• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Guna
  • Guna - पेयजल योजना से छूटे शहर के हिस्से में सिंध का पानी लाने पुरानी लाइन से नई को जोड़ा
--Advertisement--

पेयजल योजना से छूटे शहर के हिस्से में सिंध का पानी लाने पुरानी लाइन से नई को जोड़ा

77 करोड़ की पेयजल योजना से छूटे हुए मोहल्लेे, काॅलोनी एवं बस्तियों को भी शामिल किया जाएगा। इसके लिए पुरानी लाइन से...

Dainik Bhaskar

Sep 13, 2018, 02:46 AM IST
Guna - पेयजल योजना से छूटे शहर के हिस्से में सिंध का पानी लाने पुरानी लाइन से नई को जोड़ा
77 करोड़ की पेयजल योजना से छूटे हुए मोहल्लेे, काॅलोनी एवं बस्तियों को भी शामिल किया जाएगा। इसके लिए पुरानी लाइन से नई को जोड़ा जा रहा है। बुधवार को बड़े पुल के पास काम शुरू किया गया। एनीकट में 3 मीटर पानी इस बारिश को रोका गया है। वहीं 77 गेट के भी टेंडर इस माह लग जाएंगे। सिंध से पानी छूटे हुए क्षेेत्र में आने से नल 15 मिनट ज्यादा आएंगे। नगर पालिका की जल प्रकोष्ठ ने एनीकट से पानी लाने के लिए काम शुरू कर दिया है। टेस्टिंग भी हो रही है। पुरानी लाइन से नई को जोड़ा जा रहा है। यह काम इस माह पूरा हो जाएगा। जल प्रकोष्ठ प्रभारी जीके अग्रवाल ने बताया कि फिल्टर प्लांट से नई पाइन लाइन बिछाई गई है। शहर में छोटी पाइप लाइन से भी इसे जोड़ा जा रहा है। ताकि यहां से सीधी सप्लाई हो सके। इसके लिए नानाखेड़ी, बूढ़े बालाजी, हड्डीमिल और शास्त्री पार्क पर बड़ी टंकी हैं। इसके अलावा 6 अन्य पुरानी टंकी में भी सिंध का पानी एकत्रित कर छूटे हुए 35 से 40 फीसदी हिस्से में भी इसका लाभ मिलेगा।

6 अन्य पुरानी टंकी में भी सिंध का पानी एकत्रित िकया जाएगा, छूटे हुए 35 से 40 फीसदी हिस्से को मिलेगा लाभ

बडे पुल के पास पुरानी लाइन से नई लाइन को जोड़ते पीएचई के कर्मचारी।

बिजली कंपनी की वजह से प्रोजेक्ट में रुकावट क्योंकि पुराना बिल 3.50 करोड़ बकाया

इस प्रोजेक्ट का ज्यादातर काम पूरा हो चुका है। टेस्टिंग भी शुरू हो चुकी है। पुरानी और नई पाइप लाइन को जोड़ा जा रहा है। लेकिन इस बीच बिजली कंपनी की वजह से समस्या खड़ी हो सकती है। क्योंकि कंपनी फिल्टर प्लांट पर कनेक्शन नहीं कर रही है। पुराना बिल 3.50 करोड़ रुपए बकाया है। कंपनी का कहना है कि पहले यह पैसा चुकाओ, इसके बाद ही कनेक्शन होगा।

सिंध से पूरे शहर में नल आए तो समय बदलेगा

सिंध से पूरे शहर में जल सप्लाई होने पर इसका समय बदला जाएगा। सुबह 5.30 बजे से 9 बजे तक नल आएंगे। इसी समय अवधि में अलग-अलग किसी क्षेत्र में 5.30 बजे से तो किसी में आधा या एक घंटे बाद सप्लाई होगी। ताकि सभी को पानी मिल सके।

डेढ़ माह बाद लगेंगे मीटर इसके बाद कम होगा बिल

जल प्रकोष्ठ प्रभारी श्री अग्रवाल ने बताया कि नलों में मीटर लगाए जाएंगे। इसके बाद ही टैरिफ के अनुसार बिल आएगा। पेयजल योजना के तहत काम कर रही कंपनी ने और मीटर भेज दिए हैं। फिल्टर प्लांट से जब पानी छूटे हुए हिस्से में पहुंचेगा तो मीटर लगेंगे। इसमें भी डेढ़ माह का समय लग सकता है।

77 करोड़ की पेयजल योजना से छूटे हुए मोहल्लेे, काॅलोनी को भी शामिल किया।

3 मीटर बारिश का पानी एनीकट में रुका।

77 गेट के भी टेंडर इस माह लग जाएंगे

15 मिनट ज्यादा आएंगे नल

6 अन्य पुरानी टंकी में भी सिंध का पानी एकत्रित कर छूटे हुए 35 से 40 फीसदी हिस्से में भी इसका लाभ मिलेगा

एनीकट में गेट लगने से अगली बार 4 मीटर पानी रुकेगा

अगले माह एनीकट में 77 गेट लगाएं जाएंगे। ताकि अगली बारिश में 1 मीटर पानी और रोका जा सके। अभी 3 मीटर पानी रुका है। इस बार बारिश अच्छी होने से यही पानी से गर्मी निकल जाएंगी। अगली बार गेट लगने से 1 मीटर और पानी रुकेगा। इस काम पर 1.81 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे।

अगले माह तक सिंध से सप्लाई शुरू हो जाएगी


X
Guna - पेयजल योजना से छूटे शहर के हिस्से में सिंध का पानी लाने पुरानी लाइन से नई को जोड़ा
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..