--Advertisement--

मासूम की लाश का शव बावड़ी में मिली, मां बोली- वह खुद कपड़े नहीं उतार पाता था

दो दिन से लापता 8 साल के दिव्यांग मासूम की लाश सोमवार को एक बावड़ी में मिली।

Dainik Bhaskar

Dec 19, 2017, 04:50 AM IST
आठ साल के मासूम की बावड़ी में लाश मिली। आठ साल के मासूम की बावड़ी में लाश मिली।

ग्वालियर. दो दिन से लापता 8 साल के दिव्यांग मासूम की लाश सोमवार को एक बावड़ी में मिली। बीती रात ही परिवार वालों के पास तीन बार अनजान नंबर से कॉल आया था। कॉल करने वालों ने बार बार यही कहा था कि उनका काम पूरा हो गया है । इसी आधार पर मासूम के पिता किडनैप कर हत्या का आरोप लगा रहे थे। पुलिस इस मामले में जांच कर रही है। क्या है मामला...

- ग्वालियर के घास मंडी एरिया में बने हथियापौर के रहने वाले दिलीप श्रीवास हेयर कंटिंग की दुकान चलाते हैं।

- उनका सबसे छोटा बेटा कान्हा मूक बधिर था। शनिवार शाम करीब 4 बजे वह खेलने निकला। इसके बाद नहीं लौटा।

- रविवार को इन लोगों ने ग्वालियर थाने पहुंचकर लापता होने का मामला दर्ज कराया था। पुलिस ने भी तलाश शुरू की लेकिन नहीं मिला।

- इन लोगों ने पूरे एरिया में मासूम की फोटो छपवाकर लगवा दी और सूचना देने वाले को इनाम देने की भी जानकारी पर्चे में दी।

- सोमवार दोपहर करीब 1 बजे पर्चे में दिए नंबर पर फोन आया कि किसी बच्चे की लाश सागरताल के पास बनी बावड़ी में पड़ी हुई है। सूचना मिलते ही वे वहां पहुंचे। लाश को निकाला तो कान्हा का निकला।

- इसके बाद पुलिस पहुंची। कपड़े बावड़ी में सीढ़ियों के पास ही रखे हुए थे। कहीं शर्ट, कहीं स्वेटर और कहीं पैंट रखा था। सेंडल भी अलग रखे थे।

- अब पुलिस उन नंबरों की पड़ताल कर रही है, जिनसे परिजनों के मोबाइल पर कॉल आया था।

नंबर दिन भर आया बंद
- कान्हा के पिता दिलीप श्रीवास ने बताया, उनके मोबाइल पर कॉल आया था। इस नंबर से रात में फोन आया और फोन करने वाले ने कहा कि उसका काम हो गया है। इसके बाद फोन काट दिया। इस नंबर से पहले किसी पुरुष, फिर महिला और फिर किसी दूसरी महिला का कॉल आया। सोमवार काे दिनभर से मोबाइल बंद जा रहा है। उन्होंने बताया कि उनका बेटा अकेला वहां नहीं जा सकता। जब वह घर में भी नहाता है तो उसकी मां उसके कपड़े उतारती है। ऐसे में वह खुद नहाने कैसे जा सकता है।

मामले की जांच कर रहे हैं
- पुलिस के मुताबिक, मामले की जांच कर रहे हैं। हो सकता है बच्चा खुद चला गया हो, क्योंकि घर से लगभग 500 मीटर की दूरी पर ही बावड़ी बनी है। जिस नंबर से फोन आया है, उसकी पड़ताल की जा रही है।

कपड़े बावड़ी में सीढ़ियों के पास ही रखे हुए थे। कपड़े बावड़ी में सीढ़ियों के पास ही रखे हुए थे।
कहीं शर्ट, कहीं स्वेटर और कहीं पैंट रखा था। कहीं शर्ट, कहीं स्वेटर और कहीं पैंट रखा था।
बच्चे के माता पिता। बच्चे के माता पिता।
बोल नहीं सकता था मासूम। बोल नहीं सकता था मासूम।
X
आठ साल के मासूम की बावड़ी में लाश मिली।आठ साल के मासूम की बावड़ी में लाश मिली।
कपड़े बावड़ी में सीढ़ियों के पास ही रखे हुए थे।कपड़े बावड़ी में सीढ़ियों के पास ही रखे हुए थे।
कहीं शर्ट, कहीं स्वेटर और कहीं पैंट रखा था।कहीं शर्ट, कहीं स्वेटर और कहीं पैंट रखा था।
बच्चे के माता पिता।बच्चे के माता पिता।
बोल नहीं सकता था मासूम।बोल नहीं सकता था मासूम।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..