Hindi News »Madhya Pradesh »Gwalior» Drm Went After Looking At Minor Things Gwalior

न इंदौर इंटरसिटी की स्पीड बढ़ेगी, आगरा फोर्ट को ग्वालियर लाने पर भी किया बहाना

मामूली चीजें देखकर चले गए डीआरएम।

Bhaskar News | Last Modified - Dec 17, 2017, 08:45 AM IST

  • न इंदौर इंटरसिटी की स्पीड बढ़ेगी, आगरा फोर्ट को ग्वालियर लाने पर भी किया बहाना

    ग्वालियर।अहमदाबाद-आगरा फोर्ट एक्सप्रेस को ग्वालियर लाने में रेलवे अधिकारियों की ही रुचि नहीं है। रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने ग्वालियर में 22 फरवरी को चेंबर ऑफ कामर्स में आैर 9 दिसंबर 2016 को संवाददाताआें से चर्चा में इस ट्रेन को ग्वालियर लाने के मुद्दे पर एक महीने में कार्रवाई का आश्वासन दिया था।

    - एक साल बाद शनिवार को ग्वालियर प्रवास पर आए रेलवे झांसी मंडल के डीआरएम एके मिश्र से जब इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा- ग्वालियर में बड़ी वाशिंग पिट नहीं है, ऐसे में ट्रेन कैसे आएगी।

    - जब उनसे कहा गया कि आरटीआई से पता चला है कि ट्रेन 20 कोच की है, इसलिए बड़ी वाशिंग पिट के बिना भी ट्रेन लाई जा सकती है तो वे बोले- यहां जगह तो होनी चाहिए। ट्रेन लेकर कैसे आएंगे, हमारे पर पिट नहीं है।

    डीआरएम के जाते ही बंद हुआ एस्कलेटर
    - स्थानीय अधिकारियों को जैसे ही पता चला कि झांसी से डीआरएम आ रहे हैं, वैसे ही प्लेटफार्म नंबर 1 व 2 पर बने एस्कलेटर को चला दिया गया। डीआरएम दोपहर करीब सवा 2 बजे खजुराहो इंटरसिटी से झांसी के लिए रवाना हो गए। उनके जाने के बाद एस्कलेटर को बंद कर दिए गए।

    अधिकारी आने पर चलता है एस्कलेटर....डीआरएम बोले- मैं दिखवाता हूं
    - डीआरएम को बताया गया कि ग्वालियर स्टेशन पर जब भी कोई अधिकारी आता है तो एस्कलेटर चलने लगता है और उनके जाने के बाद बंद हो जाता है। इस पर वह बोले, दोनों बंद रहते हैं क्या, चलो इसे मैं दिखवाता हूं। जल्द ही आपके स्टेशन पर लिफ्ट भी लगने वाली है।

    वाटर एटीएम को दूसरी जगह करो शिफ्ट
    डीआरएम ने प्लेटफार्म नंबर 1 का निरीक्षण भी किया। निरीक्षण के दौरान पार्सल ऑफिस के आगे बने शौचालय का मलबा हटाने के निर्देश देते हुए कहा कि इसके हट जाने से स्टेशन का लुक बेहतर हो गया है। इस वाटर एटीएम को भी दूसरी जगह शिफ्ट करो, ताकि प्लेटफार्म साफ और सुंदर दिखाई दे। साथ ही उन्होंने पार्सल का सामान अंदर रखने के लिए भी कहा।

    ट्रेन टाइम व स्पीड बढ़ाने का मामला बोर्ड पर टाला
    सिंगरौली-निजामुद्दीन एक्सप्रेस को ग्वालियर रोकने और इंदौर इंटरसिटी का टाइम व स्पीड रिवाइज करने के सवाल को डीआरएम टाल गए। सिंगरौली-निजामुद्दीन के बीच चलने वाली इकलौती सिंगरौली- निजामुद्दीन एक्सप्रेस को ग्वालियर रुकवाने के संबंध में उन्होंने कहा- डिमांड होगी तो ट्रेन रुकेगी। जब उन्हें याद दिलाया गया कि सिंगरौली सांसद ने इस ट्रेन को ग्वालियर में रोकने के लिए पत्र लिखा है, तो बोले- डिमांड होगी तो रेलवे बोर्ड ग्वालियर में ट्रेन रोक देगा।

    हॉकी स्टेडियम में बिछेगा नया एस्ट्रोटर्फ
    - डीआरएम बोले- मैंने हॉकी स्टेडियम का निरीक्षण किया था। वहां बिछा एस्ट्रोटर्फ खत्म हो चुका है, नया बिछाया जाएगा। खिलाड़ियों के ठहरने वाले कमरों को भी सुधारा जाएगा। मेरा पूरा प्रयास रहेगा कि हॉकी स्टेडियम को उसकी पुरानी पहचान फिर से दिलाई जाए। इसका प्रस्ताव बनाकर रेलवे बोर्ड भेजा जाएगा। डिसप्ले बाेर्ड नहीं चलने के संबंध में उन्होंने कहा रेलटेल को यह काम सौंपा है, यदि वह नहीं कर पाएंगे तो रेलवे खुद इसे चलाएगा।



दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Gwalior News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Drm Went After Looking At Minor Things Gwalior
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Gwalior

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×