--Advertisement--

2500 मीटर सड़क बनाने पर मिल जाएगी शहर को रिंग रोड

गुना-अशोकनगर और गुना-आरोन-सिरोंज स्टेट हाईवे के भारी ट्रैफिक से शहर को मुक्ति दिलाने के लिए पिछले कुछ सालों से...

Dainik Bhaskar

Feb 01, 2018, 02:45 AM IST
2500 मीटर सड़क बनाने पर मिल जाएगी शहर को रिंग रोड
गुना-अशोकनगर और गुना-आरोन-सिरोंज स्टेट हाईवे के भारी ट्रैफिक से शहर को मुक्ति दिलाने के लिए पिछले कुछ सालों से रिंग रोड की मांग उठने लगी है।

मास्टर प्लान में भी इसे प्रस्तावित किया गया है। इसे एबी राेड बायपास टोल नाके से यातायात नगर के पीछे से होकर बनाए जाने की बात कही जाती रही है। इससे दोनों स्टेट हाईवे के वाहन शहर के बाहर से ही गुजर जाएंगे। पर इसमें एक बड़ी दिक्कत यह है कि इसके लिए बड़े पैमाने पर निजी जमीन के अधिग्रहण की जरूरत होगी। साथ ही वन भूमि का मसला भी आएगा। अब सामाजिक कार्यकर्ताओं ने एक ऐसा सुझाव दिया है, जिसके मुताबिक महज 2500 मीटर यानि ढाई किमी की सड़क बनाकर ही रिंग रोड का मकसद पूरा हो सकता है। गुना रिंग रोड आंदोलन ने यह प्रस्ताव प्रशासन को भी भेजा है। आंदोलन से जुड़े पुष्पराग ने बताया कि उनके द्वारा प्रस्तावित रिंग रोड विलोनिया, पिपरिया, सिंगवासा, मावन, खेजरा, मालपुर, विनायक खेड़ी, हड्डी मिल, बीजी रोड बायपास, चिंताहरण, होते हुए एबी रोड बायपास तक बनाई जा सकती है।

संगठन ने यह बनाया है रिंग रोड का खाका : संगठन के मुताबिक मावन, खेजरा, मालपुर, विनायक खेड़ी से हड्डी मिल तक पहले से ही कहीं कच्चा तो कहीं पक्का रास्ता मौजूद है। इसमें कुछ सुधार करके बेहतर रूप दिया जा सकता है। वहीं पूर्व-उत्तर में सिंगवासा से नई सराय तक रोड बना हुआ है। पिपरिया गांव को जोड़ने के लिए 2500 मीटर की एक सड़क बनाना है। इसके बनने के साथ ही रिंग रोड की कल्पना को भी पूरा किया जा सकता है। उत्तर पश्चिम में एबी रोड बायपास है और दक्षिण पश्चिम में बीजी रोड बायपास। इन दोनों जगहों पर ट्रैफिक को डायवर्ट करने से रिंग रोड की जरूरत को पूरा किया जा सकता है।

गुना विधायक ने रिंग रोड के लिए चलाई थी फाइल

विधायक पन्नालाल शाक्य ने रिंग रोड के लिए पिछले एक साल के दौरान कई बार प्रयास किए। प्रदेश सरकार को इसका प्रस्ताव भी भेजा जा चुका है। अब विधायक का कहना है कि दिल्ली से मंजूरी मिलने के बाद ही यह प्रोजेक्ट साकार हो पाएगा। बताया जाता है कि वन भूमि के मसले के कारण यह प्रोजेक्ट आसान नहीं होगा। पर अगर शहर को रिंग रोड मिल जाती है तो इससे न केवल अंदरूनी मार्गों पर ट्रैफिक का दबाव कम होगा, बल्कि शहर के विस्तार की शुरूआत भी होगी।

X
2500 मीटर सड़क बनाने पर मिल जाएगी शहर को रिंग रोड
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..