Hindi News »Madhya Pradesh »Garoth» अंसल नदी से पानी खींचने के लिए दो हजार फीट पाइप लाइन बिछाने के बाद भी नगर में जलसंकट

अंसल नदी से पानी खींचने के लिए दो हजार फीट पाइप लाइन बिछाने के बाद भी नगर में जलसंकट

नगर में पेयजल की आपूर्ति करने वाली चंबल और अंसल नदी में पानी किनारा छोड़ने के साथ काफी दूर जा चुका है। समय पर सही कदम...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 30, 2018, 05:30 AM IST

  • अंसल नदी से पानी खींचने के लिए दो हजार फीट पाइप लाइन बिछाने के बाद भी नगर में जलसंकट
    +2और स्लाइड देखें
    नगर में पेयजल की आपूर्ति करने वाली चंबल और अंसल नदी में पानी किनारा छोड़ने के साथ काफी दूर जा चुका है। समय पर सही कदम नहीं उठाने के कारण नगर परिषद का रोज समय पर पर्याप्त पानी देने का दावा फेल हो रहा है। हालात यह हैं कि नगर में कुछ क्षेत्रों को छोड़कर कहीं पर भी समय पर पानी सप्लाई नहीं हो रहा है। यही हालात रहे ताे आने वाले दिनों में नगर में पेयजल संकट गहराते हुए एक या दो दिन छोड़कर वितरण करने की स्थिति बन जाएगी।

    इस साल कम बारिश के कारण चंबल में पहले ही जल स्तर कम है। अब लगातार पानी घटता जा रहा है। इधर, नगर में पेयजल के लिए बर्रामा के बाद बंजारी स्थित अंसल नदी और 12 फुटिया कुएं से पानी आता है। इन दोनों स्थानों पर तो चंबल से ज्यादा हालात खराब थी। अब स्थिति बिगड़ने लगी है। अंसल नदी में पानी किनारे से 2 हजार फीट से ज्यादा दूर जा चुका है। अब सिर्फ गड्ढों में नजर आ रहा है। यह हालात नगर परिषद के जिम्मेदारों को मालूम होने के बाद भी समय पर नहीं चेते। खड़ावदा निवासी मनीष मोदी व नई आबादी निवासी नवीन सोलंकी ने बताया 15 दिन से ज्यादा समय से परेशान हो रहे हैं। पानी सप्लाई का कोई समय नहीं हैं, वह भी कम दिया जा रहा है। पीने का पानी और आधा ड्रम ही पानी भर पाता है और नल बंद हो जाते हैं। ऐसे में कैसे पूर्ति करें।

    मोटर डलवाकर पाइप से इंटकवेल तक पहुंचा रहे पानी

    नगर के लिए बर्रामा में चंबल के बाद पेयजल का दूसरा बड़ा स्रोत बंजारी स्थित अंसल नदी भी सूख चुकी है, नपा गड्ढे में भरे पानी को मोटर लगाकर खींच रही है।

    नई आबादी क्षेत्र में पानी के इंतजार में लोगों ने कहीं बर्तन तो कहीं ड्रम रख रखे हैं।

    विजय स्तंभ क्षेत्र में निजी टैंकर से पानी भरते लोग। इस तरह रोज मशक्कत होती है।

    बर्रामा नगर का करीब 77% पानी लिया जाता

    खड़ावदा रोड पर नगर से करीब 22 किमी दूर बर्रामा में चंबल नदी से नगर में खपत होने वाला 70 फीसदी पानी आता है। यहां इंटकवेल से पानी करीब 100 फीट दूर जा चुका है। नगर परिषद ने ठेकेदार से नदी में पानी की मोटर डलवाकर कर पाइप से पानी इंटकवेल तक पहुंचवाना शुरू किया। कुछ ही समय में पेयजल संकट और गहराने लगा तो एक और मोटर नदी में डलवाई और आज दो मोटर से पानी इंटकवेल में डालकर नगर में पहुंचाया जा रहा है। नप सूत्रों के अनुसार इतना जतन करने के बाद भी 70 फीसदी में से करीब 60 फीसदी पानी ही नगर तक आ रहा है।

    सुधार के लिए हरसंभव प्रयास कर रहे हैं, निर्देश देंगे

    जिले में नगर परिषद गरोठ ऐसी है जहां नियमित पानी वितरण हो रहा है। हम हरसंभव प्रयास कर रहे हैं कि नगर में रोज पानी मिले। अक्सर बिजली बंद होने के कारण सप्लाई का समय गड़बड़ा जाता है। वॉल्वमैन को निर्देश दे रखे हैं कि वह पानी में सप्लाई में देरी हो तो लोगों को बताएं। यदि ऐसा नहीं कर रहा है तो चर्चा कर फीडबैक लेकर निर्देश देंगे। ग्राम बंजारी में 2 हजार फीट पाइप लाइन बिछाई है ताकि इंटकवेल तक पानी ला सके। पानी का दुरुपयोग न हो इसके लिए जनता को जागरूक करेंगे।- बनेसिंह सोलंकी, सीएमओ नगर परिषद गरोठ

    बंजारी में असंल नदी से नगर में करीब 20 फीसदी पानी लेते हैं

    नगर से करीब 7 किमी दूर बंजारी में चंबल की सहायक अंसल नदी है। नगर में इसी नदी से पहले पानी आता था और नगर में खर्च होने वाले पानी में से 15 से 20 फीसदी आपूर्ति यहीं से होती है। सालों पुरानी हाेने से लाइन भी कई जगह से जर्जर हो रही है। इसका असर भी आपूर्ति पर पड़ता है। वर्तमान में जहां नपा का इंटकवेल बना है, वहां से पानी पूरी तरह उतर चुका है। गड्ढों में चंद दिनों का पानी भरा है आैर 2 हजार फीट से ज्यादा दूर नदी में पानी जा चुका है। नगर परिषद ने यहां करीब 2 हजार फीट पाइप लाइन बिछाकर नदी में पानी वाली जगह ले गई है। यह लाइन अब तक शुरू नहीं हो पाई है। ऐसे में ग्राम पंचायत बरखेड़ा लोया पंचायत क्षेत्र में पानी सप्लाई के लिए डाली गई, पाइप लाइन के माध्यम से पानी को नगर परिषद के इंटकवेल के समीप गड्ढे में छोड़कर पानी नगर तक पहुंचाया जा रहा हैं। इससे मुश्किल से 10 से 12 फीसदी पानी की आपूर्ति हो पा रही हैं।

  • अंसल नदी से पानी खींचने के लिए दो हजार फीट पाइप लाइन बिछाने के बाद भी नगर में जलसंकट
    +2और स्लाइड देखें
  • अंसल नदी से पानी खींचने के लिए दो हजार फीट पाइप लाइन बिछाने के बाद भी नगर में जलसंकट
    +2और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Garoth

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×