ग्वालियर / रेलवे का फर्जी नियुक्ति पत्र देकर ठगे थे 12 लाख, मुंबई में पकड़ा

12 lakhs were cheated by giving fake appointment letters of railway, caught in Mumbai
X
12 lakhs were cheated by giving fake appointment letters of railway, caught in Mumbai

Dainik Bhaskar

Dec 04, 2019, 12:27 PM IST

ग्वालियर। रेलवे में टीसी बनाने के नाम पर 12 लाख रुपए की ठगी करने वाले दूसरे आरोपी को क्राइम ब्रांच की टीम ने मुंबई में मुंब्रा से गिरफ्तार कर लिया। पकड़ा गया आरोपी रेलवे के फर्जी मेडिकल व नियुक्ति पत्र अपनी फोटो स्टेट की दुकान से मुख्य सरगना के बताए पते पर भेजता था। आरोपी की तलाश के लिए क्राइम ब्रांच की टीम दस दिन से मुंबई में उसका पता ढूंढ रही थी। आरोपी से क्राइम ब्रांच ने तीसरे आरोपी के संबंध में पूछताछ कर उसे जेल भेज दिया।


क्राइम ब्रांच थाना प्रभारी दामोदर गुप्ता ने बताया कि गजेंद्र चौहान निवासी थाटीपुर से रेलवे में टीसी बनाने के नाम पर 12 लाख रुपए की ठगी करने के मामले में अारोपी सुलेमान बशीर शेख को गिरफ्तार कर लिया। गजेंद्र रेलवे की भर्ती परीक्षा देने के लिए मुंबई गया था, वहां पर तुफैल अहमद, सुलेमान बशीर शेख व नितिन पाटिल ने परीक्षा में पास कराकर रेलवे में नियुक्ति दिलाने का झांसा देकर एक वर्ष में 12 लाख रुपए ले लिए थे। आरोपियों ने गजेंद्र को फर्जी नियुक्ति पत्र व मेडिकल प्रमाण पत्र भी दिए थे और फर्जी दस्तावेज देते हुए गजेंद्र से रुपयों की किश्त लेते रहे।


गजेंद्र को ठगों से मिलवाने वाले राजवीर का पुलिस अब तक नहीं लगा पाई सुराग
गजेंद्र को ठगों से मुरार की सीपी काॅलोनी में राजवीर नाम के युवक ने मिलाया। यह राजवीर कौन था और उसकी गजेंद्र से किसने मुलाकात कराई, यह सुराग नहीं लगा है। ठगी का मुख्य आरोपी तुफेल अहमद बिहार का निवासी है और मुंबई में रहकर ठगी करता था। तुफैल अभी जेल में है। ठगी का तीसरा नामजद आरोपी नितिन पाटिल कोल्हापुर का निवासी बताया गया है लेकिन पकड़े गए बशीर खान से उसके संबंध में कोई सुराग नहीं लगा।


आरोपी चलाते थे मुंबई मिरर: बेरोजगारों को नौकरी के नाम ठगने के लिए आरोपियों ने मुंबई मिरर नाम से एक वेबसाइट भी बना रखी थी। यह वेबसाइट 2016 से संचालित कर रहे थे। इस साइट पर आरोपी रेलवे व अन्य विभागों की भर्ती फर्जी तरीके से निकालते थे।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना