गुना-बीना लाइन के पीलीघटा-अशोकनगर सेक्शन पर ट्रायल के एक घंटे बाद 90 की रफ्तार से निकाली पहली मालगाड़ी

Guna News - पीलीघटा से अशोकनगर के बीच हुई रेल लाइन दोहरीकरण का ट्रायल लेने आए सीआरएस एके जैन के साथ अधिकारीयों की पूरी टीम थी।...

Dec 04, 2019, 08:31 AM IST
Guna News - mp news the first freight train at the speed of 90 after an hour of trial on pilighata ashoknagar section of guna bina line
पीलीघटा से अशोकनगर के बीच हुई रेल लाइन दोहरीकरण का ट्रायल लेने आए सीआरएस एके जैन के साथ अधिकारीयों की पूरी टीम थी।

डबल लाइन होने की वजह से ट्रेनों की संख्या भी बढ़ाई जा सकेगी

भास्कर संवाददाता | गुना

140 साल पुरानी गुना-बीना रेल लाइन के 25 किमी सेक्शन के दोहरीकरण को कमिश्नर ऑफ रेलवे सेफ्टी (सीअारएस) ने हरी झंडी दे दी। यानि पीलीघटा से अशोकनगर तक अब दूसरे ट्रैक पर भी ट्रेनें चल सकेंगी। नए ट्रैक पर सीआरएस की 8 बोगी वाली स्पेशल ट्रेन लगभग 120 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से दौड़ी।

शाम 5 बजे ट्रायल पूरा हो गया और इसके एक घंटे बाद नए ट्रैक पर पहली मालगाड़ी भी 90 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से गुजारी गई। दोहरीकरण के काम को लेकर सीआरएस पूरी तरह संतुष्ट दिखे। हालांकि उन्होंने इस बात पर नाराजगी जताई कि पीलीघटा, मावन और रातीखेड़ा स्टेशन पर दूसरे प्लेटफार्म तक जाने के लिए एफओबी (फुट ओवर ब्रिज) नहीं बनाया गया। उन्होंने अधिकारियों को हिदायत दी कि अगली बार एफओबी बनाए बिना उन्हें निरीक्षण के लिए न बुलाया जाए।

120 की रफ्तार से सीआरएस स्पेशल से लिया ट्रायल, 3 स्टेशन पर एफओबी न बनाने पर जताई नाराजगी

आम यात्रियों का क्या होगा फायदा

1.
अभी तक सिंगल लाइन होने की वजह से दो ट्रेनों को एक साथ क्रॉस नहीं किया जा सकता था। इस स्थिति में एक ट्रेन को किसी स्टेशन पर रोकना पड़ता था। अब अशोकनगर से पीलीघटा तक ट्रेनें बिना रोके गुजारी जा सकेंगी।

2. डबल लाइन होने की वजह से ट्रेनों की संख्या भी बढ़ाई जा सकेगी। अभी इस ट्रैक पर क्षमता से ज्यादा ट्रेनें चलाई जा रही हैं।

3. मालगाड़ियों की आवाजाही ज्यादा तेजी से होगी, इससे रेलवे की आय बढ़ेगी। आम यात्रियों को यह फायदा होगा कि इनकी वजह से सवारी ट्रेनों को नहीं रोका जाएगा।

4. अगर किसी एक ट्रैक पर कोई काम चलना है तो दूसरी लाइन चालू रहेगी। यानि पूरी तरह से ट्रैफिक रोकने की नौबत नहीं आएगी।

अच्छी खबर : यात्रियों के लिए सुगम होगा सफर

दोहरीकरण के साथ दूसरी खुशखबरी यह है कि 20 दिन से प्रभावित चल रही सभी यात्री ट्रेनों की सेवाएं बुधवार से बहाल हो जाएंगी। इनमें गुना-बीना पैसेंजर, भोपाल-ग्वालियर-भोपाल इंटरसिटी, ग्वालियर-बीना-दमोह पैसेंजर, बीना-कोटा-बीना पैसेंजर, साबरमती एक्सप्रेस सहित तमाम अन्य ट्रेनें शामिल हैं। दोहरीकरण होने की वजह से अब सवारी ट्रेनों की आवाजाही सुगम हो जाएगी।

आगे क्या : अप्रैल-मई माह में दो और सेक्शन शुरू होने की उम्मीद

गुना-बीना लाइन करीब 110 किमी लंबी है और मंगलवार इसके 25 फीसदी हिस्से का दोहरीकरण पूरा हो गया। अब अगले 3-4 माह के दौरान गुना-कोटा सेक्शन के एक हिस्से के दोहरीकरण को पूरा किया जाएगा। अप्रैल-मई में वापस गुना-बीना सेक्शन पर ब्लॉक लेकर काम किया जाएगा। सूत्र बताते हैं कि इस दौरान गुना से पीलीघटा और बीना से मुंगावली के बीच दो सेक्शन एक साथ पूरे किए जा सकते हैं। उम्मीद की जा रही है कि 2020 के अंत तक गुना से बीना तक दोनों लाइन पर ट्रेनों की आवाजाही

140 साल पहले डाली गई थी बीना-गुना-कोटा लाइन

बीना-गुना-कोटा लाइन 140 साल पहले बनी थी। इस पर गुना स्टेशन का निर्माण 1897 में पूरा हो गया था। 80 के दशक तक यह यह रेलवे लाइन उपेक्षित रही। इस पर सिर्फ 3-4 पैसेंजर ट्रेनें चलती थीं। बाद में जब माधवराव सिंधिया रेल मंत्री बने तो अंचल की रेल सेवाओं का कायाकल्प होना शुरू हुआ। इस दौरान औद्योगिकीकरण की प्रक्रिया के तहत गुना और राजस्थान में कई प्लांट बने, जिससे इस ट्रैक का महत्व बढ़ गया। खासकर मालगाड़ियों का दबाव इतना बढ़ा कि इसके दोहरीकरण की जरूरत महसूस हुई। पश्चिमी मध्य रेलवे को सबसे ज्यादा मुनाफा देने वाले रेलवे सेक्शन में सबसे आगे बताया जाता है।

बड़ी चूक

अगली बार एफओबी बनाए बिना निरीक्षण नहीं करुंगा

सीआरएस एके जैन ने ट्रैक व सिग्नल को लेकर कोई बड़ी खामी नहीं बताई। पर रेलवे की एक बड़ी लापरवाही उजागर कर दी। उन्होंने पीलीघटा, मावन और रातीखेड़ी में एफओबी न बनाए जाने पर नाराजगी जताई। दरअसल गुना से आने वाली ट्रेनें पीलीघटा के बाद नए ट्रैक से ही गुजरेंगी। वे इन स्टेशनों के प्लेटफार्म क्रमांक 2 पर रुकेंगी। इन स्टेशन पर लोगों को दूसरे प्लेटफार्म तक जाने के लिए रेलवे लाइन को पार करना पड़ेगा। जो न केवल खतरनाक है बल्कि खुद रेलवे के कानून के खिलाफ भी है। यही वजह है कि सीआरएस ने कहा कि अगली बार उन्हें बुलाने से पहले एफओबी पहले बनवा लिए जाएं।

X
Guna News - mp news the first freight train at the speed of 90 after an hour of trial on pilighata ashoknagar section of guna bina line
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना