एक क्लर्क सस्पेंड, उप डाकपाल बीमारी के बहाने लंबी छुट्‌टी पर

Guna News - क्लर्क ने अपनी गुप्त आईडी-पासवर्ड घोटालेबाज एजेंट के पति को दे रखे थे गुना | राघौगढ़ डाकघर में हुए लाखों के...

Bhaskar News Network

Nov 10, 2019, 08:01 AM IST
Guna News - mp news one clerk suspended deputy postmaster on long leave in the pretext of illness
क्लर्क ने अपनी गुप्त आईडी-पासवर्ड घोटालेबाज एजेंट के पति को दे रखे थे

गुना | राघौगढ़ डाकघर में हुए लाखों के घोटाले में आखिरकार विभाग ने पहली कार्रवाई कर दी। अधीक्षक डाकघर ने उस क्लर्क को सस्पेंड कर दिया, जिसकी आईडी व पासवर्ड इस्तेमाल करके एजेंट के पति ने यह घोटाला किया। इस मामले में उप डाकपाल चक्रेश जैन पर भी कार्रवाई होना तय है। पर भास्कर द्वारा इस घोटाले के पर्दाफाश किए जाने के कुछ दिन बाद से ही वह बीमारी का हवाला देकर लंबी छुट्‌टी पर चले गए। अधीक्षक आईके लिल्हारी का कहना है कि जब तक वे छुट्‌टी से वापस नहीं आते, तब तक उन पर किसी तरह की कार्रवाई नहीं हो सकती।

जांच में क्लर्क की भूमिका सामने आई

अधीक्षक के मुताबिक शुरूआती जांच में क्लर्क मुकेश सिंह पटेल की भूमिका सामने आई है। उनकी आईडी व पासवर्ड की मदद से ही एजेंट के घोटालेबाज पति मुकेश नामदेव ने पैसे का हेरफेर किया।

उप डाकपाल की जवाबदेही

जानकारों ने बताया कि डाकघर में होने वाले हर लेन-देन का वेरीफिकेशन या सत्यापन उप डाकपाल करते हैं। क्लर्क काउंटर पर बैठकर अपनी आईडी व पासवर्ड से खातों को ऑपरेट करता है। वह जो राशि जमा या भुगतान करता है, उसका सत्यापन उपडाकपाल के जरिए होता है। ऐसे में एक बाहरी व्यक्ति इस सिस्टम में घुसपैठ करके लाखों रुपए का हेरफेर करे और इसकी जानकारी उप डाकपाल को न हो यह संभव नहीं है।

आगे क्या

30-35 हजार खातों की जांच होगी

इस मामले में अब बड़े पैमाने पर जांच की जा रही है। राघौगढ़ डाकघर में 12 हजार से ज्यादा तो अकेले बचत खाते हैं। इसके अलावा अन्य डिपोजिट के खाते भी इतने ही हैं। सुकन्या खातों की संख्या भी 5 से 7 हजार के बीच है। अब इन सबकी जांच होगी, जिसमें एक साल भी लग सकता है।

X
Guna News - mp news one clerk suspended deputy postmaster on long leave in the pretext of illness
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना