गुना

--Advertisement--

चक्काजाम करने वाले 150 से ज्यादा लोगों पर केस दर्ज

मजिस्ट्रियल जांच शुरू, 2 मई को अपर कलेक्टर के समक्ष पेश कर सकते हैं साक्ष्य भास्कर संवाददाता| गुना लूट के कथित...

Dainik Bhaskar

May 01, 2018, 02:55 AM IST
मजिस्ट्रियल जांच शुरू, 2 मई को अपर कलेक्टर के समक्ष पेश कर सकते हैं साक्ष्य

भास्कर संवाददाता| गुना

लूट के कथित आरोप में पकड़े गए उमेश रघुवंशी के साथ मारपीट मामले की मजिस्ट्रियल जांच शुरू हो गई है। 2 मई को कोई भी व्यक्ति इस संबंध में साक्ष्य पेश कर सकता है। इसके विरोध में रघुवंशी समाज द्वारा चक्काजाम करने पर अब जाकर 150 से ज्यादा लोगों पर मामला दर्ज किया है।

उमेश रघुवंशी के साथ पुलिस द्वारा की कथित मारपीट मामले की मजिस्ट्रियल जांच अपर कलेक्टर एमएल कनेल द्वारा की जा रही है। इसके लिए साक्ष्य जुटाए जा रहे हैं, कोई भी व्यक्ति इस संबंध में सबूत पेश कर सकता है। घटना परिस्थिति, कारण, थाने में मारपीट संबंधित साक्ष्य, घायल को इलाज कब मिला, कौन-कौन जिम्मेदार थे आदि जानकारी जुटाई जाएगी। वहीं ऐसी घटनाएं फिर न हो इसके लिए सुझाव भी दिए जा सकते हैं। अपर जिला दंडाधिकारी के 2 मई को दोपहर 2 बजे इस संबंध में कथन और शपथ पत्र पेश किया जा सकता है। इसके अलावा कैंट थाने में 8 मई दोपहर 12 बजे भी साक्ष्य पेश किए जा सकते हैं।

मारपीट मामले में टीआई सहित 8 पर मामला दर्ज हुआ था

मुनीम के साथ हुई लूटपाट मामले में पूछताछ के लिए 19 मई को उमेश रघुवंशी उठाया था। उसके साथ कथित रूप से मारपीट की गई थी। मामला इतना गहराया कि डीआईजी को गुना आना पड़ा। रघुवंशी समाज की मांग पर टीआई आशीष सप्रे, सब इंस्पेक्टर पूजा घुरैया सहित 8 लोगों पर मारपीट की धारा में अपराध दर्ज कर निलंबित किया था।

राष्ट्रपति आने की वजह से पुलिस शांत थी

राष्ट्रपति गुना आ रहे थे, इस वजह से पुलिस हर मामले को शांत करने में लगी थी। अब जाकर चक्का जाम करने वाले रघुवंशी समाज के 150 से ज्यादा लोगों पर मामला दर्ज किया है।

X
Click to listen..