Hindi News »Madhya Pradesh »Gwalior» Dad Said, Come Along But He Does Not Believe

पापा से कहा था, साथ चलो लेकिन वह नहीं माने, यहां तो चोर कपड़े तक नहीं छोड़ते

माधौगंज स्थित सात भाई की गोठ में एमपीईबी के इंजीनियर वीके गुप्ता की अंत्येष्टि रविवार की सुबह हो गई।

Bhaskar News | Last Modified - Dec 04, 2017, 08:17 AM IST

  • पापा से कहा था, साथ चलो लेकिन वह नहीं माने, यहां तो चोर कपड़े तक नहीं छोड़ते

    ग्वालियर.माधौगंज स्थित सात भाई की गोठ में एमपीईबी के इंजीनियर वीके गुप्ता की अंत्येष्टि रविवार की सुबह हो गई। उनके बड़े बेेटे डाॅक्टर नलिन गुप्ता रविवार की सुबह घर पहुंच गए थे। इसके बाद दिवंगत श्री गुप्ता की अंत्येष्टि कर दी गई। अमेरिका से आए डॉ. गुप्ता का कहना था कि भारत में चोर इतने निकृष्ट हैं कि घर में रखे कपड़े भी नहीं छोड़ते।

    - उल्लेखनीय है कि दो दिन पहले रिटायर्ड इंजीनियर वीके गुप्ता की तबीयत खराब हुई थी। उनकी पत्नी शकुंतला इलाज के लिए अस्पताल ले गई थीं, जहां उनकी मौत हो गई। वह रात 4.27 बजे शव लेकर लौटी थीं।

    - उनके आने से 15 मिनट पहले ही चोर उनके घर में चोरी करके जा चुके थे। सीसीटीवी फुटेज से चोरी की वारदात का खुलासा हुआ था। श्री गुप्ता के छोटे बेटे रॉबिन रायपुर बिजली कंपनी में असिस्टेंट इंजीनियर हैं वहीं, बड़े बेटे नलिन अमेरिका में डॉक्टर हैं।

    मैं अगस्त में घर आया था, पापा से कहा था साथ चलो, वह नहीं गए
    - मैं अगस्त में यहां आया था। उस समय पापा से कहा था कि उनके साथ चलें लेकिन वह विदेश जाने को राजी नहीं हुए। पापा के न जाने की वजह से मम्मी भी नहीं गईं। विदेश से लंबे समय बाद ही यहां पर आना हो पाता है। अगस्त में आए थे, उस समय अपने, पत्नी और बच्चों के कपड़े भी खरीदकर रख गए थे। चोरों ने इन कपड़ों को भी नहीं छोड़ा। पत्नी की साड़ियां और बच्चों के कपड़े भी वह ले गए हैं। भारत में चोर इतने निकृष्ट हो गए हैं कि कपड़े भी चुरा ले जाते हैं।
    -जैसा नलिन गुप्ता ने दैनिक भास्कर को बताया

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Gwalior News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Dad Said, Come Along But He Does Not Believe
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Gwalior

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×