--Advertisement--

भोपाल में बैठे आईजी ने बनाई झूठी रिपोर्ट, अब कोर्ट ने पूछा- संदिग्ध क्या और कार्रवाई क्या?

Dainik Bhaskar

Jan 18, 2018, 07:35 AM IST

अरविंद यादव के पक्ष में जांच रिपोर्ट तैयार करने वाले आईजी आरएस कौल फंसते जा रहे हैं।

fake report made by IG sitting in Bhopal, now the court  questioned

ग्वालियर. कांग्रेस नेता विनय सिंह उर्फ मनिया राठौर हत्याकांड में नियमों के विपरीत जाकर आरोपी अरविंद यादव के पक्ष में जांच रिपोर्ट तैयार करने वाले आईजी आरएस कौल फंसते जा रहे हैं। पुलिस हेड क्वार्टर के शिकायत विभाग में पदस्थ श्री कौल द्वारा की गई इस जांच को विभाग ने संदिग्ध बताते हुए हाईकोर्ट को बताया है कि उक्त जांच रिपोर्ट ने केस की प्रक्रिया को प्रभावित नहीं होने दिया है। जस्टिस जीएस अहलूवालिया ने इस मामले में सरकार एवं पुलिस विभाग से पूछा है कि इस जांच रिपोर्ट में संदिग्ध क्या है और इस मामले में अब तक किस पर क्या कार्रवाई की गई।

- शासन के वकील प्रखर डेंगूला ने इस मामले में रिपोर्ट पेश करने के लिए समय मांगा। शासन को समय देते हुए कहा है कि 5 फरवरी को रिपोर्ट पेश कर डिटेल में जानकारी दी जाए। पीड़िता आएशा सिंह राठौर के अभिभाषक अवधेश सिंह तोमर ने बताया, 19 मई 2017 को तैयार इस जांच रिपोर्ट के आधार पर कांग्रेस नेता अरविंद यादव द्वारा जमानत लेने का प्रयास किया गया था।

- कौल ने जांच की प्रक्रिया के नियमों का उल्लंघन किया और जांच रिपोर्ट भी आरोपी के मन मुताबिक तैयार की है। इन सभी बिंदुओं को हाईकोर्ट के सामने रखा गया है। उल्लेखनीय है कि भास्कर ने 19 दिसंबर को खबर प्रकाशित कर बताया था कि किस प्रकार श्री कौल द्वारा गलत तरीके से तथ्यों को दरकिनार करते हुए जांच की गई और कांग्रेस नेता को लाभ पहुंचाने की कोशिश की। बातचीत में कौल ने खुद स्वीकारा कि गवाह झूठे थे और जांच गलत हुई।

अफसर-गवाह पर केस की तैयारी
- पीएचक्यू में शिकायत विभाग के अाईजी आरएस कौल की इस जांच रिपोर्ट को खुद विभाग द्वारा भी संदिग्ध बताए जाने के बाद अब श्री कौल और जांच में शामिल गवाहों पर कार्रवाई की संभावना बढ़ गई है। एडवोकेट अवधेश सिंह तोमर के मुताबिक श्री कौल व 17 गवाहों ने मिलकर इस केस में न्यायालय को गुमराह करने का प्रयास किया है। इन सभी के खिलाफ कूटरचना एवं गुमराह किए जाने संबंधी केस का परिवाद न्यायालय में दायर किया जा रहा है।

- फिलहाल, शासन के जवाब का इंतजार किया जा रहा है। क्योंकि, 5 फरवरी को शासन स्व्यं द्वारा की गई कार्रवाई की जानकारी देगा। इस मामले में मितेंद्र सिंह, कुलदीप कौरव, पंकज शर्मा, पप्पन यादव, गौरव मिश्रा, राज शर्मा, सुनील साहू, देवेंद्र उपाध्याय, श्याम यादव, जितेंद्र सिंह, अंकित जादौन, राममिलन यादव, अभिजीत सिंह, केदार सिंह, मोहन बाल्मीक, विजय शर्मा एवं अवधेश शर्मा ने अरविंद यादव के पक्ष में गवाही दी थी। इनमें अधिकांश लोग कांग्रेस नेता हैं।

X
fake report made by IG sitting in Bhopal, now the court  questioned
Astrology

Recommended

Click to listen..