियों और बैंकिंग शाखाओं के जरिए मैसेज मिल रहे और तय दिनांक स्टॉक लेकर केंद्रों पर पहुंच रहे। कचनारा केंद्र पर उपज बेच चुके किसान गोपाल धाकड़, ओमप्रकाश धाकड़ ने बताया भुगतान बैंक खातों में आ चुका है। इसके बाद कृषि ऋण काट शेष राशि हमें दे दी है। मामले में नागरिक आपूर्ति निगम के प्रबंधक डीके शर्मा ने बताया किसानों को नियमित भुगतान हो रहा है। भोपाल सर्वर की समस्या के बाद जिलास्तर पर मैसेज सिस्टम लागू होने के बाद से किसी तरह की परेशानी नहीं है।

पिपलियामंडी | खरीदी केंद्र पर समर्थन मूल्य पर खरीदे जाने वाले चना,मसूर और सरसों के सैंपल में दो-दो किलो लिया जा रहा था। गुरुवार को ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष कमलेश पटेल,पूर्व अध्यक्ष अनिल शर्मा,पूर्व मंडी अध्यक्ष बंशीलाल पाटीदार कृषि उपज मंडी स्थित खरीदी केंद्र पर पहुंचे। यहां किसानों से चर्चा की। किसानों ने बताया कि सैंपल के रूप में दो किलो उपज ली जा रही है। इससे नुकसान हो रहा है। कांग्रेस नेताओं ने जिम्मेदार अधिकारियों से चर्चा की। तब किसानों की समस्या का समाधान हुआ।

X
समर्थन पर उपज बेच चुके 4000 किसानों को 12 हजार करोड़ रुपए मिलने का इंतजार
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..