चक्रवात से 10 साल के बाद अप्रैल में सबसे ज्यादा बारिश, अकेले अारोन में ही 15000 बोरी गेहूं भीगा

Guna News - सोसायटी : कलेक्टर भास्कर लाक्षाकार से जब इस संबंध में बात की गई तो उनका कहना था कि मौसम विभाग ने प्रशासन को लिखित...

Bhaskar News Network

Apr 17, 2019, 07:21 AM IST
Guna News - mp news the highest rainfall in april after 10 years of cyclone alone 15000 sacks of wheat sowed in aron alone
सोसायटी : कलेक्टर भास्कर लाक्षाकार से जब इस संबंध में बात की गई तो उनका कहना था कि मौसम विभाग ने प्रशासन को लिखित में किसी तरह की कोई सूचना या पूर्वानुमान जारी नहीं किया था। उन्होंने कहा कि मंडियों में खरीदी करने की जिम्मेदारी सोसायटियों की है।

चांचौड़ा और आरोन में तेज बारिश, कुंभराज में ओले गिरने की सूचना

भास्कर संवाददाता | गुना/आरोन

पश्चिमी विक्षोभ के कारण राजस्थान के ऊपर सक्रिय हुए चक्रवात चलते सोमवार रात से अंचल का मौसम बदल गया। इसके कारण सोमवार सुबह से शाम तक कई बार रुक-रुककर बारिश हुई। सबसे ज्यादा असर चांचौड़ा और आरोन में हुआ, जहां शाम को तेज बारिश हुई।

पिछले 10 साल में अप्रैल माह के दौरान जिले में यह सबसे तेज बारिश हुई है। 2009 में 0.9 मिमी बारिश रिकॉर्ड हुई थी। बारिश के कारण मंडियों में रखा हजारों बोरी गेहूं भीग गया। अकेले आरोन में ही समर्थन मूल्य का 15 हजार बोरी गेहूं भीगा। जबकि मौसम विभाग ने 3 दिन पहले ही बारिश की संभावना जता दी थी। भास्कर ने भी यह खबर प्रकाशित की थी। इसके बावजूद खरीदी करने वाली एजेंसियों और खाद्य एवं आपूर्ति विभाग ने कोई इंतजाम नहीं किया।

खाद्य एवं आपूर्ति विभाग और सोसायटियों पर थी खुले पड़े गेहूं को बचाने की जिम्मेदारी

आगे क्या

17 और 18 अप्रैल को भी मौसम के तेवर बदले रह सकते हैं। इस दौरान तेज हवा के साथ बारिश की संभावना है। अधिकतम तापमान 37 से 38 के बीच रहने की संभावना है। यानि दोपहर के समय तेज धूप भी रह सकती है। 19 अप्रैल से मौसम फिर बदल सकता है और पारा एक बार फिर 40 के पार पहुंचने की संभावना है।

गेहूं भीगा : आरोन और चांचौड़ा में सबसे ज्यादा नुकसान, गुना भी नहीं थे इंतजाम

मौसम विभाग ने 16 से 18 तक गरज-चमक के साथ बारिश और तेज हवा चलने का पूर्वानुमान दिया था। भास्कर ने भी दो दिन पहले यह खबर प्रकाशित की थी। इसके बावजूद मंडियों में रखे गेहूं को बचाने का इंतजाम नहीं किया गया। खासकर आरोन मंडी,जहां समर्थन मूल्य पर सबसे ज्यादा खरीदी हो रही है, वहां 15 हजार बोरी गेहूं बिना किसी सुरक्षा के रखा था। इसी तरह चांचौड़ा में भी भारी नुकसान हुआ है। गुना में ज्यादातर खरीदी किसान समृद्धि योजना के तहत हो रही है। इसलिए इसकी जवाबदेही सरकारी तंत्र की नहीं बनती।

जिम्मेदार कौन

खाद्य विभाग : समर्थन मूल्य पर खरीदा जाने वाला गेहूं अंतत: राशन दुकानों पर ही आता है। वर्तमान में खाद्य एवं आपूर्ति अधिकारी ज्योति बघेल से इस मामले में कई बार संपर्क करने की कोशिश की गई, लेकिन उनका मोबाइल उनके परिजन उठाते रहे। वहां से यही जवाब आता रहा मेडम अभी घर पर नहीं है।

तापमान सामान्य से 7 डिग्री नीचे आया अप्रैल में पहली बार इतना ठंडा दिन

बारिश और 15 से 20 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चली हवा के कारण दिन का तापमान पिछले दिन के मुकाबले 10 डिग्री और सामान्य से 7 डिग्री नीचे आ गया। सोमवार को अधिकतम तापमान 41.8 डिग्री रिकॉर्ड हुआ था। जो सामान्य से 4 डिग्री अधिक था। मंगलवार को पारा 31.6 डिग्री पर आ गया। रात में भी हल्की बारिश से ठंडक बढ़ी और न्यूनतम तापमान पिछले दिन के मुकाबले 3 डिग्री गिरकर 22 पर आ गया।

क्यों बदला मौसम

मौसम विभाग के अनुसार पूर्वी ईरान से लेकर अफगानिस्तान तक पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय है। इसके चलते दक्षिण-पश्चिम राजस्थान के ऊपर चक्रवात बना हुआ है। वहीं सोमवार को तेज गर्मी की वजह से स्थानीय प्रभाव भी बना। इसलिए नमी व गर्मी के मेल से मौसम में तब्दीली आना शुरू हो गई। रात में हल्की बूंदाबांदी और तेज हवाएं चली। वहीं मंगलवार तक चक्रवात का असर और ज्यादा बढ़ गया।

X
Guna News - mp news the highest rainfall in april after 10 years of cyclone alone 15000 sacks of wheat sowed in aron alone
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना