• Hindi News
  • Mp
  • Guna
  • Guna News mp news woman died due to current of high tension line from 6 feet above house

मकान केे 6 फीट ऊपर से निकली हाईटेंशन लाइन के करंट से महिला की मौत, डीपी रख रहे 2 किसान लाइन चालू होने से झुलसे

Guna News - भास्कर संवाददाता | गुना/आरोन सिस्टम की अनदेखी और लोगों की लापरवाही के चलते रविवार को बिजली से दो जानलेवा हादसे...

Nov 11, 2019, 08:01 AM IST
भास्कर संवाददाता | गुना/आरोन

सिस्टम की अनदेखी और लोगों की लापरवाही के चलते रविवार को बिजली से दो जानलेवा हादसे हो गए। इनमें एक महिला की मौत हो गई। वहीं दो लोग झुलस गए, जिनमें से एक की हालत गंभीर बताई जाती है। एक हादसा कैंट के गुलाबगंज में हुआ, जहां आरती प|ी नरेंद्र विश्वकर्मा की मौके पर ही मौत हो गई। घर के ऊपर से गुजर रही बेहद खतरनाक मानी जाने वाली 33 केवी लाइन से महिला को करंट लगा। जबकि दूसरा हादसा आरोन थाने के मोहन बाड़ा गांव में हुआ।

यहां दो किसान खेत पर ट्रांसफार्मर रख रहे थे। उन्होंने बिजली सब स्टेशन से लाइन बंद करवा ली थी लेकिन फिर भी अचानक लाइन चालू कर दी गई। इस घटना में देवेंद्र पुत्र सागर सिंह यादव (26 साल) गंभीर रूप से घायल हो गए। जबकि कृष्णभान पुत्र बुंदेल सिंह यादव की हालत खतरे के बाहर बताई जा रही है। गुलाबगंज में जिस लाइन से महिला को करंट लगा, उससे कई गांवों में बिजली सप्लाई होती है। बिजली कंपनी के एई अमितेश अर्श ने बताया कि यह लाइन 40 साल से भी ज्यादा पुरानी है। पहले इसके नीचे कोई बस्ती नहीं थी ।

आरोन : फोन से बात करके लाइन बंद करवा दी थी किसानों ने

आरोन के मोहनबाड़ा में हुआ हादसा बिजली कंपनी की घोर लापरवाही का नतीजा है। घटना से प्रभावित हुए किसान अपने खेत पर ट्रांसफार्मर रख रहे थे। परिवार के सूत्रों ने बताया कि उन्होंने बिजली कंपनी के कर्मचारी मुरारी धाकड़ से बात कर ली थी। इसके बावजूद अचानक लाइन शुरू कर दी गई।

सिस्टम की अनदेखी : बिजली कंपनी ने इस मामले में अनाधिकृत रूप से अनुमति दी। आखिर प्राइवेट लोगों को यह काम करने की इजाजत कैसे दे दी गई? कंपनी के एक कर्मचारी ने बाहरी लोगों के कहने पर लाइन भी बंद कर दी। इस मामले में अब कंपनी के अधिकारी बात करने को तैयार नहीं है। जेई संजीव मोहने से संपर्क किया गया तो उन्होंने कहा कि वह मामले की जांच कर रहे हैं। इसके बाद उनसे बात नहीं हो पाई।

भास्कर अलर्ट : इन 3 लाइनाें के नीचे कभी न बनाएं अपना आशियान

132 केवी : यह सबसे खतरनाक लाइन है। यह लाइन बीना स्थित पावर ग्रिड से गुना तक आती है। इसका करंट इतना खतरनाक होता है कि यह 15 फीट दूरी से भी आपको अपनी ओर खींच सकता है।

33 केवी : यह लाइन बड़े सब स्टेशन से निकलकर छोटे सब स्टेशनों तक पहुंचती है। पूरे शहर व ग्रामीण इलाकों तक इसी से सप्लाई पहुंचाई जाती है। इस लाइन के 6-7 फीट के दायरे में आना ही खतरे से खाली नहीं है। इ

11 केवी लाइन : छोटे सब स्टेशन से शहर में लगे ट्रांसफार्मर तक इसी से सप्लाई की जाती है। यह शहर भर में फैली है और इसके 3-4 फीट के दायरे में किसी भी तरह का निर्माण खतरनाक होता है।

इसी घर के ऊपर से निकली हाईटेंशन लाइन की चपेट में आने से महिला की मौत हो गई।

हम नोटिस जारी करते हैं


क्या कानून

कानून के मुताबिक नपा व अन्य विभागों से एनओसी लिए बिना बने मकानों को अवैध ठहराया जा सकता है। नपा ऐसे प्रकरणों को दर्ज करके अदालत में भेजती है। अदालत के आदेश पर ऐसे निर्माण गिराए भी जा सकते हैं।

किस तरह हुईं घटनाएं

गुना : हाल ही में बनी दूसरी मंजिल के कारण लाइन बिल्कुल नजदीक आ गई

गुलाबगंज के ऊपर से गुजर रही लाइन लगभग 26-27 फीट ऊंची है जिस मकान में हादसा हुआ वह तीन माह पहले तक एक मंजिल था। हाल ही में इसके ऊपर दूसरी मंजिल बना दी गई। इससे लाइन की दूरी मुश्किल से 7-8 फीट रह गई। बिजली कंपनी के अधिकारियों का कहना है कि 33 केवी लाइन के 6-7 फीट के दायरे में अगर कोई आता है तो वह वैसे ही खतरे पड़ सकता है। यह पता नहीं चल पाया है कि महिला किस काम से छत पर गई थी।

अनदेखी : लाइन के नीचे मकान कैसे बना

33 केवी जैसी खतरनाक लाइन के नीचे मकान कैसे बनने दिए गए, यह सबसे बड़ा सवाल है। हालांकि कंपनी के एई का दावा है कि लोगों को सावधान किया जाता है। साथ ही नोटिस भी जारी होते हैं। अगर मकान बनाने से पहले हमसे एनओसी ली जाती तो अनुमति ही नहीं देते।

सवाल : हाईटेंशन में प्लास्टिक के पाइप कैसे डाले

कैंट के जिस मकान में यह हादसा हुआ, वहां सबसे चौंकाने वाली बात यह रही कि इसके दूसरे मंजिल का काम कैसे हुआ होगा। इतनी करीब से गुजरी लाइन के नीचे छत डालने का काम अपने आप में बेहद जोखिम भरा था। यही नहीं इस लाइन में प्लास्टिक के पाइप भी डाल दिए गए, जिससे करंट का खतरा कम हो जाए। यह काम चालू लाइन में नहीं हो सकता था। सवाल यही है कि क्या बंद कराई गई होगी।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना