• Hindi News
  • Mp
  • Guna
  • Guna News mp news after the death of the geologist the family fulfilled his wish set an example by donating an eye

भू-वैज्ञानिक की मृत्यु के बाद परिजनों ने की उनकी इच्छा पूर्ण, नेत्रदान कर की मिसाल पेश

Guna News - गुना| भूवैज्ञानिक व समाजसेवी बसंत राज श्रीवास्तव की मृत्यु के बाद उनके परिजनों ने नेत्रदान कर उनकी इच्छा को पूर्ण...

Oct 22, 2019, 07:20 AM IST
गुना| भूवैज्ञानिक व समाजसेवी बसंत राज श्रीवास्तव की मृत्यु के बाद उनके परिजनों ने नेत्रदान कर उनकी इच्छा को पूर्ण किया। उन्होंने अपने जीवन काल में ही नेत्रदान कर दिया था और परिजनों से कहा था कि मौत के बाद इस इच्छा को जरुर पूरा करेें। उनका निधन के बाद परिजनों ने रिश्तेदारों से चर्चा की और उनके जीवन काल में नेत्रदान को लेकर किए गए फैसले के बारे में बताया। इसके बाद रिश्तेदारों ने भी कहा कि उनकी इच्छा को पूरा किया जाए। बसंत राज श्रीवास्तव का निधन रविवार को हो गया था।

उन्होंने बंसल हॉस्पिटल भोपाल में अंतिम सांस ली। वे कायस्थ समाज के प्रमुख समाजसेवी व चित्रगुप्त मंदिर निर्माण समिति के अध्यक्ष थे। उनके निर्देशन में वर्षों से जो मंदिर का निर्माण नहीं हो पा रहा था वो संभव हुआ और जाटपुरा में बहुप्रतीक्षित श्री चित्रगुप्त मंदिर का निर्माण संभव हो पाया। उनके अनुज सामंत राज ने उनके पार्थिव शरीर को मुखाग्नि दी। उनकी अंत्येष्टि में बड़ी संख्या में समाजसेवी व शहर के गणमान्य नागरिक शामिल हुए। बड़ी संख्या में है नेत्रदान का संकल्प लेने वाले: शहर में नेत्रदान का संकल्प लेने वालों की कमी नहीं है। बड़ी संख्या में लोगों ने नेत्रदान किया हुआ है। हालांकि गुना में कॉर्निया सुरक्षित रखने के लिए कोई सरकारी स्तर पर व्यवस्था नहीं है। वहीं नेत्रदान का संकल्प लेने वालों के निधन के बाद उनके परिजनों को जागरुकता करने वाले की भी कमी है। अगर नेत्रदान का संकल्प लेने वालों की पूरी जानकारी विभाग के पास रहे और उनके निधन पर अगर परिजनों से संपर्क किया जाए, तो नेत्रदान करने वालों की संख्या बढ़ जाएगी।

बसंतराज भू-वैज्ञानिक।

बुजुर्ग महिला ने भी किया था नेत्रदान

शहर में नेत्रदान की पहले 77 वर्षीय महिला विद्या देवी की नेत्रदान कर की गई थी। समाजसेवी महिला विद्या देवी के पुत्रों ने भी उनकी इस इच्छा को पूरा किया था। उनका निधन गुना में ही मंगलवार को हो गया था। इसके बाद पुत्रों ने उनकी इस इच्छा को पूरा किया। लायंस नेत्र चिकित्सालय के डॉक्टर ने ही उनकी कॉर्निया निकालकर सुरक्षित भोपाल भिजवाई।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना