--Advertisement--

कई महीनों से बैंक के लगा रहा था चक्कर, लोन नहीं दिया तो बैंक में उठाया ये कदम

बैंक के सुरक्षा गार्ड ने उसे रोक लिया और पुलिस को सूचना दे दी। पुलिस उस युवक को पकड़कर कोतवाली ले गई।

Dainik Bhaskar

Jan 17, 2018, 06:01 AM IST
did not give loan, these steps raised in the bank

शिवपुरी (ग्वालियर). सीएम स्वरोजगार योजना के तहत उद्योग विभाग से 5 लाख रुपए का लोन पास होने के सात माह बाद भी जब पैसा नहीं मिला तो परेशान युवक ने अपने तीन बच्चों के साथ बैंक के अंदर ही मिट्‌टी का तेल छिड़क कर आग लगाने की कोशिश की। हालांकि इससे पहले कि वह और कुछ कर पाता कि बैंक के सुरक्षा गार्ड ने उसे रोक लिया और पुलिस को सूचना दे दी। पुलिस उस युवक को पकड़कर कोतवाली ले गई।


ये है सारा मामला

- मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के तहत प्रेमकुमार जाटव ने 5 लाख रुपए का लोन पास करवाया था। इस लोन के पास होने के बाद जब उसने विजया बैंक में आवेदन दिया तो उसकी मुलाकात वहां एक बैंक कैशियर अंशुल शर्मा हो गई।

- अंशुल ने उससे लोन पास करने के एवज में 25 हजार रुपए ले लिए। इसके बाद अंशुल तो वहां से ट्रांसफर करवाकर चला गया। लेकिन अब इसका केस पास करने को कोई तैयार नहीं है। प्रेम कुमार का कहना है कि वर्तमान मैनेजर कहते हैं कि कमीशन उसने लिया तो हम क्यों तुम्हारा लोन पास करें।

- इसी से त्रस्त प्रेम कुमार मंगलवार को विजया बैंक पहुंचा और उसने मिट्‌टी का तेल अपने तीनों बच्चों (माही उम्र 8 साल,डॉली, उम्र 12 साल, और आरती उम्र 6 साल) पर छिड़का और उसके बाद खुद पर छिड़क कर आत्महत्या करने की कोशिश की। हालांकि बाद में पुलिस ने पीड़ित पक्ष को समझा - बुझाकर घर भेज दिया।

यह मेरे कार्यकाल का मामला नहीं है
- मेरे समय का मामला नहीं है। ये सब क्या हो रहा है, मुझे कुछ नहीं पता। मैं इस बारे में इससे ज्यादा कुछ नहीं कह सकता हूं।
गौरव मिश्रा, बैंक मैनेजर, विजया बैंक

X
did not give loan, these steps raised in the bank
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..