गुना

--Advertisement--

सड़क सुरक्षा में लाल या पीले रंग का होता है उपयोग

सड़क सुरक्षा में लाल या पीले रंग का होता है उपयोग गुना | नगर पालिका ने गुना-आरोन-सिरोंज स्टेट हाईवे के शहरी इलाके...

Danik Bhaskar

Apr 02, 2018, 03:05 AM IST
सड़क सुरक्षा में लाल या पीले रंग का होता है उपयोग

गुना | नगर पालिका ने गुना-आरोन-सिरोंज स्टेट हाईवे के शहरी इलाके में डिवाइडर बनाकर बीच में स्ट्रीट लाइट लगाने का काम शुरू कर दिया है पर उसकी इस योजना पर अब सवाल खड़े होने लगे हैं। स्ट्रीट लाइट्स के खंभे अभी लग ही रहे हैं और इनसे वाहनों के टकराने का सिलसिला शुरू हो गया है। इसका कारण संकरी सड़क और अवैध पार्किंग है। एक बड़ा कारण इन खंभों में केसरिया रंग पोता जाना है। रात में ये रंग बिल्कुल नहीं दिखता जबकि इसकी बजाय लाल या पीला रंग किया जाता तो लोगों को रात में भी खंभे दिखते। अब तक तीन खंभे या तो पूरी तरह उखड़ चुके हैं या फिर क्षतिग्रस्त हो गए हैं।

स्टेट हाईवे की 50 फीट चौड़ी सड़क के बीच में लगा दिए केसरिया रंग पुते खंभे, वाहन टकराने से तीन गिरे, दो टूटे

इन वजहों से हो रहे हैं हादसे

50 फीट चौड़ी है सड़क :
जिन हिस्सों में वाहनों की टक्कर हो रही है, वहां सड़क 50 फीट की है। बीच में खंभे लगने पर दोनों तरफ 25-25 फीट से भी कम जगह बचती है और स्टेट हाईवे होने से यहां से भारी वाहन यहां से निकलते हैं। उस पर आसपास अवैध पार्किंग के कारण वाहनों की आवाजाही के लिए रास्ता और कम रह जाता है। हाईवे होने की वजह से यहां से वाहन तेजी से निकलते हैं।

रंग को लेकर भी समस्या : यातायात पुलिस का कहना है कि खंभों पर पीला व सफेद रंग पाेता जाना चाहिए, जिससे कि लोग रात में इन्हें ठीक से देख पाएं। अभी खंबों को केसरिया रंग से पोता जा रहा है। जबकि सड़क सुरक्षा में इस रंग का इस्तेमाल नहीं होता है।

Click to listen..