• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Guna News
  • देहव्यापार की आरोपी थी गर्भवती कोर्ट के आदेश पर अबॉर्शन हुआ
--Advertisement--

देहव्यापार की आरोपी थी गर्भवती कोर्ट के आदेश पर अबॉर्शन हुआ

सेनेटरी पेड नहीं लेने पर शक हुआ तो जेल प्रबंधन ने कराई थी जांच भास्कर संवाददाता| गुना देहव्यापार में जिस युवती...

Danik Bhaskar | Apr 17, 2018, 02:55 AM IST
सेनेटरी पेड नहीं लेने पर शक हुआ तो जेल प्रबंधन ने कराई थी जांच

भास्कर संवाददाता| गुना

देहव्यापार में जिस युवती को आरोपी बनाया, वह भी ज्यादती का शिकार निकली। 3 माह का भ्रूण उसके गर्भ में पल रहा था। पीरियड पेड न लेने पर जेल प्रबंधन को शक हुआ तो पूरा मामला सामने आया। कोर्ट के आदेश पर युवती की सहमति से उसका अबॉर्शन कराया गया।

कैंट पुलिस ने देहव्यापार के अड्डे का भंडाफोड़ कर डेढ़ दर्जन महिला, पुरुष को आरोपी बनाकर जेल भेजा था। कैंट पुलिस का दावा था कि इस देहव्यापार मामले में कहीं न कहीं आरोपी शामिल थे। वहीं 19 वर्षीय युवती को भी देहव्यापार का आरोप के जेल भेजा था। वह 5 मार्च को जेल पहुंची। एक माह बाद जब उसने पीरियड (माहवारी) में सेनेटरी पेड नहीं लिए तो महिला कर्मी को शक हुआ, यह सूचना जेल प्रबंधक को दी गई। 2 अप्रैल को जिला अस्पताल भेजकर जांच कराई तो महिला को 13 सप्ताह का गर्भ था। इसके बाद भोपाल में वरिष्ठ अधिकारियों को सूचना भेजी गई। इस मामले में युवती के परिजनों को भी जेल प्रबंधन ने पूरे मामले से अवगत कराया। यह साफ हुआ कि महिला जब जेल आई थी उससे पहले ही ज्यादती का शिकार हुई थी।