--Advertisement--

मजदूरी का पैमेंट मांगने गई बहन, चार भाइयों ने पीटा फिर कुएं में फेंक दिया

मजदूरी के पैसे मांगने पहुंची एक महिला के साथ चार भाईयों ने बदतमीजी की हद पार कर दी।

Danik Bhaskar | Dec 13, 2017, 07:50 AM IST

शिवपुरी(ग्वालियर). मजदूरी के पैसे मांगने पहुंची एक महिला के साथ चार भाईयों ने बदतमीजी की हद पार कर दी। हुआ ये कि कमला नाम की एक महिला उम्र 32 साल आरोपी चारों भाईयों के खेत पर काम करती थी। महिला के साथ उसका पति विनोद भी इनके यहां मजदूरी का काम किया करता था। विनोद तीन दिन से गायब था, उसने पूछा कि उसका पति कहां हैं और वो तुम लोगों के यहां मजदूरी के पैसे लेने आने की बात कह कर घर से निकले थे। लेकिन वो अब तक घर नहीं पहुंचे हैं। इसी बात पर उसका इन चारों आरोपियों से वाद- विवाद हो गया। इतने में मामले में तकरार बढ़ गई और चारों भाईयों ने घर के पास बने एक कुए में इस महिला को उठा कर फेंक दिया।

- महिला के साथ उसकी एक 12 साल की बच्ची भी साथ गई थी, जब उसने इन लोगों को ऐसा करते देखा तो उसने भाग कर अपने परिवार वालों को सूचना दी।

- इसके बाद सभी लोगों ने दौड़ कर महिला को कुए से निकाला। महिला इस समय जिला अस्पताल में भर्ती है और जिंदगी और मौत से जूझ रही है।

मेरी मां के मुंह में मुक्के मारे, फिर कुएं में फेंका
- कमला की बच्ची शबनम वंशकार ने जानकारी देते हुए बताया कि इन लोगों ने पहले मेरी मां के मुंह पर मुक्के मारे। उसके बाद जब उसने प्रतिकार किया तो ये चारों भाई सत्तार, शब्बीर,वहीद, और सलीम पुत्र सामद खान ने मिलकर उसे पास में ही बने एक सरकारी कुए में फेंक दिया।

- मैं भी अपनी मां के साथ गई थी, मैने जैसे ही ये सब देखा तो मैं दोड़ कर अपने घर पहुंची और चाची निशा को जानकारी दी। मेरी चाची ने डायल 100 को सूचना दी। इसके बाद चाची ने ही घर के लोगों को बताया जिसमें उन्होंने मौके पर जाकर मेरी मां को बाहर निकाला।

जिंदगी और मौत के बीच अब कमला
- कमला के साथ हुई बर्बरता की कहनी यहीं समाप्त नहीं हुई है। आरोपियों के द्वारा उसकी पुलिस रिपोर्ट भी नहीं होने दी गई। ये सभी लोग दबंग हैं। और अच्छे खासे पैसे वाले हैं। जिस वजह से पुलिस ने इनकी नहीं सुनी। सोमवार की घटना थी। जिसके बाद परिजन एसपी से मंगलवार को मिले। जिस पर एसपी ने लोकल थाना पुलिस की जम कर क्लास लगाई। इसके बाद थाने से एएसआई कल्याण कुशवाह महिला के बयान दर्ज करने जिला अस्पताल पहुंचा।